Showing posts with label India news. Show all posts
Showing posts with label India news. Show all posts

Wednesday, September 27, 2017

बहुत बदल गए राहुल गांधी

बहुत बदल गए राहुल गांधी

Rahul Gandhi In Gujarat News
नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आजकल गुजरात दौरे हैं जहां जल्द विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। गुजरात में विभिन्न जनसभाओं में राहुल भाजपा पर जमकर वार कर रहे हैं। राहुल गांधी भाजपा को उसी के तीर से चित करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं। कांग्रेस का आईटी सेल जहां पल पल मोदी सरकार को घेरने में जुटा है वहीं राहुल गांधी गुजरात के विभिन्न मंदिरों में जा रहे हैं। ताजा जानकारी के मुताबिक़ आज कांग्रेस उपाध्यक्ष ने सुरेंद्रनगर जिले में स्थित प्रसिद्ध चोटिला मंदिर पहुँच वहाँ  पूजा-अर्चना की और सबसे बड़ी बात तो ये है कि राहुल गांधी वहाँ  बिना रुके लगभग 15 मिनट में एक हजार सीढ़ियां चढ़ गए , उन्होंने वहां पूजा-अर्चना की और फिर पुजारियों ने उन्हें इस धार्मिक स्थल के महत्व के बारे में बताया। 

इसके पहले भी राहुल गुजरात की कई मंदिरों में जा चुके हैं। राज्य के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अभियान के दौरान राहुल के विभिन्न मंदिरों के दर्शन के लिए जाने का उद्देश्य भाजपा के ''कट्टर हिंदूवादी रुख'' के मुकाबले में आना है। 
पहले राहुल गांधी कहीं भी जाते तो वहां की मंदिरों में कम जाते थे लेकिन अब वो सुबह सुबह मंदिर जाते हैं और मंदिर से वापसी के बाद ही जनसभाओं को सम्बोधित करते हैं। 

Thursday, August 17, 2017

Delhi: Narcotics Control Bureau arrested one Tanzanian and one Nigerian national with 4 kg Cocaine worth approx 40 Cr from IGI Airport

Delhi: Narcotics Control Bureau arrested one Tanzanian and one Nigerian national with 4 kg Cocaine worth approx 40 Cr from IGI Airport

Delhi: Narcotics Control Bureau arrested one Tanzanian and one Nigerian national with 4 kg Cocaine worth approx 40 Cr from IGI Airport
नई दिल्ली: दिल्ली हवाई अड्डे पर एक नाइजेरियन और तंजानियां के व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है जिनके पास से चालीस करोड़ की कोकीन बरामद हुई है। इस कोकीन का कुल वजन चार किलो बताया जा रहा है। नारकोटिक्स कंट्रोल विभाग के अधिकारियों ने इन विदेशियों से इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से ये कोकीन बरामद की है। गिरफ्तार किये गए दोनों विदेशियों से पूंछतांछ जारी है। अनुमान लगाया जा रहा है कि देश में इनके थोक के ग्राहक हैं जिन्हे ये कोकीन सप्लाई करते थे। 
Andhra Pradesh: A Chinese branded mobile phone burst into flames when kept in pocket of the owner in East Godavari district

Andhra Pradesh: A Chinese branded mobile phone burst into flames when kept in pocket of the owner in East Godavari district

Andhra Pradesh: A Chinese branded mobile phone burst into flames when kept in pocket of the owner in East Godavari district
नई दिल्ली: वो हमें युद्ध की धमकी भी दे रहा है और हमारे देश की बाजारों में अपना खरबों रूपयों का नकली माल भी बेंच रहा है। ऐसा कब तक चलेगा। भारत की जनता एक न एक दिन जागरूक जरूर होगी और दोगले चीन को सबक सिखाएगी। चाइना के अधिकतर माल नकली होते हैं ये पूरा भारत जानता है लेकिन सस्ते के चक्कर में खरीद लेता है उसके उत्पादों को। 

ताजा जानकारी के मुताबिक़ आंध्र प्रदेश के गोदावरी जिले में एक युवक ने चाइना का मोबाइल अपनी जेब में रखा था जो जेब में ही ब्लास्ट हो गया। इस युवक की तस्वीरें न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने जारी की हैं। लोगों का कहना है कि हम भारतीयों को चीन के उत्पादों का प्रयोग बंद कर देना चाहिए। 

