Showing posts with label Haryana News. Show all posts
Showing posts with label Haryana News. Show all posts

Friday, February 24, 2017

चौटाला के स्वागत के लिए खट्टर के मंत्री ने मंगवाए थे क्विंटलों फूल, सब बेकार हो गया?

चौटाला के स्वागत के लिए खट्टर के मंत्री ने मंगवाए थे क्विंटलों फूल, सब बेकार हो गया?

चंडीगढ़ 24 फरवरी: पंजाब हरियाणा बॉर्डर पर कल दिन भर भारी फ़ोर्स तैनात रही, इनैलो कार्यकर्ता नहर नहीं खोद सके । हरियाणा के केबिनेट मंत्री अनिल विज ने इनैलो नेता अभय चौटाला पर चुटकी लेते हुए कहा कि मुझे लगा था चौटाला पूरी नहर खोद डालेंगे और शाम तक हरियाणा में पानी भी आ जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हो सका । विज ने आगे उन पर तंज कसते हुए कहा कि मैंने सैकड़ों क्विंटल फूलों का आर्डर दे रखा था, हजारों मालाएं मंगवाईं थी ताकि नहर खोदने के बाद मैं चौटाला पर फूल बरसा सकूं लेकिन सब कुछ धरा का धरा रह गया ।

उन्होंने चौटाला पर निशाना साधते हुए कहा कि चौटाला और अकाली दल के बीच ये पहले से ही फिक्स गेम था और चौटाला ने जो किया वो सिर्फ एक ड्रामा था । उन्होंने कहा कि ऐसे ड्रामा करते चौटाला हरियाणा के हक को कमजोर कर रहे हैं ।  विज ने कहा कि एसवाईएल नहर की खुदाई करने के मूर्खतापूर्ण निर्णय से इनेलो प्रदेश की जनता के साथ अपनी शत्रुता निकाल रही है ताकि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को समय पर अमल में न लाया जा सके। विज ने कहा कि हमारी सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में एसवाईएल नहर निर्माण के लिए सघन पैरवी की।
उधर चौटाला ने भी अनिल विज पर हमला बोलते हुए कहा कि अनिल विज क्या जानें पानी का मतलब उनके पास तो न खेत वगैरा है ही नहीं । 

Thursday, February 23, 2017

SYL नहर नहीं खोद पाए तो हरियाणा की सड़क खोदने लगे इनैलो नेता, चौटाला गिरफ्तार

SYL नहर नहीं खोद पाए तो हरियाणा की सड़क खोदने लगे इनैलो नेता, चौटाला गिरफ्तार

 चंडीगढ़, 23 फरवरी- हरियाणा की विपक्षी पार्टी ने आज यमुना लिंक नहर की खुदाई का एलान किया था जहाँ प्रदेश और पंजाब पुलिस के साथ साथ भारी फ़ोर्स तैनात थी जिस कारण इनैलो कार्यकर्ता नहर की खुदाई नहीं कर सके । जब इनैलो कार्यकर्ताओं को पंजाब में नहीं घुसने दिया गया उन्होंने गुस्से में आकर हरियाणा की सड़क की खुदाई शुरू कर दी जिसके बाद इनैलो नेता अभय चौटाला को गिरफ्तार कर लिया गया । इनेलो नेताओं की चेतावनी के बाद पंजाब के सभी एंट्री प्वाइंट्स पर सिक्युरिटी के लिए 5 हजार पुलिस जवान और पैरा मिलिट्री फोर्सेस की 10 कंपनियां लगाई गई। 10-10 फीट ऊंचे बैरिकेड्स और कंटीले तार भी लगाए गए। हरियाणा और पंजाब प्रशासन की कोशिश है कि हालात बिगड़ने ना पाएं। हरियाणा की तरफ से भी करीब 1000 पुलिस जवान तैनात किए गए थे । 

इस मुद्दे पर हरियाणा के श्रम एंव रोजगार राज्यमंत्री श्री नायब सिंह सैनी ने कहा कि इनेलो एसवाईएल नहर के निर्माण पर केवल अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने का प्रयास कर रही है। सैनी ने कहा कि पिछली सरकारों ने इस मुददे पर लोगों को बहकाने का काम किया है, जिसको हरियाणा की अढाई करोड जनता अच्छी प्रकार से जानती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता विपक्ष के बहकावे में आने वाली नही है और वह जानती है कि एसवाईएल पर इनेलो केवल सस्ती लोकप्रियता हासिल करने का प्रयास कर रही है, जिसमें वे सफल नही हो सकते हैं।

