Previous
Next

Monday, February 20, 2017

UP चुनाव, सट्टेबाजों की नजर में भाजपा की बनेगी सरकार, राहुल-अखिलेश पिछड़े

UP चुनाव, सट्टेबाजों की नजर में भाजपा की बनेगी सरकार, राहुल-अखिलेश पिछड़े

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के चुनाव की दिशा व और दशा ज्यों-ज्यों आगे की ओर बढ़ती जा रही है । सूत्रों की मानें तो देश के तमाम बड़े सट्टेबाज उत्तर प्रदेश चुनावों के नतीजों पर सट्टा लगा रहे हैं ।  सट्टेबाजों की नजर में मुकाबला और रोमांचक होता जा रहा है।  हर रोज हवा का रुख बदल रहा है । कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। एक हफ्ते पहले सपा-कांग्रेस को सट्टेबाज ज्यादा भाव दे रहे थे भाजपा दुसरे नंबर पर थी लेकिन हाल में सपा नेताओं पर कई बड़े आरोप लगे, भाजपा को हमला बोलने के मौके मिल गए ऐसे में सट्टेबाजों का रुख बदल गया और भाजपा की कीमत ज्यादा हो गई ।

राहुल अखिलेश की जब दोस्ती हुई और गठबंधन हुआ तो सपा काफी आगे चल रही थी लेकिन अब काफी पीछे खिसकती जा रही है । राजनीति के जानकारों के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश में कांग्रेस-सपा गठबंधन का मुस्लिमों को रिझाने के बहुत ज्यादा प्रयास ने पूरे प्रदेश में छिपी हिन्दुत्व की भावना को फिर से जगा दिया है। शायद रणनीतिकारों ने मुस्लिम वोटों का आकलन करने में गलती कर दी, लेकिन यह भी तथ्य है कि चुनाव में केवल मुस्लिम ही वोट नहीं करते। ठीक ऐसी ही गलती मायावती ने भी की। इसके चलते थोड़ी खंरोंच आई है और गैर-यादव व गैर-जाटव समुदाय की हिंदुत्व भावनाएं सामने जरूर आएंगी। हालांकि, हालात 2014 चुनाव जैसे नहीं हैं, लेकिन यह कारक निश्चित तौर पर जमीन पर दिखाई पड़ रहा है और यह भाजपा के पक्ष में संतुलन को अच्छा-खासा झुका सकता है। सट्टेबाज भी अब भाजपा संभावित जीत बता रहे हैं लेकिन असली फैसला तो वोटों की गिनती के बाद ही आएगा । अभी समय है कुछ भी बदल सकता है किसी पार्टी के नेता की जुबान फिसल सकती है तो किसी नेता के गड़े हुए मुर्दे उखड सकते हैं । सट्टेबाजों की नजर में मायावती तीसरे नंबर पर हैं ।