Thursday, August 3, 2017

 पीएम की चिट्ठी पढ़ भावुक हुए प्रणब दा, ट्विटर पर पोस्ट की वो चिट्ठी

पीएम की चिट्ठी पढ़ भावुक हुए प्रणब दा, ट्विटर पर पोस्ट की वो चिट्ठी

नई दिल्ली: देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अपने ट्विटर पेज पर एक खत शेयर किया है। पूर्व राष्ट्रपति ने लिखा है कि जिस दिन आफिस में मेरा अंतिम दिन था उस दिन मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पत्र मिला जिसने मेरे दिल को छू लिया, इस खत को मैं आप के साथ शेयर कर रहा हूँ। प्रणब दा के इस खत के शेयर करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट किया है जिसमे उन्होंने लिखा है कि प्रणब दा, मैं हमेशा आपने साथ काम करने के लिए तैयार रहूंगा। पूर्व राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री ने जो खत लिखा था उसमे उन्होंने लिखा है कि प्रिय प्रणब दा, अब आप अपनी जिंदगी का नया सफर  शुरू करने जा रहे हैं। आपने बड़ी ही खूबी से अपने कार्यकाल के दौरान अपनी जिम्मेदारियां निभाईं। पीएम ने लिखा है कि मैं नया था और केंद्र स्तर पर मुझे कोई अनुभव नहीं था लेकिन प्रणब मुखर्जी दिशानिर्देश के माध्यम से हम कई चीजें कर सके, जिसे हमने किया। 

पीएम मोदी ने आगे लिखा है कि मुखर्जी के साथ उनकी हर मुलाकात उनके जीवन में मार्गदर्शक की तरह काम करेगा। एक पिता की तरह उन्होंने  हर पल मेरा मार्गदर्शन किया। उन्होंने लिखा है कि प्रणब दा के साथ तीन साल काम कर मैं हतप्रभ रहा कि इतने समय सरकार का हिस्सा रहने और फैसले लेने के पद पर रहने के बावजूद उन्होंने मेरी सरकार के फैसलों की न तो कभी आलोचना की और न ही अतीत की सरकारों के साथ उनकी तुलना की। पीएम मोदी ने कहा कि हालांकि वह और राष्ट्रपति दोनों ही बिल्कुल अलग राजनीतिक पृष्ठभूमि से आए हैं और दोनों ही अलग-अलग विचारधाराओं के बीच पले-बढ़े हैं, लेकिन 'प्रणब दा ने मुझे कभी इसका अहसास नहीं होने दिया। 

मोदी सरकार की बड़ी कार्यवाही, 48 भ्रष्ट IAS-IPS पर दर्ज होंगे केस

मोदी सरकार की बड़ी कार्यवाही, 48 भ्रष्ट IAS-IPS पर दर्ज होंगे केस

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने भ्रष्ट अफसरों पर बड़ी कार्रवाई करने का एलान किया है। लोकसभा में बुधवार को केंद्र सरकार ने बताया कि 48 भ्रष्ट अफसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप में केस चलाने की अनुमति दी गई है। इनमें आईएएस, आईपीएस और आईआरएस अधिकारी शामिल हैं। कार्मिक मामलों के राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने एक लिखित जवाब में लोकसभा को बताया कि इन भ्रष्ट अफसरों में 23 भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के, तीन भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के और 22 भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) के हैं।

उन्होंने कहा कि जिन मामलों में केस चलाने की अनुमति दी गई है वो 2014-15 से अब तक के हैं। उन्होंने कहा कि इस दौरान 13 भ्रष्ट अफसरों को नौकरी से भी हटाया गया है, जिनमें 4 आईएएस, एक आईपीएस और आठ आईआरएस अधिकारी हैं। 


