Showing posts with label Health. Show all posts
Showing posts with label Health. Show all posts

Wednesday, March 8, 2017

World Kidney Day: मोटापा बर्बाद कर देता है किडनी, डॉ जितेंद्र AIMS

World Kidney Day: मोटापा बर्बाद कर देता है किडनी, डॉ जितेंद्र AIMS

फरीदाबाद 8 मार्च 2017। कुछ बीमारियां तो कुदरत देती है, पर कुछ बीमािरयां हम आदतों से अपना लेते हैं। गलत जीवनशैली के कारण होने वाली बीमारियां हैं डायबिटीज़, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और मोटापा। मोटापा किडऩी के लिए घातक है। इसलिए  इस वर्ष वल्र्ड किड़्नी डे की थीम मोटापा ही है। 
एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज अस्पताल के गुर्दा रोग विशेषज्ञ डॉ जितेंद्र कुमार के अनुसार इस वर्ष इंटरनेशनल किडऩी सोसायटी ने भी मोटापे को किडऩी रोग के लिए बहुत बड़ा खतरा माना है। मोटापे से किडऩी की नई बीमारियां भी होती हैं। और जो लोग पहले से किडऩी रोग के शिकार हैं। उनकी बीमारी को और भी खराब कर देता है। इसलिए मोटापे की महामारी से बचने का हर संभव प्रयास करना चाहिए। हमें किडऩी की नियमित जांच कराते रहना चाहिए। अगर आप मोटापे के शिकार हैं तो आपको अपने बीएमआई को नियमित रूप से मापना चाहिए। बीएमआई अधिक वज़न होना अपने आप में एक समस्या है। इसलिए इसे नियंत्रण में रखना बेहद जरूरी है।
बीएमआई यानि बॉडी मास, जिसका आंकलन बहुत सरल विधि से कर सकते हैं। इसके लिए सिर्फ वजन और ऊंचाई की जरूरत होती है। निम्रलिखित फॅार्मूले के जरिए इसे मापा जा सकता है।  
बएिमआई ङवजनद किलोग्राम में)/ ऊंचाई दमीटर में )
बीएमआई स्वास्थ्य
     18.5 से नीचे सामान्य से कम वजन
     18.5 से 24.9 सामान्य
     25 से 29.9 सामान्य से अधिक
      30 से 34.9 मोटापा
     35 से 39.9   अति मोटापा
      40 से अधिक अस्वस्थ मोटापा

 डॉ. जितेंद्र ने बताया कि अब तक लोगों की यह धारणा थी कि मोटापे से डायबिटीज़, उच्च रक्तचाप और हृदय से संबंधित समस्या ही होती है, लेकिन शोध में पाया गया है कि अगर किसी व्यक्ति का वजन अधिक है, तो आगे चलकर किडऩी की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। जैसा कि हम जानते है कि किडऩी रोग एक साइलंट रोग है। इसलिए मोटापे से बचने के लिए हमें सावधानी बरतनी चाहिए।
बचाव के उपाय:-मोटापे  से बचने के लिए उचित मात्रा में पानी पीना चाहिए। 
नियमित व्यायाम करना चाहिए। योग व प्राणायाम पूरे शरीर के लिए लाभदायक है। 
जंक-फूड और फास्ट फूड के सेवन से बचना चाहिए। संतुलित और घर पर बने खाने का सेवन करना चाहिए। नाश्ता अच्छा करें, परंतु डिनर कम लेना चाहिए। खाना खाने के बाद सैर जरूर करनी चाहिए। खाने के बाद तुरंत न सोएं। 
किडऩी रोग से बचाव के उपाय: शराब, धूम्रपान व तंबाकू के सेवन से बचना चाहिए। 
दर्द निवारक दवाओं के इस्तेमाल से बचना चाहिए। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवा नहीं लेनी चाहिए।
अगर परिवार में कोई डायबिटीज, उच्च रक्तचाप अथवा किडऩी रोग से पीडि़त हैं तो नियमित रूप से स्वास्थ्य की जांच करानी चाहिए। ताकि समय से पहले किडऩी की बीमारी का पता लगाकर उसका उचित उपचार किया जा सके। 

Wednesday, January 11, 2017

 मैट्रो अस्पताल के डा. सोजॉय भट्टाचार्या को अमेरिकन कॉलेज ऑफ सर्जन ने किया सम्मानित

मैट्रो अस्पताल के डा. सोजॉय भट्टाचार्या को अमेरिकन कॉलेज ऑफ सर्जन ने किया सम्मानित

फरीदाबाद। सेक्टर-16ए फरीदाबाद स्थित मैट्रो अस्पताल के वरिष्ठ ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डा. सोजॉय भट्टाचार्या को अमेरिकन कालेज ऑफ सर्जन ने महत्वपूर्ण फैलोशिप अवार्ड से नवाजा। डा. सोजॉय हरियाणा के सर्वप्रथम सर्जन हैं, जिन्हें एफएसीएस अवार्ड से सम्मानित किया गया है। इस उपलब्धि पर अस्पताल के निदेशक एवं वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डा. एस.एस. बंसल ने डा. सोजॉय को बधाई दी। गौरतलब है कि ये फैलोशिप कई देशों से आए प्रख्यात सर्जनों को उनके संबंधित क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने के लिए प्रदान की जाती है। डा. सोजॉय को यह फैलोशिप 16 अक्तूबर, 2016 को वाशिंगटन कन्वेंशन सेंटर, वाशिंगटन डीसी, अमेरिका में आयोजित एक दीक्षांत समारोह में दी गई।

 डा. सोजॉय पिछले एक दशक से कई तरह की कठिन व नवीनतम तकनीकों द्वारा ज्वाइंट रिप्लेसमेंट एवं रिविजन सर्जरी करते आ रहे है। उन्होंने अब तक लगभग 8000 से ज्यादा देश-विदेश के मरीजों की सर्जरी की है। वर्ष 2016 में उन्होंने 856 ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी की है। इन सर्जरी की विशेषताओं के बारे में बताते हुए डा. बंसल ने बताया कि मेट्रो अस्पताल में की जानी वाली ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी टांका रहित, रक्तहीन एवं दर्द रहित होता है। हमारे पास विश्व के बेहतरीन ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जनों की टीम उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि हैल्थ केयर सेक्टर में हमारे पास सबसे अच्छी एवं अत्याधुनिक तकनीक है, जिन्हें देश के अनुभवी एवं बेहतरीन डाक्टर इस्तेमाल करते है। उन्होंने बताया कि हाल में अपने मेट्रो अस्पताल, फरीदाबाद में गुर्दा प्रत्यारोपण एवं आईवीएफ तकनीक की सुविधा शुरू की है। होमियन लेजर तकनीक द्वारा यूरोलॉजी के क्षेत्र में भी हम काफी आगे है।

Saturday, September 24, 2016

Good News: जिसे एक बार हो जाए उसे जिंदगी में दुबारा नहीं होता डेंगू, चिकनगुनिया

Good News: जिसे एक बार हो जाए उसे जिंदगी में दुबारा नहीं होता डेंगू, चिकनगुनिया


New Delhi 24 September 2016: देश में मौसमी बीमारियों ने कहर मचा रक्खा है कई राज्य के लोग इनकी चपेट में हैं सैकड़ों मौतें हो चुकी हैं । हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान में मौसमी बीमारियां महामारी का रूप लेती जा रही हैं । इस वक्त डेंगूं के मरीज सबसे ज्यादा अस्पताल में पहुँच रहे हैं जबकि हफ्ते पहले चिकनगुनिया ने कहर मचा रक्खा था । चिकनगुनिया जिसमे पहले दिन तेज बुखार आता है मरीज कराह उठता है और पहले दिन से ही ऐसा लगता है कि हाँथ पाँव टूट चुके हैं एक दो दिन बाद शरीर में लाल चकक्ते पड़ जाते हैं । 

देश की अधिकतर जनता को ये नहीं मालूम कि जिस व्यक्ति को एक बार चिकनगुनिया हो जाती है उसे दुबारा कभी नहीं होती । 
देश के सबसे बड़े संस्थान एम्स के डाक्टरों के मुताबिक़ चिकनगुनिया वाइरस का स्ट्रेन सिंगल होता है । जब किसी व्यक्ति को ये बीमारी होती है जिसके कुछ दिन बाद उसकी बॉडी में एंटीबॉडी बन जाता है जिसकी वजह से ये वाइरस दुबारा उस व्यक्ति पर आक्रमण नहीं कर पाता है और उस व्यक्ति को पूरी जिंदगी चिकनगुनिया की बीमारी नहीं होती । यही बात डेंगू पर भी लागू होती है और एम्स के डॉक्टरों के मुताबिक़ जिसे एक बार डेंगू होता है उसे दुबारा नहीं होता । 

Friday, September 23, 2016

पूरे प्रदेश को डंक मारने लगा डेंगूं, अगली नौटंकी की तैयारी में व्यस्त है खटारा सरकार?

पूरे प्रदेश को डंक मारने लगा डेंगूं, अगली नौटंकी की तैयारी में व्यस्त है खटारा सरकार?


चंडीगढ़ 23 सितंबर: डेंगू अब पूरे हरियाणा को डंक मारने लगा है लगातार डेंगू के मरिजों की संख्या बढ़ने के कारण नौटंकीबाज खट्टर सरकार के हाँथ पाँव फूल रहे हैं । डेंगूं रोकने वाले विभागों पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं । शहरी निकाय, सिंचाई, पब्लिक हेल्थ तथा ग्रामीण विकास विभाग पूरी तरह से नींद में सोया हुआ था । इनमे से सिंचाई विभाग खुद मुख्यमंत्री खट्टर के पास है । अब तक राज्य में डेंगू के मरीजों की संख्या पांच सौ के ऊपर पहुँच चुकी है सरकारी आंकड़ा 468 बताया जा रहा है । 

हर साल डेंगू के मामले आते हैं लेकिन इस साल प्रदेश में सफाई व्यवस्था, गंदे पानी की निकासी की व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त रही खट्टर सरकार पूरे साल नौटंकियों के व्यस्त रही । पूरी सरकार नौसखिया और नौटंकीबाज ही साबित हो रही है । कल फरीदाबाद के एक भाजपा नेता ने खट्टर सरकार को खटारा बताकर भाजपाइयों के होश उड़ा दिए । राज्य में तकरीबन एक महीने से ये बीमारियां फ़ैली हैं सरकार अभी एक इस विभाग को चिट्ठी लिख रही है उस विभाग को चिट्ठी लिख रही है मसलन चिट्ठी लिखने में ही व्यस्त है । खट्टर अगली नौटंकी की तैयार में व्यस्त हैं जो कुरुक्षेत्र में होगी । हरियाणा ने अजीब नौसिखियों को चुन लिया जो काम के न काज के दुश्मन अनाज के साबित हो रहे हैं । 

खबर उन सबकी तरफ से जिनके घर का कोई न कोई सदस्य बुखार से पीड़ित था या है,, किसी भी पार्टी के हों आप सब या किसी विभाग के अधिकारी, कर्मचारी हों, या आम जनता । 

Wednesday, September 21, 2016

वेटलिफ्टिंग कम्पटीशन में गजेन्द्र रहे अव्वल

वेटलिफ्टिंग कम्पटीशन में गजेन्द्र रहे अव्वल


फरीदाबाद 21 सितंबर । झाड़सैतली, सैक्टर-58 स्थित डागर फिटनेस जिम द्वारा आयोजित वेटलिफ्टिंग कम्पटीशन व बॉडीबिल्डिंग कम्पटीशन में सैकड़ो युवाओ ने हिस्सा लिया। वेटलिफ्टिंग कम्पटीशन में भगत सिंह (50-55) ने प्रथम, जरनैल सिंह (55-60) ने प्रथम तथा सत्यम ने द्वितीय, धर्मेश (60-65) में प्रथम, करनैल दहिया द्वितीय, सोमेश रावत तृतीय रहे। सचिन डागर व तरूण कादयान (65-70) प्रथम, इन्द्रपाल तृतीय रहे। 70-75 कि.ग्रा. वजन वर्ग में खेलते हुये अमन चौहान ने 130 कि.ग्रा. वजन उठाकर पहला, नरेश डागर ने 125 कि.ग्रा. वजन उठाकर दूसरा तथा आकाश भड़ाना ने 120 कि.ग्रा. वजन उठाकर तीसरा स्थान पाया। ओपन वेट कैटेगरी में गजेन्द्र ने 140 कि.ग्रा. वजन उठाकर पहला तथा लखन ने 125 कि.ग्रा. वजन उठाकर दूसरा स्थान हासिल किया। 

बॉडीबिल्डिंग कम्पटीशन में राहुल भड़ाना ने पहला, दीपक डागर ने दूसरा तथा जरनैल दहिया ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। कम्पटीशन का आरम्भ पूर्व पार्षद जगन डागर तथा हरियाणा प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारिणी सदस्य मुकेश डागर ने किया।  पुरस्कार वितरण सुरेन्द्र तेवतिया चेयरमैन हरियाणा राज्य सहकारी श्रम एवं निर्माण प्रसंघ लि. तथा विधायक एनआईटी फरीदाबाद नगेन्द्र भड़ाना ने किया। जिम के संचालक दीपचन्द डागर ने सभी अतिथियों का फूलमालाओं से स्वागत किया तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर रूखसत किया। इस मौके पर जिम टे्रनर दीपक डागर उर्फ दीपू, पूर्व सदस्य किशोर न्याय बोर्ड फरीदाबाद सतीश फौगाट, प्रताप, ब्रिजेश, जसराम, जसलाल, मुकेश पटवारी, धर्मबीर डीपीई, नेतराम, नेपाल, चन्दर, सतेन्द्र, बालकृष्ण शास्त्री, हरीश वैष्णव, महावीर जादौन, कुणाल राजपूत आदि मौजूद थे।  

Saturday, September 17, 2016

हमें काटने के लिए ही God ने पैदा किया है, खेत जोतने के लिए नहीं, मच्छर महराज

हमें काटने के लिए ही God ने पैदा किया है, खेत जोतने के लिए नहीं, मच्छर महराज


बुखार अहमद की ख़ास रिपोर्ट: एक मच्छर का exclusive interview -
रिपोर्टर - आपका प्रकोप दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है ? क्यों ?
मच्छर - सही शब्द इस्तेमाल कीजिये, इसे प्रकोप नहीं फलना-फूलना कहते हैं. पर तुम इंसान लोग तो दूसरों को फलते-फूलते देख ही नहीं सकते न ? आदत से मजबूर जो ठहरे.
रिपोर्टर - हमें आपके फलने-फूलने से कोई ऐतराज़ नहीं है पर आपके काटने से लोग जान गँवा रहे हैं, जनता में भय व्याप्त हो गया है ?
मच्छर - हम सिर्फ अपना काम कर रहे हैं. श्रीकृष्ण ने गीता में कहा है कि ‘कर्म ही पूजा है’. अब विधाता ने तो हमें काटने के लिए ही बनाया है, हल में जोतने के लिए नहीं ! जहाँ तक लोगों के जान गँवाने का प्रश्न है तो आपको मालूम होना चाहिए कि “हानि-लाभ, जीवन-मरण, यश-अपयश विधि हाथ’ …!
रिपोर्टर - लोगों की जान पर बनी हुई है और आप हमें दार्शनिकता का पाठ पढ़ा रहे हैं ?
मच्छर - आप तस्वीर का सिर्फ एक पहलू देख रहे हैं. हमारी वजह से कई लोगों को लाभ भी होता है, ये शायद आपको पता नहीं !
जाइये इन दिनों किसी डॉक्टर, केमिस्ट या पैथोलॉजी लैब वाले के पास, उसे आपसे बात करने की फ़ुर्सत नहीं होगी.
अरे भैया, उनके बीवी-बच्चे हमारा ‘सीजन’ आने की राह देखते हैं, ताकि उनकी साल भर से पेंडिंग पड़ी माँगे पूरी हो सकें. क्या समझे आप ?
हम देश की इकॉनोमी बढाने में महत्त्वपूर्ण योगदान कर रहे हैं, ये मत भूलिएगा !
रिपोर्टर - परन्तु मर तो गरीब रहा है न, जो इलाज करवाने में सक्षम ही नहीं है ?
मच्छर - हाँ तो गरीब जी कर भी क्या करेगा ? जिस गरीब को आप अपना घर तो छोडो, कॉलोनी तक में घुसने नहीं देना चाहते, उसके साथ किसी तरह का संपर्क नहीं रखना चाहते, उसके मरने पर तकलीफ होने का ढोंग करना बंद कीजिये आप लोग.
रिपोर्टर - आपने दिल्ली में कुछ ज्यादा ही कहर बरपा रखा है ?
मच्छर - देखिये हम पॉलिटिशियन नहीं हैं जो भेदभाव करें … हम सभी जगह अपना काम पूरी मेहनत और लगन से करते हैं.
दिल्ली में हमारी अच्छी परफॉरमेंस की वजह सिर्फ इतनी है कि यहाँ हमारे काम करने के लिए अनुकूल माहौल है.
केंद्र और राज्य सरकार की आपसी जंग का भी हमें भरपूर फायदा मिला है.
रिपोर्टर - खैर, अब आखिर में आप ये बताइये कि आपके इस प्रकोप से बचने का उपाय क्या है ?
मच्छर - उपाय तो है अगर कोई कर सके तो … लगातार सात शनिवार तक काले-सफ़ेद धब्बों वाले कुत्ते की पूँछ का बाल लेकर बबूल के पेड़ की जड़ में बकरी के दूध के साथ चढाने से हम प्रसन्न हो जायेंगे और उस व्यक्ति को नहीं काटेंगे !
रिपोर्टर - आप उपाय बता रहे हैं या अंधविश्वास फैला रहे हैं ?
मच्छर - दरअसल आम हिन्दुस्तानी लोग ऐसे ही उपायों के साथ comfortable फील करते हैं !
उन्हें विज्ञानं से ज्यादा किरपा में यकीन होता है….
वैसे सही उपाय तो साफ़-सफाई रखना है, जो रोज ही टीवी चैनलों और अखबारों के जरिये बताया जाता है, पर उसे मानता कौन है ?
अगर उसे मान लिया होता तो आज आपको मेरा interview लेने नहीं आना पड़ता … !!!

Thursday, July 28, 2016

दो सालों से लगा भ्रष्टाचार पर अंकुश, रामबिलास शर्मा

दो सालों से लगा भ्रष्टाचार पर अंकुश, रामबिलास शर्मा

 कुरूक्षेत्र 28 जुलाई  Rakesh Sharma: हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि देश व प्रदेश में लिंगानुपात में असमानता का होना हिन्दुस्तान की जनता का निर्णय नही बल्कि यह पडोसी देशो का एक वायरस है जो हिन्दुस्तान को भी तंग कर रहा है। अब देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयासो से लिंगानुपात में काफी बढोतरी हुई है। प्रदेश में अब लिंगानुपात 834 से बढकर 905 तक पहुंच गया है। 

> शिक्षा मंत्री वीरवार को कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय के श्री मद्भगवद् गीता सदन में फैन्स द्वारा नशा, भू्रण हत्या, बेरोजगारी विषय पर आयोजित संगोष्ठी में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। उन्होने कहा कि वर्तमान केन्द्र व राज्य की सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर है। देश की सेना सरहद पर मुस्तैदी से काम कर रही है देश को किसी भी प्रकार का बाहरी खतरा नही है। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में लडका व लडकी के भारी अंतर के कारण समाज में असंतुलन का माहौल बनता जा रहा था। जब देश व प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी तो देश के प्रधानमंत्री ने सबसे पहले लिंगानुपात मेें हो रहे असमानता की चिंता जताई । इसके लिए उन्होने 22 जून 2014 को पानीपत की ऐतिहासिक भूमि से बेटी बचाओ-बेटी पढाओ का आगाज किया और प्रधानमंत्री के इस आगाज को प्रदेश के लोगों ने हाथो-हाथ लेकर लिंगानुपात में सुधार करने का प्रयास किया। प्रदेश में लिंगानुपात की समानता के लिए समाज के आम आदमी के साथ-साथ स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग का अहम योगदान रहा। परिणास्वरूप आज प्रदेश में लिंगानुपात 905 तक पहुंच गया है। इस सफलता के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का इस कार्य के लिए विदेशो में भी सहराना की। उन्होनें कहा कि बेटी को पढाना हमारी सस्ंकृति है परंतु कुछ विदेशी वायरसो के वजह से हमारे लोगों में यह प्रथा आ गइ्र्र थी। अब हिन्दुस्तान के लोग बेटी को गर्भ में नही मारेगें बल्कि बेटी को पैदा करके उसको शिक्षित करेगें और बेटी समाज का सम्मान बढाएगी। 
> राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य इन्दे्रश ने कहा कि हमें अपनी संस्कृति को बचाने के लिए अंदर की गंदगी को साफ करना होगा। अंदर की गंदगी से नशा, तलाक, घरेलू हिंसा, अपराध,खून-खराबा, जाति दंगे,बेरोजगारी व भ्रष्टाचार फैलता है। जब अंदर की गंदगी साफ होगी तो मनुष्य विनाश छोडकर विकास की ओर जाएगा। अंदर की गंदगी को साफ करने के लिए जाति, धर्म, सम्प्रदाय, छुआछात से ऊपर उठकर काम करना होगा। तभी हम गद्दारो को सबक सिखा सकते है। उन्होनें कहा कि समाज में फैली कुरितियों पर विशेष ध्यान देना होगा, देश में पर्यावरण को बढावा देना होगा, अपने आस-पास को स्वच्छ बनाकर वातावरण को स्वच्छ बनाना होगा। उन्होनें कहा कि हमारे देश में आजादी के बाद कुछ ही समय उन्नति का रहा जब देश में एनडीए की सरकार थी। उसके बाद की सरकार में तो हर दिन लाखो करोडों के घोटालो की चर्चाए सुनी जाती थी। पिछले दो साल से देश में नए युग का सूत्र-पात हुआ है। देश में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। देश की उन्नति के लिए सभी को मिलकर चलना होगा। गरीब, दलित व पिछडो की सेवा करनी होगी।  
> उन्होंने कहा कि पडोसी देशो का सामना करनेे के लिए हमें सजग रहने की जरूरत है जो पाकिस्तान अपने देश के लोगों को न्याय मागनें पर मौत देता है तो पाकिस्तान भारत में भी अशंाति का माहौल बनाना चाहता है। उन्होनें कहा कि पाकिस्तान में 40 लाख ऐसे व्यक्ति है जिनके पास सिर ढकने के लिए कुछ भी नही है। उन्होनें कहा कि हमें कुरूक्षेत्र की धरती पर स्वच्छता, भू्रण हत्या न करवाना, नशा मुक्त बनाने का संकल्प लेना होगा। उन्होनें कहा कि अंदर की गंदगी धोने के लिए रक्षा बंधन के दिन 17 अगस्त को दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में विभिन्न धार्मिक संस्थाओं द्वारा विशेष कार्याक्रम का आयोजन किया जाएगा। जिसमें नैतिक मुल्यों पर विचार करके अंदर की गंदगी को साफ करने का प्रयास किया जाएगा। स्वामी महामण्डलेश्वर यतिन्द्रा नन्द गिरी ने कहा कि जीवन में आंतरिक शुद्धता धर्म से जुडकर ही संभव हो सकती है। धर्म में कोई राजनिति नही होती, राजनिति में धर्म हो सकता है। उन्होनें कहा कि भारत दर्शन में कही भी जातिसूचक शब्द का उल्लेख नही है। लोगों को जाति-धर्म से ऊपर उठकर काम करना चाहिए। उन्होनें कहा कि युवा पीढी को नशे से दूर रखे, पडोसी देश भारत की युवा पीढी को नशे की ओर धकेल कर भारत को कमजोर करना चाहते है। मुख्य संसदीय सचिव डा. कमल गुप्ता ने कहा कि देश में लिंगानुपात में समानता का होना सबसे बडी उपलब्धि है। इस उपलब्धि का श्रेय देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जाता है। उचाना की विधायक प्रेम लता ने कहा कि बेटा-बेटी के अंतर को समझने के लिए मानसकिता बदलने की जरूरत है । हर महिला को चाहिए कि वह संकल्प ले कि पेट में पलने वाले हर बच्चे को जन्म देना है तो लिंगानुपात की समस्या खत्म हो जाएगी। उन्होनें कहा कि शिक्षा की कमजोरी के कारण देश व प्रदेश में बेरोजगारी बढी है। परन्तु प्रधानमंत्री की कौशल योजना के तहत लोगो को अधिक से अधिक रोजगार से जोडा जा रहा है। संगोष्ठी के संयोजक रीता गोयल व डा. पवन गोयल ने आये हुए अतिथियों को पौधे व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। रीता गोयल ने कार्यक्रम में देश भक्ति गीत प्रस्तुत किया। 
> इस अवसर पर हरियाणा पुलिस महानिदेशक केपी सिंह, उपायुक्त राज नरायाण कौशिक, आईजी करनाल रेंज सुभाष यादव, पुलिस अधिक्षक समरदीप सिंह,स्वामी चिरनजीवी जी महाराज, ऐयर मार्शल डा. आरपी वाजपेयी, फैन्स के कार्यकारी अध्यक्ष राजपाल सिंह, फैन्स की राष्ट्रीय संयोजक रेशमा सिंह व दीन बन्धू छोटू राम, विज्ञान प्रोद्योगिक विश्वविद्यालय के मुरथल के रजिस्ट्रार केपी सिंह, पुलिस अधिकारी डा. सुमन मजरी,पूर्व मंत्री एमएल रंगा, पूर्व रजिस्ट्रार हवा सिंह सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।