Sunday, November 13, 2016

4/5 दिन में ही आये गए 4 लाख करोड़, उड़े पूरी दुनिया के होश, जो भारत को कहते थे कंगाल


नई दिल्ली 13 नवंबर। पुष्पेंद्र सिंह राजपूत: आज  भी देश की बैंको में बेतहाशा भीड़ देखी गई  लोग सुबह चार बजे  से ही बैंको में पहुच गए थे ताकि उनका नंबर आ सके और वह पुराने नोट जमा कर सके और जिनके खाते नहीं है वह अपने पहचानपत्र पर चार हजार की रकम बदलवा सके. लेकिन आलम यह है की बैंको के बाहर दिन प्रति दिन लोगो की भीड़ बढ़ती ही जा रही है लेकिन स्तिथि सामान्य होने का नाम नहीं ले रही हालांकि कल शनिवार और आज रविवार को भी बैंक खुले रखे गए है और बैंक कर्मचारी बिना खाय - पिए अपना काम बाखूबी अंजाम दे रहे है इसके बावजूद हालात सुधारते नजऱ नहीं आ रहे है । देश की पुलिस भी रात दिन अपनी सेवाएं दे रही है । 

आज रविवार शाम आठ बजे खबर लिखने के समय तक देश की बैंकों में लगभग चार लाख करोड़ रूपये जमा हो चुके हैं जो एक रिकार्ड है जिसे देख दुनिया के बड़े बड़े देशों के होश उड़ गए हैं । कुछ देश भारत को भिखारियों और संपेरों का देश कहते थे हंसी उड़ाते थे लेकिन इन देशों को बीते चार दिनों से अब तक समझ में आ गया कि भारत गरीब नहीं है क्यू कि यहाँ की बैंकों में पैसा जमा करने के लिए लोग रात में सो नहीं रहे हैं बैंकों के बाहर चद्दर या कम्बल तान सो जाते हैं ताकि सुबह वो अपना पैसा जमा कर सकें ।

 ऐसी ख़बरें मीडिया के माध्यम से विदेशों में पहुँच रही हैं और सूत्रों की मानें तो दिल्ली स्थित विदेशी दूतावास के अधिकारी ये देखकर हैरान हैं कि भारत में पिछले चार दिनों में इतना पैसा निकल आया जितना कई देशों का एक साल का बजट भी नहीं है । अभी समय है सम्भव है तीस दिसंबर तक कम से कम बीस लाख करोड़ रूपये या इससे बहुत ज्यादा भारतीय बैंकों में जमा हो जाएँ । अभी तो देश की आम जनता इन पैसों को जमा कर रही है, बड़े धनकुबेर तो अभी अपना काला धन ठिकाने लगाने का जुआड़ कर रहे हैं जिस दिन उनका पैसा बैंकों में आने लगेगा कई रिकार्ड बनेंगे । मजबूरी में देश के विपक्षी नेता प्रधानमंत्री के नोटबंदी के फैसले का विरोध भी कर रहे हैं लेकिन बड़े विपक्षी नेता  देश की  हकीकत जानते हैं । ये हकीकत क्या है कल आप तक पहुंचाऊंगा । कुछ दोस्तों से बता चुका हूँ और आज नहीं एक महीने पहले,,,,

SHARE THIS
loading...

1 comments: