Showing posts with label Haryana News. Show all posts
Showing posts with label Haryana News. Show all posts

Monday, May 29, 2017

BREAKING: हरियाणा आवास बोर्ड ने आवास नीति में बड़ा बदलाव किया

BREAKING: हरियाणा आवास बोर्ड ने आवास नीति में बड़ा बदलाव किया

चंडीगढ़, 29 मई- हरियाणा आवास बोर्ड ने विभिन्न नियमों और विनियमों में संशोधन करने, आवास बोर्ड के हाउसिंग स्टॉक के निपटारे, बीपीएल आबंटन और हरियाणा आवास बोर्ड की स्थानांतरण नीति में संशोधन करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय हरियाणा आवास बोर्ड के अध्यक्ष श्री जवाहर यादव की अध्यक्षता में आयोजित बोर्ड सदस्यों की 209वीं बैठक में लिए गए। इस बैठक में हरियाणा आवास विभाग के प्रधान सचिव श्री श्रीकांत वाल्गद, आवास बोर्ड के मुख्य प्रशासक श्री शेखर विद्यार्थी सहित बोर्ड के अन्य सदस्य भी उपस्थित थे।

श्री जवाहर यादव ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया कि हरियाणा आवास बोर्ड (आवंटन प्रबंधन और आवास की बिक्री) विनियम 1972 के नियम 12 को संशोधित किया गया है यदि आवेदक बोर्ड द्वारा घर के प्रस्ताव की तिथि तक अपने आवेदन को वापिस लेने के मामले में 50 प्रतिशत (वर्तमान में यह 10 प्रतिशत) पंजीकरण के समय आवेदन के साथ जमा राशि को जब्त कर लिया जाएगा। बोर्ड ने यह भी निर्णय लिया कि हरियाणा आवास बोर्ड (आवंटन प्रबंधन और आवास की बिक्री) विनियम 1972 की नियम 13 को भी संशोधित करने का निर्णय लिया गया है यदि आवेदक आवंटित पत्र प्राप्त होने की तिथि से 30 दिनों के भीतर आवंटित आवास के कब्जे को लेने में विफल हो जाता है, और पंजीकरण के समय आवेदन के साथ जमा राशि का 90 प्रतिश्त (वर्तमान में यह 50 प्रतिशत है) बोर्ड द्वारा जब्त कर लिया जाएगा और बकाया राशि बिना ब्याज के वापिस कर दी जाएगी।
श्री जवाहर यादव ने बताया कि हरियाणा आवास बोर्ड के अनबिके आवासों के निपटारे के लिए भी निर्णय लिए गए हैं, जिसके अनुसार ईडब्लूएस / बीपीएल घरों को ईडब्ल्यूएस / बीपीएल परिवारों को दिए बिना आम जनता को नहीं दिया जा सकता। इसलिए ऐसे सभी घरों को उन श्रेणियों के लिए फिर से विज्ञापित किया जाएगा, जिनके लिए उन्हें शुरू में श्रेणीबद्ध किया गया था।  विज्ञापन में निर्दिष्ट किया जाना चाहिए, कि ये घर दूसरी बार प्रस्तुत किए जा रहे हैं और यदि पर्याप्त आवेदन प्राप्त नहीं होते हैं और घरों को फिर से आवंटित नहीं किया जाता है, तो उन्हें एलआईजी श्रेणी में आम जनता को प्रस्तुत किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इन घरों को किश्त योजना के तहत प्रस्तुत किया जाएगाअर्थात प्रारंभिक प्रारंभ मेंं आवेदन के साथ 10 प्रतिशत, 15 प्रतिशत ड्रा के बाद और 75 प्रतिशत शेष पांच वर्ष के लिए अर्ध वार्षिक किश्तों में आबंटित होगी। इन सभी घरों के लिए जून 2017 के पहले सप्ताह से पहले विज्ञापित किया जाएगा। इन घरों के निपटान के लिए शर्तों / नीतियों में छूट के लिए सरकार का अनुमोदन किया जाएगा। इन शर्तों को इन अनबिके व वापिस किए गए घरों के लिए लागू किया जाएगा और यह एक सामान्य नीति के रूप में शुरू की गई नई योजनाओं के लिए लागू नहीं होगी।
आवास बोर्ड के अध्यक्ष ने बताया कि बोर्ड ने बीपीएल आबंटन के मुद्दे पर भी विचार किया, जिसमें आवेदक बीपीएल कार्ड धारक को योजना व पंजीकरण के समय में प्रवर्तन के दौरान रखा गया था, लेकिन जब तक फ्लैट्स का निर्माण किया गया, तब तक उसका नाम जिले के बीपीएल सूची से बाहर था। इसलिए यह निर्णय लिया गया कि ऐसे सभी मामलों में आवंटन के समय को नहीं बल्कि पंजीकरण की अंतिम तिथि पर पात्रता की जांच की जाएगी।
उन्होंने बताया कि बोर्ड ने स्थानांतरण नीति में संशोधन करने का भी निर्णय लिया जिसके अनुसार हरियाणा ग्राम एवं आयोजना विभाग की 8 जुलाई, 2013 की नीति के  मद्देनजर रखते हुए ईडब्ल्यूएस के फ्लैट व आवास इकाई के हस्तांतरण को पांच साल के आवंटन के बाद अनुमति दी जाएगी। इसलिए, आवंटन के लिए मौजूदा 13 से 5 साल के अंतरण के लिए हस्तांतरण की अवधि कम हो जाएगी। चूंकि, अन्य श्रेणियों जैसे एलआईजी, एमआईजी और एचआईजी घरों के मामले में ऐसी कोई समय सीमा नहीं है, इसलिए, आवंटन के बाद ऐसे मामलों में आवास इकाई के हस्तांतरण की अनुमति दी जाएगी और हरियाणा आवास बोर्ड द्वारा संपूर्ण विचार राशि प्राप्त होने के बाद ही स्वीकृति प्रदान की जाएगी। यदि  आंबटी फ्लैट व आवास इकाई की पूरी राशि आवंटन पत्र जारी करने के तुरंत बाद जमा करवाता देता है तो फ्लैट को किसी दूसरे व्यक्ति को स्थानांतरित करने से उसे रोकने का कोई औचित्य नहीं है।
आवास बोर्ड के अध्यक्ष ने बताया कि बीपीएल आवासों को 13 वर्ष की एचपीटीए अवधि पूरी करने के बाद भी हस्तांतरण करने पर पूर्ण प्रतिबंध है, इसलिए सरकार को बीपीएल घरों से संबंधित और अन्य आंबटियों के मामलों में बीपीएल घरों के हस्तांतरण से संबंधित शर्तों में छूट देने के लिए अनुरोध किया जा सकता है।

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी, ड्यूटी न करनी हो तो स्तीफा दे दें छुट्टीखोर डाक्टर

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री की चेतावनी, ड्यूटी न करनी हो तो स्तीफा दे दें छुट्टीखोर डाक्टर

चंडीगढ़, 29 मई- हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि बिना अनुमति के लम्बे समय से छुट्टïी पर चल रहे चिकित्सक शीघ्र ड्यूटी ज्वाईन या रिजाइन (त्याग पत्र) करें ताकि अस्पतालों में चिकित्सा सेवाएं प्रभावित न हो।  श्री विज ने कहा कि जो डॉक्टर बिना इजाजत के लंबे समय से छुट्टी पर चल रहे हैं, उन्हें इनमें से किसी एक विकल्प का चयन करना होगा। उन्होंने कहा कि यदि ऐसे चिकित्सक नौकरी करना चाहते हैं तो उन्हें तुरन्त ज्वाइन करना चाहिए अन्यथा वे नौकरी से रिजाइन कर दें। ऐसा नही करने वाले चिकित्सकों के संबंध में विभाग कानूनी राय लेगा ताकि उन्हें बर्खास्त कर नई भर्ती की जा सके। इसके लिए अधिकारियों को ऐसे डॉक्टरों की पूरी जानकारी एकत्रित करने के आदेश दे दिए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारू रूप से चलाने के लिए चिकित्सकों की कमी को दूर किया जा रहा है। इसके लिए विभाग ने हाल ही में 81 चिकित्सकों की पुन:नियुक्ति की है, जिनमें पूर्व डीजीएचएस, निदेशक तथा सीएमओ स्तर के अधिकारी शामिल हैं। इससे अस्पतालों ने चिकित्सा सेवाएं सुचारु रूप से चलाने में सहायता मिलेगी। 

भारत को विश्वगुरु बनाएंगे देश के शिक्षित युवा, राजनाथ सिंह

भारत को विश्वगुरु बनाएंगे देश के शिक्षित युवा, राजनाथ सिंह

Home Minister Rajnath Singh
चंडीगढ़, 29 मई- केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने विद्यार्थियों से आहवान किया कि विश्वविद्यालयों से शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्यार्थी भारत को महान बनाने में अपना योगदान दें। इस युवा पीढ़ी के योगदान से भारत फिर से जगत गुरू बन सकेगा और दुनिया को शान्ति का संदेश देगा। श्री सिंह आज कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित 30वें दीक्षान्त समारोह में बोल रहे थे। इससे पहले केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कैलाश चन्द्र शर्मा, कुलसचिव डॉ. प्रवीण कुमार सैनी भारत की पारम्परिक वेशभूषा से सुसज्जित होकर विश्वविद्यालय की शैक्षणिक यात्रा में शामिल हुए और इस दौरान गीता के श£ोकों के साथ मेहमानों का स्वागत हुआ। इसके उपरान्त दीपशिखा प्रज्ज्वलित कर दीक्षान्त समारोह का शुभारंभ किया। इस दौरान कुलपति प्रो. कैलाश चन्द्र शर्मा के अनुरोध पर राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने विधिवत् रूप से दीक्षान्त समारोह शुरू करने की घोषणा की है। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा ने विश्वविद्यालय के इतिहास में पहली बार तैत्तिरीय उपनिषद शिक्षावल्ली की शिक्षाओं के माध्यम से विद्यार्थियों को भावी जीवन के लिए अमूल्य शिक्षाएं दी।

इस दीक्षान्त समारोह में केन्द्रीय मंत्री ने विभिन्न विभागों के गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाले 59 विद्यार्थियों को मेडल पहनाकर सम्मानित किया और राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने पीएचडी के 318 और एमफिल के 27 विद्यार्थियों को डिग्रियां वितरित की। इसके साथ ही कुलपति ने विभिन्न विभागों की एमए के विद्यार्थियों को डिग्रियां देने की विधिवत रूप से अनुमति प्रदान की। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री, राज्पाल, मुख्यमंत्री औैर शिक्षा मंत्री ने विश्वविद्यालय की स्मारिका का विमोचन भी किया।
केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने सभी विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी और विश्वविद्यालय प्रशासन को ‘डाक्टरेट आफ साईंस’ की मानद उपाधि देने पर आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कुरुक्षेत्र की पावन धरा को अतुल्य ज्ञान की धरती की संज्ञा दी गई है और इसी पावन धरा पर अर्जुन को कर्म करने का संदेश देने का काम किया। आज इस पावन धरा के कर्म करने के ज्ञान को युवा पीढ़ी को ग्रहण करना होगा। इस विश्वविद्यालय से डिग्री लेने के बाद जीवन का दूसरा चरण शुरू होगा। युवा पीढ़ी को शिक्षा प्राप्ति तक ही अपने ज्ञान को सीमित नहीं रखना होगा। इस ज्ञान और संस्कार से राष्ट्र और समाज के विकास में अपना योगदान देना होगा तभी इस शिक्षा के मायने सार्थक हो सकेंगे। उन्होंंने कहा कि दुनिया में भारत ही एक ऐसा देश है जो चरित्र निर्माण की शिक्षा देता है। इसलिए सदियों से दुनिया के कोने-कोने से संस्कार और चरित्र निर्माण की शिक्षा लेने के लिए लोग भारत की पावन धरा पर आ रहे हैं।
केन्द्रीय गृहमंत्री ने कहा कि मानव के जीवन में धन और दौलत छूट जाएं तो कोई गम नहंी करना चाहिए लेकिन चरित्र निर्माण के साथ किसी प्रकार का समझौता नहीं करना चाहिए। भारत सांस्कृतिक दृष्टि से चीन पर बिना किसी सैनिक के बल पर 2000 वर्षो से राज कर रहा है। यह केवल देश की संस्कृति और संस्कारों के कारण ही संभव हो पाया है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की पारम्परिक संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं इसके लिए योग, आयुर्वेद, जैविक खेती जैसे विषयों पर बल देने का काम कर रहे हैं। दुनिया के विद्वान भी इसको मानते हैं कि जिस देश में गंगा बहती है उस देश से ज्ञान की प्राप्ति की जा सकती है और इसमें देश के ऋषियों और मुनियों का योगदान रहा है।
उन्होंने युवा पीढ़ी से आह्वान किया कि देश की संस्कृति और परम्परा के अतीत को कभी भी भूलना नहीं चाहिए। इस देश का गौरवशाली इतिहास है और यह इतिहास हमेशा युवा पीढ़ी को आगे बढने की शक्ति प्रदान करता रहेगा। इतना ही नहीं युवा पीढ़ी का अपने जीवन के ज्ञान को संस्कारों के साथ और संस्कारों को चरित्र के साथ भी जोडना होगा। युवा पीढ़ी को अपने गुरूओं का हमेशा आदर-सत्कार भी करना होगा तभी भारत विकास की राह पर आगे बढ़ पाएगा।
हरियाणा के राज्पाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने डिग्रियां हासिल करने वाले विद्यार्थियों को शुभकामनाएं और दीक्षान्त समारोह के सफल आयोजन पर विश्वविद्यालय प्रशासन को बधाई देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों को डिग्री देकर राष्ट्र और राज्य के विकास में योगदान देने का जो संदेश दिया है उस संदेश को हमेशा अपने जेहन में रखना है। इसी तरह केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री मनोहर लाल को विश्वविद्यालय की तरफ से जो मानद उपाधि दी गई है यह उपाधि भी उनके जीवन को ओर आगे लेकर जाएगी। इस विश्वविद्यालय कैम्पस में 7000 विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं अगर इन विद्यार्थियों को विकास की धारा के साथ जोड़ दिया जाए तो राष्ट्र प्रगति की राह पर ओर तेजी से आगे बढ़ेगा।
उन्होंने लिटरेट और एजुकेट के मायनों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शिक्षा से ही जीवन में परिवर्तन लाया जा सकता है। इस शिक्षा से जीवन जीने और उपयोगिता को समझा जा सकता है। विद्यार्थियों को शिक्षित बनाने में शिक्षकों, सरकार, प्रशासन के त्याग, साधना और योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। सभी का एक उद्देश्य है कि प्रत्येक विद्यार्थी को एक अच्छा इंसान बनाया जा सके। जब विद्यार्थी अपने जीवन में राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देता है तभी सभी का लक्ष्य पूरा होता नजर आएगा। उन्होंने स्वामी विवेकानंद और रवीन्द्रनाथ टैगोर जैसे महान लोगों के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 21वीं शताब्दी भारत की है और इस शताब्दी में युवा पीढ़ी का अहम योगदान रहेगा।
हरियाणा सरकार ने लगभग चार दर्जन अटर्नी अधिकारियों के तबादले किये

हरियाणा सरकार ने लगभग चार दर्जन अटर्नी अधिकारियों के तबादले किये

चण्डीगढ़, 29 मई- हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से अभियोजन विभाग के 13 जिला अटॉर्नी, 19 उप-जिला अटॉर्नी और 16 सहायक जिला अटॉर्नीस के स्थानांतरण और नियुक्ति आदेश जारी किए हैं। महाधिवक्ता, हरियाणा, चंडीगढ़ के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी इंद्रदीप, को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी, कैथल के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        अतिरिक्त निदेशक, सीआईडी, हरियाणा, चंडीगढ़ के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी एस.एस.सहरावत को रिक्त पद पर आबकारी एवं कराधान आयुक्त, पंचकूला के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        निदेशक, हरियाणा पुलिस अकादमी, मधुबन, करनाल के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी शशि कांत शर्मा को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी, करनाल के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।