श्रम मंत्री ने कहा कि वर्ष 1977 में सबसे पहले चौधरी देवीलाल ने ही एसवाईएल की फाईल को ठंडे बस्ते में डाला था, उनके पश्चात 1999 में उनके बेटे ओमप्रकाश चौटाला ने मुख्यमंत्री बनने पर भी एसवाईएल निर्माण को लेकर चल रही अदालती प्रकिया में हरियाणा के पक्ष को सही तरीके से नही रखा बल्कि पंजाब के हित में बात कही थी। उन्होंने हरियाणा में 2014 में भाजपा की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने इस मामले की पैरवी सर्वोच्च न्यायालय में मजबूती से की, जिसके फलस्वरूप न्यायालय का फैसला हरियाणा के हित आया है। 
मूर्खतापूर्ण निर्णय से राज्य का माहौल खराब करना चाहती है इनैलो, विज

मूर्खतापूर्ण निर्णय से राज्य का माहौल खराब करना चाहती है इनैलो, विज

Police Preparations At Shambhu Barrier
चंडीगढ़, 23 फरवरी- हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि एसवाईएल नहर की खुदाई करने के मूर्खतापूर्ण निर्णय से इनेलो प्रदेश की जनता के साथ अपनी शत्रुता निकाल रही है ताकि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को समय पर अमल में न लाया जा सके।
श्री विज ने कहा कि हमारी सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में एसवाईएल नहर निर्माण के लिए सघन पैरवी की, जिसके फलस्वरूप आज न्यायालय के आदेश पर हरियाणा की जनता को नहर का पानी मिलने का रास्ता साफ हो गया है। उन्होंने कहा कि इनेलो द्वारा उठाया गया यह कदम प्रदेश व जनता के विरूद्घ है, जिससे हरियाणा को नुकसान होने की उम्मीद ज्यादा है।

श्री विज ने कहा कि पंजाब के अकाली दल तथा हरियाणा की इनेलो आपसी मिलीभगत कर हरियाणा की जनता के हितों के खिलाफ षडयंत्र रच रहे हैं ताकि नहर के आसपास का माहौल खराब हो जाए और नहर निर्माण में बाधा उत्पन्न हो सके। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार इन पार्टियों की कुत्सित मानसिकता को कभी पूरा नही होने देगी और कानूनी दायरे में रहते हुए प्रदेश की जनता के लिए एसवाईएल का पानी लाने का काम करेगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इनेलो न केवल राज्य में माहौल खराब करने का प्रयास कर रही है बल्कि गंभीर मुद्दों का मजाक बना रही है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा हरियाणा के पक्ष में दिये गये निर्णय के बावजूद इनेलो एवं अन्य राजनैतिक पार्टियों को ऐसे संवेदनशील मामलों पर निर्णय लेने की सक्षमता नही है, इसलिए वे ऐसी बचकानी हरकते कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि यदि इनेलो इस प्रकार से पानी लाने में सफल होते है तो वे स्वयं उनको माल्यापर्ण करेंगे।

SYL खुदाई, पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर फ़ोर्स तैनात

SYL खुदाई, पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर फ़ोर्स तैनात

चंडीगढ़ 23 फरवरी: जाट आंदोलन से  रही हरियाणा पुलिस को एक एक और झमेला झेलना पड़ रहा है । इनैलो ने आज  एस.वाई.एल. नहर खोदने की घोषणा की है  । इनैलो की घोषणा के मद्देनजर पंजाब सरकार की तरफ से जबरदस्त घेराबंदी की गई है। जहां पंजाब में नहर की सुरक्षा के लिए पांच हजार पुलिस कर्मियों के अलावा अद्र्ध-सैनिक बलों की 15 कंपनिया तैनात की गई हैं। वहीं हरियाणा में भी अर्ध-सैनिक बलों की 5 कंपनियां तैनात हुई हैं। टीम चौटाला ने हर हालात में नहर खोदने का एलान किया है जिस कारण हरियाणा पुलिस भी सतर्क है । पुलिस के बड़े अधिकारी मौके का मुआयना कर चुके हैं जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कल दिए गए एक बयान में शान्ति की अपील करते हुए कहा था कि विपक्ष के लोग उस मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं ।

एस.वाई.एल. समस्या की जड़ वर्ष 1966 में पंजाब के भाषा के आधार पर हुए पुनर्गठन से हुई थी। पंजाब हमेशा से ही रावी-ब्यास नदी जल हरियाणा को दिए जाने के विरुद्ध रहा है। उसका कहना है कि राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त रायपेरियन पिं्रसीपल के आधार पर हरियाणा का पंजाब की नदियों के पानी पर कोई हक नहीं है। उधर हरियाणा का कहना है कि वह पंजाब का उत्तराधिकारी राज्य है, इसलिए उसका पंजाब की नदियों के जल पर उतना ही अधिकार है जितना पंजाब का है।

आज  इस्माइलाबाद में एस.वाई.एल. नहर की जबरदस्ती खुदाई करने के ऐलान से पंजाब व हरियाणा में टकराव की स्थिति बन गई है। उधर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक बार फिर पंजाब को आदेश दिया है कि दोनों राज्यों के बीच एस.वाई.एल. नहर का निर्माण अवश्य किया जाए। 
जाट आंदोलन को समर्थन देकर प्रदेश का माहौल खराब कर सकते हैं संत रामपाल, आर्य

जाट आंदोलन को समर्थन देकर प्रदेश का माहौल खराब कर सकते हैं संत रामपाल, आर्य

चार दिन पहले आंदोलन स्थल पर जाते हुए रामपाल के समर्थक 
चंडीगढ़ 23 फरवरी: 2006 में हरियाणा का करोथा आश्रम जहां भारी खून खराबा हुआ था और दो लोगों की जानें चली गईं थी साथ में पांच दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए थे । ये आश्रम संत रामपाल का था जो जेल में बंद हैं लेकिन उनके समर्थकों ने हाल जाट आंदोलन को अपना समर्थन दे दिया है जिस कारण प्रशासन बेहद सतर्क हो गया है । चार दिन पहले रामपाल के सैकड़ों समर्थकों ने रैली निकाल कई बसों में बैठकर आंदोलन स्थल पहुंचे थे और जाट आंदोलन को समर्थन देने का एलान किया था । जाट आंदोलन को समर्थन देने पर आर्य प्रतिनिधि सभा ने कड़ी आपत्ति जताई है और आर्य प्रतिनिधि सभा के मास्टर रामपाल आर्य ने कहा है कि करोथा आश्रम के संचालक पर देशद्रोह का मामला दर्ज है । उनके समर्थन आंदोलन में शामिल होकर माहौल खराब कर सकते हैं । आर्य ने कहा है कि रामपाल के समर्थक दो बार बड़े बड़े कांड करवा चुके हैं और अब भी उनकी निगाह प्रदेश के माहौल को खराब करने पर लगी है । मास्टर आर्य ने कहा कि हरियाणा के लोग कभी नहीं भूल सकते कि रामपाल ने कैसे खून खराबा करवाया था

2006 के  बाद वर्ष-2013 में भी खून-खराबा कराया और उसमें भी 2 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 200 लोग घायल हुए थे। रामपाल द्वारा जाट आरक्षण आंदोलन को समर्थन दिए जाने के बाद प्रशासन के लिए भी मुश्किले बढ़ गई है। सुरक्षा एजेंसियों ने भी अंदेशा जताया कि कहीं टकराव की स्थिति फिर न बन जाए। प्रशासन को इस बात का भय बना हुआ है कि कई रामपाल समर्थकों व आर्य समाजियों के बीच फिर टकराव न हो जाए। मालूम हो  कि चार दिन पहले रोहतक के  जसिया समेत अन्य धरनों स्थलों पर भारी संख्या में रामपाल के समर्थक पहुंचे थे। प्रदेश में जाट आरक्षण आंदोलन को लेकर करौंथा आश्रम के संचालक रामपाल द्वारा दिए समर्थन पर अब विवाद शुरू हो गया है। आंदोलन में शामिल एक संगठन ने तो रामपाल समर्थकों को तो अल्टीमेटम तक दिया है कि वह अपना समर्थन वापिस ले।
jaat