अबू दुजाना को ठोंकने के बाद बौखलाए आतंकवादी और अलगाववादी, सेना के काफिले पर हमला

अबू दुजाना को ठोंकने के बाद बौखलाए आतंकवादी और अलगाववादी, सेना के काफिले पर हमला

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों का आपरेशन आउट जारी है। एक दिन पहले आतंकी अबू दुजाना का काम तमाम करने के बाद सुरक्षाबलों कुलगाम में दो और आतंकवादियों को मार गिराया है। ये वही आतंकवादी थे जिन्होंने पांच पुलिसकर्मियों की हत्या की थी। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों में अब भी मुठभेड़ जारी है। यहां सुबह सेना के काफिले पर आतंकवादियों के हमले में मेजर सहित 2 जवान शहीद हो गए और एक जवान गंभीर रूप से घायल है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इसकी पुष्टी की है। माना जा रहा है कि अबू दुजाना के मारे जाने के बाद आतंकवादी बौखलाए हुए हैं। आतंकवादियों के साथ साथ जम्मू-कश्मीर के कुछ ऐसे लोग भी बौखलाए दिख रहे हैं जो अबू दुजाना जैसों का साथ देते थे। 

अबू दुजाना के मारे जाने के बाद कल हुर्रियत ने बंद बुलाया था जिसका ख़ास असर नहीं देखा गया। जांच एजेंसी एनआईए के अधिकारियों ने जिस तरह से अलगाववादियों पर शिकंजा कसा है उससे हुर्रियत नेता हैरान हैं।जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने में हुर्रियत हमेशा अग्रसर रही है और कश्मीर के ग्रामीण इलाकों में अपनी अच्छी पैठ रखती है लेकिन केन्द्र में सरकार क्या बदली हुर्रियत के महल ढहने शुरु हो गए। कई अलगाववादी नेताओं की गिरफ्तारी इसका सबूत है। 

आने वाले दिनों में कई हुर्रियत नेता एनआईए के शिकंजे में फंस सकते हैं। दुजाना के मुठभेड़ के समय भी पत्थरबाजी हुई थी लेकिन पत्थरबाज उसे बचा नहीं पाए। शायद यही कारण है कि दुजाना की मौत पर मातम मनाने के लिए पत्थरबाजों के आकाओं ने कल बंद बुलाया था। कश्मीर मे हुर्रियत की कमर तोड़ने के लिए जिन मोहरों को एनआईए ने पकड़ा है उनसे कई खुलासों की उम्मीद है। कश्मीर के लोग अब हुर्रियत नेताओं की असलियत जान गए हैं यही कारण है कि कल का बंद बेअसर रहा और आज फिर दो आतंकवादी मारे गए। 

Wednesday, August 2, 2017

कांग्रेसी मंत्री के यहाँ छापेमारी जारी, अर्धसैनिक बलों की ली गई मदद, अब तक मिले 10 करोड़ नकद

कांग्रेसी मंत्री के यहाँ छापेमारी जारी, अर्धसैनिक बलों की ली गई मदद, अब तक मिले 10 करोड़ नकद

UPDATE: Rs. 10 crore recovered during IT raids at two flats of Karnataka Minister DK Shivakumar in Delhi.
नई दिल्ली: अपने अंधे बच्चे को नैनसुख और दूसरे के अंधे बच्चे को काना कहने का रिवाज भारत में काफी प्रचलित है लेकिन कभी कभी वो लोग फंस जाते हैं जो ऐसा करते हैं जैसे आज कांग्रेस फंस गई है। कर्नाटक के मालदार मंत्री कांग्रेस से ताल्लुक रखते थे जिनके ठिकानों पर अब भी छापेमारी जारी है। हरियाणा अब तक को अब तक जो जानकारी मिल पाई है उसके मुताबिक़ आयकर विभाग ने मंत्री शिव कुमार के ठिकानों से 10 करोड़ रुपये  नकद बरामद किए हैं । इस मुद्दे पर आज कांग्रेस ने राज्य सभा  में जमकर हंगामा किया ठीक वैसे जैसे अपने अंधे बेटे को कोई काना कहना पसंद नहीं करता।  कांग्रेस के सदस्य बार-बार वेल में आकर कार्यवाही बाधित करते रहे। राज्यसभा की कार्यवाही आखिरकार दिन भर के लिए स्थगित करनी पड़ी, जबकि कांग्रेस ने लोकसभा से बहिष्कार किया। उच्च सदन में कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के आनंद शर्मा ने यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि राज्यसभा चुनाव को पटरी से उतारने के लिए छापे की कार्रवाई की गई है। इसके जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि उस रिसॉर्ट पर छापा मारा ही नहीं गया, जहां गुजरात के कांग्रेस विधायक रखे गए हैं। इसका राज्यसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है।