आबकारी एवं कराधान आयुक्त, पंचकूला के कार्यालय में तैनात जिला अटार्नी दिनेश बजाज को निदेशक, हरियाणा पुलिस अकादमी, मधुबन, करनाल के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        अतिरिक्त मुख्य सचिव, वित्त विभाग के कार्यालय में तैनात जिला अटार्नी सुभीन दीन भट्टी को रिक्त पद पर मुख्य प्रशासक हुडा, पंचकूला के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी झज्जर के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी सीमा हुड्डा को रिक्त पद पर आयुक्त, नगर निगम, फरीदाबाद के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
  जिला अटॉर्नी सोनीपत के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी संजय हुड्डा को रिक्त पद पर निदेशक, मौलिक शिक्षा, पंचकूला के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी फरीदाबाद के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी नरसी दास को जिला अटॉर्नी नारनौल के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी नारनौल के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी आनंद कुमार जागलान को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी, जींद के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
       जिला अटॉर्नी यमुनानगर के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी अमरजीत सिंह को रिक्त पद के समक्ष अधीक्षण अभियंता, यमुना जल सेवाएं मंडल, सिंचाई विभाग, नई दिल्ली के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
        जिला अटॉर्नी भिवानी के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी शमशेर सिंह को जिला अटॉर्नी झज्जर के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी सिरसा के कार्यालय में तैनात जिला अटॉर्नी ऊषा बिश्नोई को जिला अटार्नी, फतेहाबाद के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
       आबकारी एवं कराधान आयुक्त, पंचकूला के कार्यालय में तैनात जिला अटार्नी मदन लाल को रिक्त पद पर निदेशक अभियोजन, पंचकूला के कार्यालय स्थानांतरित ंिकया गया है।
        इसी प्रकार, जिला अटॉर्नी झज्जर के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटार्नी आजाद सिंह को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी, जींद के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी नूह के कार्यालय में तैनात उप जिला अटॉर्नी सुरेश कुमार को जिला अटॉर्नी के झज्जर के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        पुलिस अधीक्षक, राज्य सतर्कता ब्यूरो, रोहतक के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी सुमेर सिंह हुड्डा को जिला अटॉर्नी नूह के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी झज्जर के कार्यालय में तैनात उप जिला अटॉर्नी राम कुमार खंगवाल को जिला अटॉर्नी, यमुनानगर के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी फतेहाबाद के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी अनिल कुमार लोहिया को जिला अटॉर्नी, झज्जर के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी, हिसार के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी पूनम को जिला अटॉर्नी, सिरसा के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी, कुरुक्षेत्र के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी सतीश कुमार मित्तल तथा जिला अटॉर्नी, पंचकूला के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी नरेंद्र कुमार भोरिया को एक-दूसरे के स्थान पर स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी नारनौल के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी रवीन्द्र नरवाल को  रिक्त पद पर जिला अटार्नी नूह के कार्यालय में  स्थानांतरित किया गया है। 
जिला अटॉर्नी पानीपत के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी नरेश कुमार को जिला अटॉर्नी रोहतक के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
        जिला अटॉर्नी रोहतक के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी राजेश कुमार को   रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी, नूह के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
        जिला अटॉर्नी सोनीपत के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी राजीव कठपालिया को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी सिरसा के कार्यालय में लगाया गया है।
        जिला अटॉर्नी सिरसा के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी सुरेश कुमार कौशिक को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी झज्जर के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी यमुनानगर के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी बलजीत सिंह को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी, सिरसा के कार्यालय में नियुक्त किया गया है।
        जिला अटॉर्नी यमुनानगर के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी गुलदेव कुमार को  जिला अटार्नी, नारनौल के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला अटॉर्नी करनाल के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी पंकज को जिला अटॉर्नी, फतेहाबाद के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        पुलिस अधीक्षक, राज्य सतर्कता ब्यूरो, अंबाला के कार्यालय से जिला अटॉर्नी, नूह के कार्यालय में स्थानांतरणाधीन उप-जिला अटॉर्नी रजनीश रायजादा को पुलिस अधीक्षक, राज्य सतर्कता ब्यूरो, अंबाला के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
       अतिरिक्त निदेशक, अभियोजन, हरियाणा लीगल सैल, हरियाणा भवन, नई दिल्ली के कार्यालय से जिला अटॉर्नी मेवात के कार्यालय में स्थानांतरणाधीन उप-जिला अटार्नी, धर्मबीर सिंह को अतिरिक्त निदेशक, अभियोजन, हरियाणा लीगल सैल, हरियाणा भवन, नई दिल्ली के कार्यालय  में स्थानांतरित किया गया है। 
        जिला अटार्नी पानीपत के कार्यालय में तैनात उप-जिला अटॉर्नी देवेन्द्र सिंह को रिक्त पद पर जिला अटार्नी, सोनीपत के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        इसी प्रकार, जिला अटॉर्नी पलवल के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी बिजेन्द्र कुमार को रिक्त पद पर जिला अटॉर्नी हिसार के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
        सचिव, आवास बोर्ड, पंचकूला के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी गौतम नरियाला को संपदा कार्यालय, हुडा, पंचकूला का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।
        जिला अटॉर्नी करनाल के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी महीपाल को जिला नगर योजनाकार कुरुक्षेत्र के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
        जिला नगर योजनाकार कुरुक्षेत्र के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी रविन्द्र मलिक को रिक्त पद के समक्ष जिला अटॉर्नी, कैथल के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
       जिला अटॉर्नी हिसार (सब-डिवीजनल कोर्ट, हांसी)के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी प्रवीण कुमार को रिक्त पद के समक्ष नगर निगम, रोहतक के अतिरिक्त  कार्यभार के साथ पीजीआईएमएस, रोहतक के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है।
जिला अटॉर्नी नारनौल, सिविल कोर्ट महेन्द्रगढ़ के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉनी संजय सुहाग को जिला अटॉर्नी जींद के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है।        
        भूमि अधिग्रहण अधिकारी, शहरी सम्पदा गुरुग्राम के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी सिद्धार्थ सेठी को उनके अपने कार्र्यभार के अतिरिक्त हुडा, गुरुग्राम का अतिरिक्त भार भी सौंपा गया है। 
       जिला अटॉर्नी कैथल के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी विक्रम सिंह को निदेशक, महिला एवं बाल विकास, पंचकूला के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है।
उपायुक्त कैथल के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी सुरेन्द्र खटकड़ को अधीक्षक अभियंता, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, जींद के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है।
पुलिस अधीक्षक सोनीपत के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी रणधीर सिंह को महाप्रबन्धक, हरियाणा रोडवेज, सोनीपत के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है।
महाप्रबन्धक, हरियाणा रोडवेज, सोनीपत के कार्यालय मे तैनात सहायक जिला अटॉर्नी आनन्द मान को पुलिस अधीक्षक, सोनीपत के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है।
निदेशक शहरी सम्पदा, पंचकूला के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी दिनेश कुमार को निदेशक, खजाना एवं लेखा विभाग, चण्डीगढ़ के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है।
जिला अटॉर्नी झज्जर, सिविल कोर्ट बहादुरगढ़ के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी प्रदीप बूरा को जिला अटॉर्नी झज्जर के कार्यालय में स्थानान्तरित किया गया है। 
 जिला अटॉर्नी भिवानी के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी राहुल वर्मा को अधीक्षण अभियंता, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, रोहतक के कार्यालय में तैनात किया गया है। 
जिला अटॉर्नी रेवाड़ी के कार्यालय मेें तैनात सहायक जिला अटॉर्नी आत्म प्रकाश को प्रधानाचार्य पंडित भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय रोहतक के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
जिला अटॉर्नी रेवाड़ी के कार्यालय में तैनात सहायक जिला अटॉर्नी सुधीर जाखड़ को जिला अटॉर्नी रोहतक के कार्यालय में स्थानांतरित किया गया है। 
 ‘थ्री-डी’ सुरक्षा के बाद भी राजकुमार सैनी की रैली में पिस्तौल लेकर पहुँच गया युवक

‘थ्री-डी’ सुरक्षा के बाद भी राजकुमार सैनी की रैली में पिस्तौल लेकर पहुँच गया युवक

Chandigarh 29 May 2017: कुरुक्षेत्र के भाजपा सांसद राजकुमार सैनी शायद अब बड़े सपने देखने लगे हैं | कल रोहतक में उनकी जनसभा में भावी सीएम के नारे लगे | रोहतक में कल भगवान् परशुराम जयन्ती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में जबरजस्त भीड़ देख सैनी खुशी से गदगद दिखे लेकिन इस रैली में एक युवक पिस्तौल लेकर पहुँच गया | ये युवक जैसे ही मीडिया गैलरी में पहुंचा पुलिस कर्मियों उसपर नजर पड़ गई और उसे तुरंत पकड़ लिया गया लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया गया क्यू कि युवक एक ब्राम्हण नेता का सुरक्षा गार्ड था और उसके पास पिस्तौल रखने का लाइसेंस भी था |  हालांकि इस घटना के बाद सांसद सैनी की सुरक्षा पर सवाल जरूर उठे। गौरतलब है कि सांसद सैनी को ‘थ्री-डी’ सुरक्षा मुहैया कराई गई थी। रैली में आए लोगों को कार्यक्रम स्थल के अंदर बगैर तलाशी लिए नहीं जाने दिया जा रहा था।

लोकतंत्र सुरक्षा मंच के बैनर तले शुगर मिल ग्राउंड में हुई रैली स्थल के चारों तरफ पुलिस ने कड़े सुरक्षा इंतजाम किए थे। रैली में सांसद सैनी के मुख्य मंच के सामने 30 मीटर तक लोहे की जालियां लगाई गई थीं। जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान से ही सैनी और जाट नेताओं के बीच विवाद चल रहा है। दोनों ही एक-दूसरे पर आरोप लगाने से भी पीछे नहीं हटते हैं। खुफियां एजेंसियों ने सरकार को अलर्ट किया हुआ था। रैली में किसी तरह का कोई विवाद या झगड़ा न हो, इसके लिए अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात की गई थी। पुलिस के आला अधिकारी लगातार रिपोर्ट हासिल कर रहे थे। 



Sunday, May 28, 2017

हरियाणा में मिलेगी आयुर्वेदिक शिक्षा

हरियाणा में मिलेगी आयुर्वेदिक शिक्षा

चण्डीगढ़, 28 मई - हरियाणा सरकार ने राज्य में आयुर्वेदा शिक्षा के लिए नये निजी संस्थानों को स्थापित करने हेतु अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी करने के लिए नीति का प्रारूप तैयार किया है। 
इस सम्बंध में आज यहां जानकारी देते हुए मेडिकल शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि राज्य में गुणात्मक आयुर्वेदा शिक्षा मुहैया करवाने के उद्देश्य से यह नीति का प्रारूप तैयार किया गया है। नीति का प्रारूप भारतीय केन्द्रीय चिकित्सीय परिषद (सीसीआईएम) के अनुसार शिक्षा में मानदंड एवं एकरूपता के नियमों को सुनिश्चित करने अनुसार व्यापक नियमों व विनियमों को निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य में नये आयुर्वेद कॉलेज या संस्थान स्थापित करने के लिए मेडिकल शिक्षा एवं अनुसंधान निदेशालय द्वारा सार्वजनिक विज्ञापन के माध्यम से आवेदन आमंत्रित किये जाएंगे। यह आवेदन विभाग की वेबसाइटhttp://dmerharyana.org/या समाचार पत्रों के माध्यम से आमंत्रित किये जाएंगे। विभाग द्वारा जारी सार्वजनिक विज्ञापन के माध्यम से प्राप्त आवेदनों पर ही विचार किया जाएगा और छटनी के उपरांत अनापत्ति प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि निजी स्वयं वित्त शैक्षणिक ट्रस्ट, चैरिटेबल ट्रस्ट या सोसाइटी, जो सम्बंधित अधिनियम के तहत पंजीकृत है और सहायता न प्राप्त करते हुए स्वयं वित्त आयुर्वेदा कॉलेज खोलने के लिए प्रस्ताव देते हैं, उन्हें सीसीआईएम में आवेदन करने से पहले ही आयुर्वेदा पाठ्यक्रमों की स्वीकृति के लिए अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी करने पर विचार किया जाएगा। 

