Previous
Next

Thursday, September 28, 2017

हरियाणा में खेल महाकुम्भ शुरू

हरियाणा में खेल महाकुम्भ शुरू

चंडीगढ़,  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा के एक हजार स्कूलों में फुटबाल कल्ब बनाएं जाएंगे। इन फुटबाल कल्बों में आपस में खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन करवाया जाएगा जिसमें राज्य व जिला स्तर पर प्रथम आने वाले कल्ब को क्रमश: पांच लाख व एक लाख रुपये की राशि ईनाम के तौर पर दी जाएगी।
मुख्यमंत्री कल  देर सायं करनाल में खेल महाकुंभ के उदघाटन अवसर पर खिलाडिय़ों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने खेल महाकुंभ की विधिवत शुरूआत करने से पूर्व आओ खेलें फुटबाल हम योजना का शुभारम्भ किया। 
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मन की बात में फुटबाल के खेल की चर्चा किए जाने का हवाला देते हुए कहा कि भारत में इस वर्ष अक्तूबर में अंडर-17 वर्ग का फीफा वल्र्ड कप का जो आयोजन किया जा रहा है। उसी को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार ने प्रदेश के एक हजार स्कूलों में फुटबाल कल्ब बनाने का निर्णय लिया है। उन्होंने घोषणा की कि इन कल्बों में जूनियर व सीनियर वर्ग की टीमें बनाई जाएंगी। जिला स्तर पर प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर आने वाले कल्ब   को क्रमश: एक लाख, 75 हजार व 50 हजार रुपये तथा राज्य स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर आने वाले कल्बों को क्रमश: 5 लाख, 3 लाख व 2 लाख रुपये की ईनामी राशि दी जाएगी। 

उन्होंने बताया कि युवाओं की खेलों में रूचि बढ़ाने और उनकी उर्जा को रचनात्मक दिशा देने के लिए वर्तमान सरकार द्वारा हरियाणा शारीरिक गतिविधि एवं खेल नीति 2015 लागू की गई। उन्होंने बताया कि हमारी सरकार द्वारा खिलाडियों को पिछली सरकार के दौरान अर्जित की गई उपलब्धियों की बकाया राशि भी दी गई। उन्होंने बताया कि खेल महाकुंभ का आयोजन हरियाणा के स्वर्ण जयंती वर्ष के दौरान किया जा रहा है। इस दौरान प्रत्येक जिला में 3-3 करोड़ रूपये की लगात से स्वर्ण जयंती खेल सुविधा केंद्रों व युवा विकास केंद्रों की स्थापना की जा रही है। राज्य के प्रत्येक जिला में 8 से 19 आयु वर्ग के लडक़े व लड़कियों के लिए अलग-अलग से स्वर्ण जयंती खेल नर्सरियां भी शुरू की जा रही है। उन्होंने बताया कि गांव में दो एकड के क्षेत्र में व्यायामशालाएं शुरू की जा रही है, शीघ्र ही एक हजार गांवों में ये व्यायामशालाएं खुल जाएगी। 
उन्होंने खिलाडियों को टीम भावना से खेलने का आह्वान करते हुए कहा कि खेलों से एकता की भावना आती है। उन्होंने खिलाडियों से हरियाणा एक-हरियाणवी एक का नारा लगवाते हुए कहा कि हरियाणा के नागरिकों में अपने प्रदेश के प्रति प्रेम की भावना होनी जरूरी है। देश में विदेशी आक्रमणकारियों द्वारा कई बार आक्रमण किया गया परन्तु हरियाणा के वीर जवानों के हौसलें की बदौलत दुश्मनों को हमेशा मुंह की खानी पडी। 

मुख्यमंत्री ने खेल महाकुंभ के आयोजन को अति शानदार कार्यक्रम बताते हुए कहा कि वैसे तो स्वर्ण जयंती वर्ष के दौरान सैकडों कार्यक्रम हुए है परन्तु यह कार्यक्रम स्वर्ण जयंती वर्ष का सबसे बड़ा कार्यक्रम है। उन्होंने बताया कि आज से शुरू होने वाला यह खेल महाकुंभ 31 अक्तूबर तक चलेगा, जिसका समापन समारोह हिसार में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि करीब एक माह तक चलने वाला यह खेल महाकुंभ हरियाणा के इतिहास में हमेशा याद रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि इस महाकुंभ में करीब 6 लाख खिलाडी प्रत्यक्ष रूप से हिस्सा लेगें और करीब 22 लाख खिलाडी अप्रत्यक्ष रूप से जुडे रहेगे। इस आयोजन में करीब 5 हजार प्रबंधक कार्य देखेगें। उन्होंने बताया कि इस खेल महाकुंभ में खिलाडियों को 15 करोड रुपये के ईनाम दिए जाएंगे। उन्होंने खिलाडियों को नियमों का पालने करने का आह्वान करते हुए कहा कि सब खेलो, खूब खेलो, अच्छा खेलो परन्तु किसी की भावनाओं से ना खेलो। उन्होंने स्वस्थ विचारों से आगे बढऩे के लिए प्रेरित किया। 
मुख्यमंत्री ने अपने भाषण के आरम्भ में खेल एवं युवा मामलों के केन्द्रीय मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह राठौर का स्वागत करते हुए कहा कि आपका केंद्रीय खेल मंत्री होने के नाते ही स्वागत नही किया जा रहा है बल्कि आप हमारे प्रदेश के भानजे भी हैं, इसलिए भी स्वागत कर रहे है।