एक जानकारी के मुताबिक़ आयकर विभाग को कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार से कर चोरी के मामले में पूछताछ करनी थी। पता चला कि वह इगलटन रिसॉर्ट में हैं। वहां सर्च ऑपरेशन चलाया गया और उन्हें लेकर टीम उनके घर पहुंची, जहां उनसे विस्तृत पूछताछ की गई। ऊर्जा मंत्री और उनके परिवार के 39 ठिकानों पर तड़के 120 अधिकारियों की टीम का धावा बोला। उनकी सुरक्षा के लिए साथ में अर्धसैनिक बलों के टुकड़ी भी थी। शुरुआत में छापे में ढाई करोड़ रुपये बरामद होने की खबर आई। बाद में रकम बढ़ती गई। आखिरकार नोटों की गिनती करने के लिए मशीनें लगानी पड़ी। अब तक जितने नोट गिने जा चुके हैं उसके मुताबिक़ दस करोड़ रूपये बरामद हुए हैं। शाम के बाद मंत्री के अन्य कई ठिकानों पर छापेमारी हुई है वहां से कितना माल मिला सुबह तक जानकारी मिलेगी। न्यूज़ एजेंसी एएनआई की अभी 8 बजे की रिपोर्ट में कहा गया है कि कांग्रेसी मंत्री के ठिकानों पर छापेमारी अब भी जारी है। 
कांग्रेसी मंत्री ने ठूंस-ठूंस कर भरे थे नोट, IT की छापेमारी में मिले 7.5 करोड़

कांग्रेसी मंत्री ने ठूंस-ठूंस कर भरे थे नोट, IT की छापेमारी में मिले 7.5 करोड़

नई दिल्ली: कर्नाटक के कई कांग्रेसियों के यहाँ आयकर विभाग के छापे के बाद कांग्रेस भाजपा पर बड़े बड़े आरोप लगा रही है लेकिन आयकर विभाग ने अब कांग्रेस की बोलती बंद कर दी है ,  कर्नाटक के मंत्री डीके शिव कुमार के दिल्ली के दो फ्लैटों में छापेमारी में 7.5 करोड़ रूपये नकद बरामद किये गए हैं। आज सुबह कर्नाटक की राजधानी बेंगलूरु में राज्य के ऊर्जा मंत्री डी के शिवकुमार के घर आयकर विभाग की छापेमारी हुई थी जिसके बाद  आज राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ। मंत्री के कुल 29  ठिकानों पर छापेमारी हुई है अभी और माल का खुलासा संभव है। 

राज्यसभा में कांग्रेस ने बीजेपी पर छापेमारी कराने का आरोप लगाया है। कांग्रेस के आरोपों पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि छापेमारी सिर्फ एक नेता के घर पर की गई है। गुजरात के कांग्रेस विधायकों के रिसॉर्ट पर कोई छापेमारी नहीं की गई है।  कांग्रेस के हंगामे के कारण राज्यसभा की बैठक आज दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। उसके बाद भी कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया था। अब आयकर विभाग की रिपोर्ट से हंगामा करने वाले कांग्रेसी नेता बहुत कुछ सोंचने पर मजबूर हो जायेंगे। तस्वीर देखकर लगता है कि मंत्री जी ने इतने रूपये किसी आलमारी में ठूंस-ठूंस कर भरे थे। ये वही मंत्री जी हैं जिन्होंने गुजरात कांग्रेस के चालीस से ज्यादा विधायकों को बेंगलुरु में शरण दे रखा है। 
 कर्नाटक के कांग्रेसी मंत्री के यहाँ IT का छापा, गुजरात के विधायकों को इन्होने ही दिया है शरण

कर्नाटक के कांग्रेसी मंत्री के यहाँ IT का छापा, गुजरात के विधायकों को इन्होने ही दिया है शरण