आवेदक द्वारा रजिस्ट्रड ट्रस्ट डीड या सोसाइटीज अधिनियम के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन की कॉपी मुहैया करवानी होगी और राज्य सरकार द्वारा बैंक गारंटी या एंडामेंट भी मुहैया करवाना होगा। यह राशि राष्ट्रीय बैंक या सरकार के उपक्रम में न्यूनतम पांच वर्ष के लिए जमा करवानी होगी। यदि यह शर्त पूरी करने में आवेदक असफल रहता है तो सरकार एनओसी को रद्द करने के लिए सशक्त होगी। आवेदक को राजस्व प्राधिकरण से पांच वर्ष के लिए 30 लाख रुपये का सोल्वेंसी प्रमाण-पत्र भी देना होगा। उन्होंने कहा कि आवेदक को चिकित्सा शिक्षा के निदेशक कार्यालय के नाम 50000 रुपये की राशि आवेदन के साथ नान-रिफण्डेबल छटनी फीस के रूप में एक पाठयक्रम के लिए डिमांड ड्राफ्ट के रूप में देनी होगी। यह डिमांड ड्राफ्ट पूर्ण आवेदन के साथ संलग्न करके निदेशक, मेडिकल शिक्षा, पंचकूला के नाम देय होगा। 

हरियाणा सरकार से स्वीकृति लेने से पहले स्वयं वित्त निजी आयुर्वेदिक संस्थान, आयुर्वेदा शिक्षा में नये पाठयक्रमों और कार्यक्रमों का संलग्न और सीटों की संख्या में बढ़ौतरी या बदलाव की प्रक्रिया भी की जाएगी। अनापत्ति प्रमाण-पत्र का प्रत्येक पांच वर्ष के बाद नवीकरण किया जाएगा। परंतु सरकार द्वारा रद्द या आवेदक द्वारा वर्तमान नीति के अंतर्गत एनओसी को वापिस न लिया गया हो। उन्होंने बताया कि इस प्रारूप नीति को विभाग की वेबसाइट  http://dmerharyana.org/ पर सुझावों और टिप्पणियों के लिए अपलोड किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि हितधारकों व आम जनता से 15 जून, 2017 तक ईमेल  dgmer.haryana@gmail.com या डाक के माध्यम से भी सुझाव आमंत्रित किये गए हैं।    हितधारक अपने सुझाव डाक के माध्यम से मेडिकल शिक्षा एवं अनुसंधान निदेशालय, एससीओ नम्बर 7, सैक्टर 16, पंचकूला को भेज सकते हैं। प्रवक्ता ने बताया कि सभी सम्बंधित हितधारक व आम जनता इस पूरी प्रारूप नीति को विभाग की वेबसाइट  http://dmerharyana.org/ पर देख सकते हैं। 

Halwasiya Vidya Vihar Haryana CBSE 12th result

Halwasiya Vidya Vihar Haryana CBSE 12th result

भिवानी। हलवासिया विद्या विहार का 12वीं कक्षा का सी.बी.एस.ई परीक्षा परिणाम उत्कृष्ट रहा। कॉमर्स ग्रुप में उत्सव ने 95.4 प्रतिशत अंक अर्जित कर विद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। नॉन मेडिकल ग्रुप (पी.सी.एम.) में विनय ने 95 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। मेडिकल ग्रुप (पी.सी.बी.) में जतिन ने 94 प्रतिशत अंक हासिल कर प्रथम स्थान प्राप्त किया।

सुकन्या तथा अंजली जाँगड़ा ने हिंदी में 97 प्रतिशत अंक, संगीत में 10 विद्यार्थियों ने शत प्रतिशत तथा 57 विद्यार्थियों ने 90 प्रतिशत से अधिक, गणित में विनय, मनीष, जितेश एवं पियांशी ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए। भौतिक विज्ञान में जतिन ने 96 प्रतिशत, रसायन विज्ञान में 9 विद्यार्थियों ने 95 प्रतिशत, जीव विज्ञान में अंशुल तथा रजनी आनन्द ने 93 प्रतिशत,  एकाउंटस में उत्सव तथा निशांत ने 95 प्रतिशत, बिजनेस स्टडीज में उत्सव ने 95 प्रतिशत, अर्थशास्त्र में उत्सव, निशांत तथा भुवन ने 95 प्रतिशत, कम्प्यूटर विज्ञान में जितेश तथा नितिष्का ने 94 प्रतिशत, अंग्रेजी में उत्सव ने 92 प्रतिशत अंक प्राप्त कर विद्यालय की गरिमा बढ़ाई।

विद्यार्थियों की इस शानदार कामयाबी पर विद्यालय प्रशासक दीवान चंद रहेजा, प्राचार्य डॉ. रमाकांत शर्मा तथा वरिष्ठ प्राध्यापक अलेगजेन्डर दास ने कहा कि यह सब विद्यार्थियों के परिश्रम, अध्यापकों के दिशा निर्देशन व अभिभावकों के सहयोग का परिणाम है। उन्होंने इस उपलब्धि पर छात्रों, अध्यापकों व अभिभावकों को बधाई दी। 

Saturday, May 27, 2017

प्रदेश के 50 हजार छात्रों को प्रशिक्षित कर रोजगार के लायक बनाएंगे खट्टर

प्रदेश के 50 हजार छात्रों को प्रशिक्षित कर रोजगार के लायक बनाएंगे खट्टर

चण्डीगढ़, 27 मई - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि 20 किलोमीटर के अंदर छात्राओं का या कोई भी शिक्षण संस्थान नहीं है वहां शिक्षण संस्थान खोले जाएंगे और राज्य में 27 ऐसी जगह चिह्नित की गई हैं जहां 20 किलोमीटर की परिधि में कोई भी शिक्षण संस्थान नहीं है वहां शिक्षण संस्थान खोले जाएंगे। इसके अलावा, कौशल विकास के माध्यम से राज्य के 50 हजार विद्यार्थियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। 
    मुख्यमंत्री आज यहां महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 400 मीटर सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक का कंप्यूटर का बटन दबाकर उद्घाटन किया। इस सिंथेटिक ट्रैक की लागत 6.5 करोड़ रुपये है। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ने गुरुग्राम जिले में बनने वाले स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर के नाम से आवसीय परिसर की आधारशिला भी रखी। सिंथेटिक ट्रैक बनाने वाला महार्षि दयानंद विश्वविद्यालय देश का चौथा विश्वविद्यालय बन गया है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कहा कि हरियाणा स्वर्ण जयंती वर्ष मना रहा है और इस वर्ष में हरियाणा के चहुमुखी विकास की ओर बढ़ रहे हैं। हरियाणा शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। अध्यापकों और छात्रों को शिक्षा के लिए एक अच्छा माहौल मिले, शिक्षा के लिए अनूकूल परिसर होने चाहिए और आवासीय व्यवस्था भी सही होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस दिशा में प्राध्यापकों के लिए वीर सावरकर आवसीय परिसर का शिलान्यास करके बहुत प्रसन्नता हुई है। उन्होंने कहा कि अध्यापकों के लिए ऐसी व्यवस्थाएं करना आवश्यक है ताकि वे शिक्षण के काम को अच्छे से निभा सकें। जहां-जहां ऐसी आवासीय परिसर की कमी है वहां ऐसी आवासीय परिसर बनाने की योजना बनाई है। उन्होंने कहा कि हरियाणा खेल के क्षेत्र में भी आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि यह सिंथेटिक ट्रैक तय समय में बनकर तैयार हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रदेश में 46 विश्वविद्यालय हैं, उसे शिक्षा के लिए अनुकूल स्थान माना जा सकता है। उन्होंने बताया कि प्रदेश को शिक्षा का हब बनाने के लिए हरियाणा सरकार ने शिक्षा नीति में परिवर्तन किया है, जिसके तहत प्रदेश में मैपिंग करवाई है। इसके अंतर्गत अब महाविद्यालय आवश्यकतानुसार खुलेंगे न कि मांग पर खोले जांएगें। उन्होंने बताया कि लड़कियों के लिए 105 रूटों पर स्पेशल बसें चलाई गई हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि केवल शिक्षा को बढ़ाने से विकास नहीं होगा बल्कि युवाओं को रोजगार मिले इसके लिए भी कौशल विकास के माध्यम से 50 हजार विद्यार्थियों को प्रशिक्षण देंगे ताकि वे रोजगार प्राप्त कर सकें। हरियाणा स्पोर्टस का हब बनें और ग्रामीण क्षेत्रों में भी खेलों के प्रति रूचि बढ़े इसके लिए गांव में 2 एकड़ जमीन पर व्यायामशालाएं खोलने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि खिलाडिय़ों में भी खेलों के प्रति उत्साह बना रहे इसके लिए खेल नीति में बदलाव करके खिलाडिय़ों के इनाम की राशि बढ़ाई है। ओलंपिक खिलाड़ी द्वारा गोल्ड मेडल लाने पर 6 करोड़ रूपये की राशि का प्रावधान किया है। उन्होंने बताया कि राई स्पोर्टस स्कूल को स्पोर्टस यूनिवर्सिटी बनाने जा रहे हैं ताकि खेलों को आगे बढ़ाया जा सके।
CM खट्टर ने किया मीडिया को खुश,देंगे 10 हजार मासिक पेंशन और बहुत सारी सुविधाएँ

CM खट्टर ने किया मीडिया को खुश,देंगे 10 हजार मासिक पेंशन और बहुत सारी सुविधाएँ

चण्डीगढ़, 27 मई - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज राज्य के मीडियाकर्मियों के लिए विभिन्न प्रोत्साहन देने की घोषणाएं की, जिनमें 20 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले मीडियाकर्मियों को 10,000 रुपये मासिक पेंशन, सांझा आधार पर 10 लाख रुपये और 20 लाख रुपये का जीवन बीमा, 5 लाख रुपये तक की एक नई कैशलेस मैडिक्लेम योजना और उपमण्डल स्तर पर इलैक्ट्रोनिक मीडिया के प्रतिनिधियों को मान्यता देने की सुविधा मुहैया करवाना शामिल है।

    मुख्यमंत्री आज यहां पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में हरियाणा स्वर्ण जयंती जर्नालिस्ट्स मीट में आए हुए पूरे राज्य के पत्रकारों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वैब न्यूजपोर्टल के प्रतिनिधियों के लिए एक नीति बनाई जाएगी और इस सम्बन्ध में सुझाव लेने हेतु एक कमेटी का गठन किया जाएगा।
    उन्होंने जिन रिक्गनाइज्ड पत्रकारों ने मीडिया में 5 वर्ष पूरे कर लिए हैं, उन मीडियाकर्मियों के लिए एक नई श्रेणी की घोषणा भी की। वर्तमान में दो श्रेणियां हैं एक एक्रीडिएटिड और एक  नॉन-एक्रीडिएटिड। इसके अलावा, राज्य के प्रत्येक जिले में जिला स्तर पर मीडियाकर्मियों को सुविधा मुहैया करवाने के मद्देनजर जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी कार्यालय के साथ दो कमरों की व्यवस्था भी की जाएगी।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि अब मीडियाकर्मी, जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है और किसी भी समाचार पत्र में उनका 20 वर्ष का कार्य अनुभव है वे योजना के अन्तर्गत लाभ लेने के लिए पात्र होंगे। उन्होंने कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार ने मीडियाकर्मियों के लिए 5000 रुपये मासिक पेंशन देने की घोषणा की थी और जिसमें पिछली सरकार ने 20 वर्ष के लगातार एक ही मीडिया में सेवा प्रदान करने के प्रश्चात पेंशन का लाभ देने की शर्त को लगाया था, लेकिन पिछली सरकार ने ये योजना लागू नहीं की थी। 

इस अवसर पर पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खुले मन से कार्य कर रही है और 2030 के विजन को तैयार कर रही है ताकि लम्बे समय तक चलने वाली परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य में वर्तमान सरकार का यह तीसरा वर्ष है और यह वर्ष प्रदर्शन का वर्ष है और इसलिए इस वर्ष में सभी घोषणाओं को क्रियान्वित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब अगले 10 से 15 वर्षों के लिए लम्बी अवधि की परियोजनाओं पर विचार किया जाएगा ताकि भविष्य की पीढियों को इसका सीधा लाभ मिल सके। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि राज्य सरकार लोगों की सेवा के हितों को ध्यान में रखकर कार्य कर रही है न कि चुनावों में मतों को लेने के अनुसार। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि लोग भाजपा को अगले चुनावों में अपने दूसरी अवधि के लिए वोट देंगे। उन्होंने कहा कि हम सबका साथ-सबका विकास की भावना से कार्य कर रहे हैं और विपक्षी दलों ने भी कदम की सराहना की है। 
समाज के विभिन्न मुद्दों में जन जागरूकता सृजित करने के लिए मीडिया की अहम भूमिका की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि मीडिया ने अपना एक इतिहास रचा है और जब  भी देश पर संकट आया है तो मीडियाकर्मियों ने समाज को जागरूक करने के लिए अपनी अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि आजादी से पहले राजनीतिक नेताओं और मीडिया हाउस के प्रतिनिधियों को प्रताडि़त किया जाता था, परंतु इन सबके बाबजूद उनकी कलम रुकती नहीं थी। केवल यही नहीं, आजादी के पश्चात उन्होंने समाज के सुधार में भी अपना योगदान दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मीडियाकर्मियों की भूमिका एक सैनिक से कम नहीं है, जो कठिनाई की परिस्थितियों में भी अपनी ड्यूटी का निर्वहन करते हैं और वे सीमाओं पर अद्धभुत फोटोग्राफ भी खींचते हैं। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि उन्हें यह विचार करना चाहिए कि कौन सी नई चीज कब जारी करनी चाहिए। जबकि साकारात्मक समाचार समाज में चेतना सृजित कर सकता है और नाकारात्मक समाचार सनसनी पैदा कर सकता है। उन्होंने कहा कि कुछ मीडिया समूह सनसनीखेज पत्रकारिता से जुड़े हैं, जो कुछ समय के  लिए तो प्रसिद्धि लेती है, परंतु अतंत समाज के कल्याण के कार्य में वे अडचन पैदा करते हैं। मुख्यमंत्री ने वर्तमान युग में सूचना प्रौद्योगिकी की सोशल मीडिया की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज समाचार या सूचना इस माध्यम से एक देश से दूसरी जगह पर पहुंचने में कुछ भी समय नहीं लगता।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला।
सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग की मंत्री श्रीमती कविता जैन ने कहा कि राज्य में पिछले 50 वर्षों में यह पहला समय ऐसा आया है जब इतनी बड़ी जर्नालिस्ट मीट आयोजित की गई है। उन्होंने कहा कि मीडियाकर्मी हमेशा से ही समाज में सुधार की अहम भूमिका निभाते आए हैं और ये सरकार और लोगों के बीच एक सेतु का कार्य करते हैं। मीडियाकर्मियों की समाज में भूमिका के सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि वे लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ हैं। उन्होंने मीडिया हाउसिस के प्रतिनिधियों से आग्रह करते हुए कहा कि वे राज्य सरकार द्वारा क्रियान्वित की जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों को प्रत्येक घर-द्वार तक पहुंचाएं ताकि लोग इन सुविधाओं का लाभ ले सकें।
इस मौके पर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष श्री सुभाष बराला ने भी सम्बोधित किया और मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव तथा सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर ने स्वागत सम्बोधन किया।
इससे पहले व्योवृद्ध जर्नालिस्ट और माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल के पूर्व कुलपति श्री राधेश्याम शर्मा ने समाज में मीडिया की भूमिका पर अपने विचार रखें।
इस मौके पर सांसद श्री रतन लाल कटारिया, विधायक श्री ज्ञान चन्द गुप्ता और श्रीमती लतिका शर्मा, राज्य मीडिया इंचार्ज श्री राजीव जैन, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री अमित आर्य, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के निदेशक श्री टी एल सत्याप्रकाश सहित जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
4 जून तक अगर सरकार ने मांगे नहीं मानी तो फिर शुरू होगा जाट आंदोलन, यशपाल मलिक

4 जून तक अगर सरकार ने मांगे नहीं मानी तो फिर शुरू होगा जाट आंदोलन, यशपाल मलिक

New Delhi 27 May 2017: चोर भले ही बार बार पकडे जाएँ तो जल्द चोरी करना नहीं छोड़ते उन्हें अपने काम से प्यार होता है,नेता भले ही कितनी बार चुनाव हार जाएँ लेकिन अगले चुनाव के लिए तैयार रहते हैं क्यू कि उन्हें नेतागीरी का काम प्यारा होता है | जिसे जो भी काम प्यारा होता है वो जल्द वो काम नहीं छोड़ता | कुछ लोगों को धरने प्रदर्शन व् आंदोलन करने का शौक होता है वो भी जल्द अपना काम नहीं छोड़ते हैं, धरने प्रदर्शन व् आंदोलन का मौका ढूंढते रहते हैं | उत्तर प्रदेश के एक जाट नेता यशपाल मलिक का शौक भी शायद धरने प्रदर्शन व् आंदोलन करवाने का है तभी तो दो बार वो हरियाणा पहुंचकर बड़े बड़े आंदोलन करवा चुके हैं अरबों की संपत्ति स्वाहा हो चुकी है, तीन दर्जन से ज्यादा मौतें और लूटपाट हो चुकी है लेकिन मलिक ने अपने कदम अब भी पीछे नहीं हटाए और अब उनका कहना है कि सरकार अगर चार जून तक उनकी मांगे नहीं मानती तो फिर आंदोलन की रूपरेखा तय की जाएगी | 

यशपाल मलिक कल दादरी में थे जहाँ की नई अनाजमंडी में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा  कि हमने लड़ाई खत्म नहीं की है, इसलिए एक मई से प्रदेश भर में जिला स्तर पर सम्मेलन आयोजित कर लोगों को जानकारी दे रहे हैं, ताकि जो मांगें अधूरी हैं उनका सबको पता चल जाए।अगर आंदोलन करना पड़ेगा तो हरियाणा के लोग ट्रैक्टर-ट्राली लेकर 24 घंटे के आह्वान पर दिल्ली कूच करने के लिए तैयार रहें। मलिक ने कहा कि दिल्ली कूच करने पर मांगें पूरी करवाकर ही लौटेंगे। हालांकि मलिक ने राज्य सरकार के प्रयासों पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि केंद्र में आरक्षण मिलने में अभी कुछ प्रतीक्षा करनी होगी। मलिक ने कहा कि 4 जून को होने वाली समिति कार्यकारिणी की बैठक में आगामी आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

Friday, May 26, 2017

सिंगापुर और हांगकांग की तरह हरियाणा में कई पर्यटन स्थल विकसित करेंगे खट्टर

सिंगापुर और हांगकांग की तरह हरियाणा में कई पर्यटन स्थल विकसित करेंगे खट्टर

चण्डीगढ, 26 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य को पर्यटन की दृष्टि से उभारने के लिए विभिन्न प्रयास किए जाएगें और दिल्ली से विकएंड पर आने वाले पर्यटकों तथा बाहर से आने वाले पर्यटकों के लिए जिला झज्जर की भिंडावास झील का पुर्नउद्वार किया जाएगा और पक्षी प्रेमी पर्यटकों के ठहरने के लिए फिलहाल 50 से 100 हटस का निर्माण करने पर विचार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री आज यहां अपने पांच दिवसीय सिंगापुर और हांगकांग के दौरे के पश्चात पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि राज्य को पर्यटन की दिशा में आगे ले जाने के लिए ग्रामीण जीवन, आर्टिफिशियल वैक्स स्कलपचर, बाग-बगीचा, हर्बल पार्क इत्यादि को तैयार करके पर्यटकों को आकृर्षित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार, गुरुग्राम में बनाए जा रहे बायो-डायबरसिटी पार्क को विकसित कर और साइंस सिटी को विकसित पर्यटन को आकृर्षित किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि  मोरनी में हर्बल पार्क को विकसित किया जा रहा है, जिसमें पौधों की 25000 प्रजातियां लगाई जाएंगी, यह भी एक आकर्षण का केन्द्र बनेगा। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र में धार्मिक पर्यटन को आकर्षित करने के लिए कुरुक्षेत्र सर्किट तैयार किया जाएगा, जिसपर 95 करोड़ रुपये की राशि खर्च होगी। 
इस मौके पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री अमित आर्य, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, विदेशी निवेश और एनआरआई प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री अश्विन जौहर, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के  निदेशक श्री टी एल सत्याप्रकाश भी उपस्थित थे।
हरियाणा के दो लाख गरीबों को सस्ते दर पर मकान बनाकर देंगे खट्टर

हरियाणा के दो लाख गरीबों को सस्ते दर पर मकान बनाकर देंगे खट्टर

चण्डीगढ, 26 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा ई-भूमि पोर्टल तैयार किया जा रहा है, जिसके माध्यम से जमीन के मालिक या किसान की सहमति के साथ ही जमीन ली जाएगी।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने पांच दिवसीय सिंगापुर और हांगकांग के दौरे के पश्चात पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस पोर्टल पर शीघ्र ही पहली भूमि की आवश्यकता को सरकार डालने वाली है कि कितनी भूमि कहां पर चाहिए। 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा सरकार के पास प्रदेश में एक लाख एकड़ पंचायती भूमि है, जिसका कोई उपयोग नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस भूमि का उपयोग करने जैसेकि उद्योग लगाने, सोलर एनर्जी उत्पन्न करने इत्यादि के लिए प्रस्ताव मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा वर्ष 2011 में निर्णय दिया गया था कि पंचायती भूमि नहीं बेची जा सकती। उन्होंने कहा कि इस पंचायती भूमि को नीलामी आधार पर लीज दरों पर दिया जाएगा ताकि उस पर कोई कार्यकलाप किया जा सकेे , जिससे रोजगार का सृजन होगा और राज्य का विकास होगा। उन्होंने कहा कि यह भी विचार किया जा रहा है कि पंचायती भूमि की लीज दरों में संशोधन भी किया जाए।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा किफायती आवास योजना चलाई जा रही है ताकि कम आय वाले लोग इस योजना का लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक राज्य में 2 लाख मकान बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा, दीन दयाल जन आवास योजना के तहत पांच एकड़ व 10 एकड़ के प्लाटों को कम ईडीसी पर दिए जाने की योजना है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी की परिकल्पना के तहत सस्ते मकान तैयार करने की और भी बढ़ा जा रहा है। 
उन्होंने कहा कि राज्य के वित्त मंत्रालय और खेल मंत्रालय के बीच जो राई स्पोर्टस स्कूल के मामले की जांच है उसे मुख्य सचिव को सौंप दिया गया है। उन्होंने कहा कि कई बार मतभेद हो जाते हैं, लेकिन जांच के आदेश कर दिए गये हैं और ऐसा कोई मतभेद भी नहीं है। 
इस मौके पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री अमित आर्य, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, विदेशी निवेश और एनआरआई प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री अश्विन जौहर, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के  निदेशक श्री टी एल सत्याप्रकाश भी उपस्थित थे।
सिंगापुर से 86,000 करोड़  लाकर 1,61,000 लोगों को नौकरी देने वाले हैं खट्टर

सिंगापुर से 86,000 करोड़ लाकर 1,61,000 लोगों को नौकरी देने वाले हैं खट्टर

चण्डीगढ, 26 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सिंगापुर और हांगकांग दौरे के दौरान एविएशन हब, लोजिस्टिक व वेयरहाउसिंग, हैल्थकेयर, वित्त पोषण के लिए 18,000 करोड़ रुपये के पांच एमओयू हुए हैं, जिनमें वाईसीएच लोजिस्टिक, एसेंडाज, सिंगब्रिज, अडोनिस लि0, इक्विस पैट और मीन हार्डट शामिल हैं।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने पांच दिवसीय सिंगापुर और हांगकांग के दौरे के पश्चात पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचा, परिवहन, स्मार्ट सिटी, शिक्षा व कौशल विकास, नवीकरणीय ऊर्जा, लोजिस्टिक एण्ड वेयरहासिंग, बायोटैक्रोलोजी एण्ड फार्मास्युटिकल, एरोस्पेश एवं प्रतिरक्षा, विनिर्माण, वैलनैस परियोजनाएं, बिजली सम्प्रेषण एवं वितरण और सस्ते आवास जैसे क्षेत्रों में निवेश के लिए विचार मंथन किया गया। 
उन्होंने कहा कि बैंकिंग निवेश की सम्भावनाओंं को देखते हुए वहां की एक कम्पनी ने पेंशन के फण्ड में योजनाएं चलाने के लिए अपना प्रस्ताव दिया है, जिसे आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि उनके अमेरिका, कनाडा, चीन और जापान के दौरों के दौरान 14 समझौते हुए थे, जिसमें से 9 समझौतों पर प्रगति चल रही है, जबकि समझौतों पर सम्बन्ध कायम हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक एमओयू के साथ एक रिलेशनशिप मैनेजर लगाया जाता है, जो प्रत्येक कम्पनी को आने वाली कठिनाइयों को दूर करने में सहायता करता है। इसी प्रकार, गत निवेश सम्मेलन के दौरान 450 एमओयू हुए थे, जिनमें 152 एमओयू के तहत या तो जमीनें ले गई हैं या लाइसेंस ले लिए गये हैं। उन्होंने कहा कि इस 152 एमओयू के तहत 86,000 करोड़ रुपये का निवेश होने की सम्भावना है और 1,61,000 लोगों को रोजगार मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सिंगापुर के प्रतिष्ठित व्यवसायियों, भारतीय मूल के लोगों, चाइना लाइट एण्ड पावर, एवर स्टोन लोजिस्टिक और प्रैट एण्ड व्हिटनी कम्पनी के  प्रतिनिधियों से बातचीत हुई है। एसेंडाज सिंगब्रिज, सुरवाना जुरोंग, हाईफ्लक्स, एमआरओ फेसिलिटी के लिए बैठकें हुई हैं। उन्होंने कहा कि दौरे के दौरान तीन निवेशक बैठके और दो राउंड टेबल बैठकें हुई हैं। इसके अलावा, सिंगापुर और हांगकांग में दो रोड शो हुए, जिसमें 100 से अधिक लोगों ने भाग लिया और 10 से अधिक वन-वन बैठकें  हुई।
इस मौके पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री अमित आर्य, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, विदेशी निवेश और एनआरआई प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री अश्विन जौहर, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के  निदेशक श्री टी एल सत्याप्रकाश भी उपस्थित थे।
हरियाणा को भी सिंगापुर जैसे बनाएंगे खट्टर

हरियाणा को भी सिंगापुर जैसे बनाएंगे खट्टर

चण्डीगढ, 26 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सिंगापुर की न्यू वाटर अथारिटी और हरियाणा सरकार मिलकर पेयजल संस्थान की स्थापना के लिए काम करेगी तथा प्रदेश के 14,000 जलाश्यों के जीर्णोद्धार की सम्भावनाएं तलाशेगी। मुख्यमंत्री आज यहां अपने पांच दिवसीय सिंगापुर और हांगकांग के दौरे के पश्चात पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इन 14,000 जलाश्यों के जीर्णोंद्धार के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमति बन गई है और मुख्यमंत्री ने कहा कि शुरू में इस परियोजना के तहत राज्य के पांच तलाबों को पायलट आधार पर लिया जाएगा। 

उन्होंने सिंगापुर दौरे के बारे में कहा कि सिंगापुर में चार जगहों से पानी की आपूर्ति की जाती है। उन्होंने कहा कि हाईफ्लैक्स न्यू वाटर प्लांट, जहां से पानी को री-यूज किया जाता है, समुद्री पानी को भी डी-सलाइन करके प्रयोग करना, वर्षा का पानी और मलाया से भी पानी लेते हैं। उन्होंने कहा कि सिंगापुर को पानी को शुद्ध करने की महारत हासिल है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने प्रैट एण्ड विटनी इंजन एमआरओ फेसिलिटी, सेंतोसा आईसलेण्ड और हांग-कांग के माडाम टूसैड कन्वेंशन सैंटर का भी दौरा किया। उन्होंने कहा कि प्रैट एण्ड विटनी कम्पनी जैट इंजन के रखरखाव की सम्भावनाएं हरियाणा में तलाशेगी। उन्होंने कहा कि वे सिंगापुर रीवर कू्रज पर भी गये, जो सिंगापुर की आय का अच्छा स्त्रोत है। इसी प्रकार उन्होंने वे एण्ड मार्लिन पार्क का दौरा किया, जहां हर देश की जड़ी बूटियां और हजारों पौधों की प्रजातियां रखी गई हैं। उन्होंने कहा कि सिंगापुर में सबसे बड़ा एक्वेरियंम भी है, जिसमें सैंकड़ों मच्छलियां विभिन्न प्रजातियां की है। मुख्यमंत्री ने बताया कि हांग-कांग में मोडर्न वैक्स के स्कलपचर देेखे, जिसमें प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, महात्मा गांधी और अमिताभ बच्चन जैसे लोगों के सजीव चित्र बने हुए है। उन्होंने बताया कि इस परिकल्पना के तहत हरियाणा में भी काम किया जाएगा।

इस मौके पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री अमित आर्य, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, विदेशी निवेश और एनआरआई प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री अश्विन जौहर, सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के  निदेशक श्री टी एल सत्याप्रकाश भी उपस्थित थे।
42 किलोमीटर लंबी मैराथन सहित कई रंगारंग कार्यक्रम आयोजित करेगी खट्टर सरकार

42 किलोमीटर लंबी मैराथन सहित कई रंगारंग कार्यक्रम आयोजित करेगी खट्टर सरकार

चंडीगढ़, 26 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने निर्देश दिए हैं कि प्रदेश के स्वर्ण जयंती वर्ष के दौरान आयोजित किए जा रहे कार्यक्रमों में प्रदेशवासियों की व्यापक भागीदारी सुनिश्चित करने के साथ-साथ तेलंगाना के लोगों को भी आमंत्रित किया जाना चाहिए ताकि तेलंगाना और हरियाणा के बीच सांस्कृतिक संबंधों को और मजबूती प्रदान की जा सके। श्री मनोहर लाल आज यहां हरियाणा स्वर्ण जयंती उत्सव प्राधिकरण के शासी निकाय की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि हरियाणा और तेलंगाना ने सांस्कृतिक और परंपरागत प्रथाओं के आदान-प्रदान और प्रोत्साहन, एक-दूसरे की जीवनशैली और खान-पान की आदतों इत्यादि को जानने के उद्देश्य से एक समझौता किया है

अक्तूबर, 2017 तक आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री को बताया गया कि तेलंगाना, जिसे फरीदाबाद के सूरजकुंड में आयोजित सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला, 2016 में थीम स्टेट के रूप में चुना गया था, ने 2 जून, 2017 को अपने स्थापना दिवस के मौके पर हरियाणा पुलिस की टुकड़ी तथा सांस्कृतिक कलाकारों को भी आमंत्रित किया है।

श्री मनोहर लाल ने निर्देश दिए कि 25 सिंतबर, 2017 को पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर उनके नाम से एक कार्यक्रम आयोजित किया जाए। उन्होंने कहा कि 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रदेश में सभी जिला मुख्यालयों पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त, राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नल्हड़, नूंह ने योग के प्रोत्साहन हेतु स्वर्ण जयंती विश्व योग दिवस समारोह आयोजित करने का निर्णय लिया है, जिसमें जिले के प्रत्येक गांव से प्रतिभागी शामिल होंगे। हाल ही में, सिंगापुर और हांगकांग के अपने पांच दिवसीय दौरे से लौटे मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस सिंगापुर में 50 विभिन्न स्थानों पर मनाया जाएगा।

बैठक में बताया गया कि हरियाणा के स्वर्ण जयंती वर्ष के दौरान आगामी महीनों में प्रदेश में कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। शासन के क्षेत्र में हरियाणा द्वारा अपनाए गए बेहतरीन तौर-तरीकों से लोगों को अवगत करवाने के उद्देश्य से दिल्ली, गुरुग्राम या चंडीगढ़ में गुड गर्वेनेंस कॉनक्लेव आयोजित किया जाएगा। इसके अतिरिक्त, वीडियो वैन तथा अन्य प्रचार सामग्री के माध्यम से राज्य सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के संबंध में लोगों को जानकारी देने के लिए सिंतबर-अक्तूबर माह में विकास यात्रा भी निकाली जाएगी। यह विकास यात्रा 50 दिनों में पूरी होगी और प्रदेश के सभी 135 खंडों को कवर करेगी। इसके अतिरिक्त, यह विकास यात्रा शहरी क्षेत्रों को भी कवर करेगी। इसी प्रकार, लोगों को प्रदेश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से अवगत करवाने के लिए सितंबर माह में दिल्ली में हरियाणा पर्व मनाया जाएगा। इसके अतिरिक्त, 42 किलोमीटर लंबी राज्य स्तरीय मैराथन का भी आयोजन किया जाएगा और एक मानव श्रृंखला बनाई जाएगी।
इससे पूर्व शासी निकाय की अगली बैठक जुलाई के अंत में आयोजित करने का निर्णय लिया गया।

इस बैठक में शिक्षा मंत्री श्री रामबिलास शर्मा, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन, परिवहन तथा आवास मंत्री श्री कृष्ण लाल पंवार, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री कृष्ण कुमार बेदी, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी राज्यमंत्री डॉ. बनवारी लाल, श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री श्री नायब सिंह सैनी, शहकारिता राज्य मंत्री श्री मनीष ग्रोवर, मुख्य सचिव श्री डी.एस.ढेसी, मुख्य मंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, खेल एवं युवा मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. के.के.खंडेलवाल, विभिन्न विभागों के अतिरिक्त मुख्य सचिव तथा राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।
तीन साल मोदी सरकार, हरियाणा में खट्टर के मंत्री के समर्थकों ने मोदी के सांसद का पुतला जलाया

तीन साल मोदी सरकार, हरियाणा में खट्टर के मंत्री के समर्थकों ने मोदी के सांसद का पुतला जलाया

महेंद्रगढ़। शिक्षा मत्री प्रो. रामबिलास शर्मा के खिलाफ एक निजी अखबार में गलत संपादकीय लेख प्रकाशित करने के विरोध में शुक्रवार उनके समर्थकों ने निजी अखबार के संपादक एवं करनाल सांसद अश्वनी चोपड़ा का पुतला सहित अखबार की प्रतियां भी जलाई। महेंद्रगढ़ के परशुराम चौक पर व्यापार मंडल के प्रधान व नप चेयरपर्सन पति सुरेंद्र बंटी व ब्राह्मण समाज के प्रधान राजेश दिवान व जांगिड़ समाज प्रधान राजेश जांगड़ा ने बताया कि कुछ दिनों से लगातार शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा के खिलाफ बेतुकी टिप्पणी एक निजी अखबार अपने निजी हित को लेकर प्रकाशित कर रहा है। यह लेख सांसद अश्वनी चौपड़ा ने अपने निजी हित को ध्यान में रखते हुए प्रकाशित किए है। इस लेख में एक फीसदी भी सच्चाई नहीं है। इस लेख से प्रदेशभर में शिक्षा मंत्री के समर्थकों में रोष है। इसी रोष के चलते आज महेंद्रगढ़ में निजी अखबार की प्रतियों के साथ-साथ सांसद अश्वनी चोपड़ा का पुतला जलाया गया है। 

उन्होंने कहा कि भविष्य में भी अगर इसी तरह निजी हित के लिए शिक्षा मंत्री को बदनाम करने के लिए लेख जारी होगा तो अखबार व सांसद के खिलाफ प्रदेशस्तर पर आंदोलन किया जाएगा। जिसमें सर्वप्रथम प्रदेश के प्रत्येक जिला में सांसद पुतला व अखबार की प्रतियां जलाई जाएगी। इसके बाद बड़ा आंदोलन चलाकर सांसद की इस छोटी मानसिकता से भाजपा आलाकमान को अवगत करवाया जाएगा।  उन्होंने कहा कि प्रो. रामबिलास शर्मा जमीनी स्तर के नेता है। उनके नेतृत्व में हुए चुनाव के बाद प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है। उनका करिश्मा ऐसा है कि जो जहां भी जाते हैं भीड़ एकत्र हो जाती है। प्रदेश में कोई पार्टी का समर्पित नेता है तो वो प्रो. रामबिलास शर्मा है। प्रदेश में पार्टी की नींव के पत्थर है शर्मा। 

उन्होंने प्रदेश में पार्टी को अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया है। ऐसे नेता के बारे में औछी राजनीति के तहत खबर छापना गलत है। जो पांच बार विधायक, तीन बार मंत्री और दो बार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं, ऐसे नेता के खिलाफ वो सांसद अपने अखबार में खबर छाप रहा है जो स्वयं शर्मा के सहयोग से राजनीति में आए हैं, उनकी बदौलत टिकट मिली और सांसद बने। इस मौके पर पंजाबी नेता राधाकृष्ण मक्कड, सूर्यकांत कौशिक, रमेश शर्मा जाटवास, कुलदीप शर्मा, जागिड़ समाज से राजेश जांगड़ा, आनंद सोनी, हलवाई हीरालाल सैनी, ब्राह्मण सभा के प्रधान राजेश दीवान, नरेश जोशी, लीलू बौहरा, ओमप्रकाश बचीनी, रमेश कुमार, पुनित, कुलदीप यादव, ब्रह्मचंद नूनीवाल सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।
हरियाणा की मंदिर से पकड़ा गया पाकिस्तानी, पेन, आधार और वोटरकार्ड बनवा लिया था

हरियाणा की मंदिर से पकड़ा गया पाकिस्तानी, पेन, आधार और वोटरकार्ड बनवा लिया था

चंडीगढ़ 26 मई: हरियाणा के बहादुरगढ़ से एक पाकिस्तानी नागरिक को गिरफ्तार किया गया है तो कई साल से हरियाणा में रह रहा था | मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ ये पाकिस्तानी 2013 से बहादुरगढ़ में रह रहा था और इसने पेन और आधार कार्ड भी बनवा लिया था | पेन और आधार कार्ड में इसका नाम रसराज दास राजपूत लिखा है | बहादुरगढ़ के इस्कॉन मंदिर में रह रहे इस पाकिस्तानी के पासपोर्ट के मुताबिक़ ये हिन्दू कालोनी सिंध पाकिस्तान का मूल निवासी है | इस पाकिस्तानी का कहना है कि मैं हिन्दू हूँ और वहाँ के अत्याचार के कारण मैं भारत आ गया और हरियाणा के बहादुरगढ़ में रह रहा था | 

 सुरक्षा एजेंसियां इसे गिरफ्तार कर जांच में जुट गई हैं कि कहीं से कोई जासूस या ISI एजेंट तो नहीं है | आइबी व गुप्तचर विभाग की टीम को पता चला कि नाहरा-नाहरी रोड स्थित राधे-राधे इस्कान मंदिर में एक पाकिस्तानी नागरिक रह रहा है। उसका पासपोर्ट भी खत्म हो गया है। आइबी के एक उपनिरीक्षक, गुप्तचर विभाग की टीम मंदिर में पहुंची और तलाशी शुरू कर दी। मंदिर के पुजारी से पूछताछ की तो पता चला कि यहां पर रासराज दास राजपूत के नाम से एक पाकिस्तानी है। पुलिस ने तुरंत उसे हिरासत में ले लिया। 

 हरियाणा में फिर जाट आंदोलन की तैयारी शुरू, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर

हरियाणा में फिर जाट आंदोलन की तैयारी शुरू, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर

Chandigarh 26 May 2017: तमाम तिकड़म लगाने के बाद भी मनोहर लाल खट्टर को कुछ स्वार्थी नेता कुर्सी से नहीं हटा पाए | हाल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने साफ़ तौर पर कह दिया था कि प्रदेश में कोई बदलाव नहीं होगा खट्टर सीएम बने रहेंगे जो बात कुछ स्वार्थी नेताओं को शायद ही हजम हुई हो | ऐसे नेता अंदर से लाख चाहें पर इनमे हिम्मत नहीं है कि अमित शाह को आँख दिखा दें उनकी बात से हटकर अलग किसी तरह की बात करें ऐसे नेता इधर उधर करने में जुटे हैं | हरियाणा में फिर जाट आंदोलन की तैयारी चल रही है ये कुछ नेताओं की देन हो सकती है इनमे पक्ष विपक्ष दोनों शामिल हो सकते हैं ऐसा सूत्रों द्वारा पता चल रहा है | 

आरक्षण को लेकर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति अब प्रदेश में फिर से सक्रिय हो गई है।  29 मई को गांव जसिया में समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक की अध्यक्षता में बैठक होगी जिसमें आंदोलन के संबंध में निर्णय लिया जाएगा और सरकार से हुए समझौतों की समीक्षा की जाएगी। इसके अलावा 4 जून को भी रोहतक में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक बुलाई गई है, जिसमें भी अहम फैसले लिए जाएंगे। वहीं जसिया की बैठक को लेकर महम चौबीसी के तपा प्रधानों ने गांवों में लोगों को न्यौता दिया। मोखरा तपा प्रधान रामकिशन मलिक ने कहा कि सरकार जाटों को जल्द आरक्षण दे। समिति की बैठक को लेकर जिला प्रशासन और सुरक्षा एजेंसी अलर्ट हो गई हैं। हाल ही में डीजीपी ने भी जिलों में एसपी को अलर्ट भेजा है।

Thursday, May 25, 2017

20 हजार करोड़ का समझौता कर विदेश से खुश होकर लौटे खट्टर और उनके मंत्री विपुल गोयल

20 हजार करोड़ का समझौता कर विदेश से खुश होकर लौटे खट्टर और उनके मंत्री विपुल गोयल

चण्डीगढ़, 25 मई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सिंगापुर-हांगकांग की यात्रा के दौरान विभिन्न पांच कंपनियों से हरियाणा में निवेश के लिए 20 हजार करोड़ रुपये के एमओयू हुए हैं। मीडिया से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने उनकी विदेश यात्रा को सफल बताते हुए कहा कि हरियाणा में विदेशी निवेश प्रक्रिया को गति मिली है। हरियाणा प्रदेश में विदेशी निवेश को प्रोत्साहित व आकर्षित करने की दिशा में हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में उद्यमियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने 21 मई से 25 मई तक सिंगापुर-हांगकांग की यात्रा की। मुख्यमंत्री के साथ सिंगापुर व हांगकांग की यात्रा में हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्री विपुल गोयल भी शामिल थे। 

सिंगापुर व हांगकांग की यात्रा के उपरान्त आज नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्टï्रीय हवाई अडï्डे पर पहुंचे हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि निवेश की दृष्टिï से हरियाणा प्रदेश एक आर्दश निवेश स्थल के रूप में स्थापित हो चुका है। सिंगापुर व हांगकांग की यात्रा के दौरान कंपनियों व उद्यमियों द्वारा हरियाणा प्रदेश विशेषकर गुरुग्राम के निकटवर्ती क्षेत्रों में निवेश के लिए विशेष रूचि व्यक्त की गई है। कंपनियों व उद्यमियों द्वारा  हरियाणा में आधारभूत सरंचना, सूचना प्रौद्योगिकी, कौशल विकास व अन्य संबंधित क्षेत्रों में निवेश के लिए रूचि व्यक्त की गई है। 
श्री मनोहर लाल ने कहा कि सिंगापुर व हांगकांग की यात्रा के दौरान विदेशी उद्यमियों ने पहली बार ग्र्रामीण क्षेत्र विकास विशेषकर सिंचाई, कृषि व कृषि आधारित उद्योगों में रूचि व्यक्त करते हुए जानकारियां ली हैं। इन उद्यमियों के साथ हरियाणा के संबंध बने हैं और आगामी समय में उनकी हरियाणा (भारत) यात्रा के दौरान इस दिशा में और आगे बढ़ा जाएगा। मीडिया द्वारा किये गए एक प्रश्न पर प्रतिक्रिया करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि निवेश एक निरन्तर जारी रहने वाली प्रक्रिया है। सिंगापुर व हांगकांग की यात्रा के दौरान व्यक्तिगत व सामूहिक रूप से लगभग 100 उद्यमियों ने हरियाणा में निवेश के लिए रूचि दिखाई है। हरियाणा में निवेश के लिए विदेशी निवेशकों में काफी उत्साह है। अनेक देशों में निवेश क्षेत्र में सेचुरेशन की स्थिति बन चुकी है। उन देशों में निवेश की न्यूनतम संभावनाएं हैं। इन परिस्थितियों में भारत विशेषकर हरियाणा में निवेश की अपार संभावनाएं बनी हुई हैं। मीडिया द्वारा किए गए एक प्रश्न पर प्रतिक्रिया करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले हुई विदेश यात्रा व निवेशक सम्मेलन के परिणाम स्वरूप ही हरियाण में निवेश हो रहा है।

सिंगापुर व हांगकांग की विदेश यात्रा से लौटने पर नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्टï्रीय हवाई अडï्डे पर हरियाणा के मुख्यमंत्री का लोगों ने पुष्पों से गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। इस अवसर पर हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री श्री नरवीर सिंह, सहकारिता राज्यमंत्री श्री मनीष कुमार ग्रोवर, खाद््य एवं आपूर्ति मंत्री श्री कर्णदेव कम्बोज, श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री नायब सिंह सैनी, मुख्य संसदीय सचिव श्री श्याम सिंह राणा, मुख्य संसदीय सचिव श्रीमती सीमा त्रिखा, विधायक सुभाष सुधा, विधायक श्री नरेश कौशिक, विधायक श्री उमेश अग्रवाल, विधायक श्री सुखबीर मांढी, खनन, आवास बोर्ड के चेयरमैन श्री जवाहर यादव, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव श्री दीपक मंगला, हरियाणा गौशाला आयोग के अध्यक्ष श्री भानीराम मंगला, हज समिति के अध्यक्ष औरंगजेब तथा अनेक गणमान्य मौजूद थे।
VIDEO: हरियाणा पुलिस अधिकारी के ऐक्टर बेटे ने इस तरह से किया सुकमा के शहीदों को सलाम

VIDEO: हरियाणा पुलिस अधिकारी के ऐक्टर बेटे ने इस तरह से किया सुकमा के शहीदों को सलाम

चंडीगढ़ 25 मई: हाल में छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए देश के जांबाज जवानों को देश कभी नहीं भूल सकता है | देश के लोग अब तक उन शहीदों को जगह जगह अपने तरीके से श्रद्धांजलि देते नजर आते हैं | प्रदेश के कुरुक्षेत्र के एक पुलिस अधिकारी के पुत्र दिनेश कुमार सिन्धेर जो कि एक एक्टर हैं  उन्होंने सुकमा के शहीदों को अपने तरीके से नमन किया है और एक गीत गाकर शहीदों से परिवारों का दर्द बांटा है | 


दिनेश ने दिल्ली में थियेटर किया है और दो सीरियलों में काम किया है जिनमे बजरंग बली हनुमान सोनी टीवी पर और अशोका जो कलर्स पर आता है | गाने में विशेष रूचि रखते है और वर्तमान समय में मुंबई में रहते हैं और वो हरियाणवी संस्कृति को अधिक से अधिक प्रमोट करना चाहते हैं | सुने दिनेश का ये गीत,,
Team of aagaaz _ 
Singer - दिनेश सिंदङ , बुट्टा सिंह , हिम्मत कुरार

गीतकार -- दिनेश सिंदङ

संगीत निर्देशक  -- बुट्टा सिंह 

निर्देशक -- हेमंत सिदंङ