नई दिल्ली: गुजरात में 8 अगस्त को होने वाले राजयसभा चुनावों के लिए जहां एक तरफ चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं वहीं बेंगलुरु गए कांग्रेसी विधायक जिस रिजॉर्ट में ठहरे हैं वहाँ आयकर विभाग के छापा मार कांग्रेस की मुसीबत बढ़ा दिए है। ये छापा आज सुबह मारा गया है। बताया जा रहा है कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने कर्नाटक के एक मंत्री और एक सांसद के रिजॉर्ट पर छापेमारी की है। जिस ईगलटन रिजॉर्ट पर छापेमारी हुई है उसी में गुजरात के 40 से ज्यादा विधायक रुके हुए हैं। गुजरात कांग्रेस में फूट की डर से ये विधायक पिछले हफ्ते यहाँ पहुंचे थे। कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के घर पर भी छापेमारी हुई है। इस छापेमारी को लेकर कांग्रेस का कहना है कि ये छापेमारी भाजपा के शय पर हो रही है।

 वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अहमद पटेल ने कहा है कि भाजपा राज्य सभा की एक सीट जीतने के लिए ये सब करवा रही है। अब तक मिली जानकारी के मुताबिक़ मुताबिक, टैक्स अधिकारियों ने मंत्री डीके शिवकुमार, सांसद डीके सुरेश और कांग्रेस एमएलसी एस रवि के यहां छापा मारा है। शिव कुमार बेहद खास मानें जाते हैं जो कांग्रेस के 42 विधायकों के ठहरने का इंतजाम देख रहे हैं।  

पति बेंच रहा है फ्री में मोबाइल और पत्नी के पास है 314 करोड़ का एक फोन

पति बेंच रहा है फ्री में मोबाइल और पत्नी के पास है 314 करोड़ का एक फोन

Neeta-ambani-mobile-314-crore
नई दिल्ली: वो दिन दूर नहीं है जब हर भारतीय के हाँथ में स्मार्ट फोन होगा और फोन का प्रयोग करने वाला हर भारतीय इंटरनेट के माध्यम से पूरी दुनिया से जुड़ा होगा। मुकेश अंबानी  की जियो आने के बाद देश के करोड़ों लोग इंटरनेट का प्रयोग करने लगे हैं। जियो बाजार में जीरो कीमत के फोन उतारने जा रही है। जिस तरह जियो के इंटरनेट ने देश में तहलका मचाया था उसी तरह ये फोन भी मचा सकता है। कंपनी यह फोन 1500 रुपये की जमानती राशि पर बेचेगी। यह राशि तीन साल बाद फोन वापस देने पर लौटा दी जाएगी। जियोफोन 4जी प्रौद्योगिकी पर आधारित फोन होगा जिसकी बुकिंग  24 सितंबर से ऑनलाइन के साथ-साथ रिलायंस रिटेल व जियो स्टोर पर शुरू होगी। मुकेश अंबानी  देश में जीरो कीमत पर फोन तो बेंच रहे हैं लेकिन क्या आपको पता है उनकी पत्नी नीता अंबानी  कौन सा और कितनी कीमत के फोन का प्रयोग करती हैं? उनके फोन की कीमत जानकार आपको हैरानी हो सकती है क्यू कि नीता अंबानी  के फोन की कीमत प्राइवेट जेट की कीमत से भी ज्यादा है। एक जानकारी के मुताबिक़ नीता अंबानी  नीता के पास फॉल्कन सुपरनोटा आईफोन-6 पिंक डायमंड फोन है, जिसकी कीमत 48.5 मिलियन डॉलर (करीब 314 करोड़ ) रुपए है। 

अमेरिकी लग्जरी ब्रैंड फैल्कॉन अपने प्रीमियम गैजेट्स के लिए फेमस है। इस कंपनी ने 3 लाख डॉलर के हेडफोन्स से लेकर कई लग्जरी गैजेट्स बनाए हैं। ये कंपनी की ‘Bespoke” सीरीज का हिस्सा था। यह 24 कैरेट गोल्ड और पिंक गोल्ड से बना है। इस पर प्लेटिनम की कोटिंग है,  जिससे यह फोन टूट नहीं सकता है।  इस फोन को हैक भी नहीं किया जा सकता। अगर कोई ऐसा करने की कोशिश करेगा तो तुरंत फोन के यूजर के पास मैसेज पहुंच जाएगा। 45.5 करोड़ डॉलर (करीब 314 करोड़ रुपए) यह अभी तक बना दुनिया का सबसे महंगा मोबाइल फोन है। इसमें आईफोन-6 के सारे फीचर्स हैं। मोबाइल के महंगे होने की प्रमुख वजह इसके पीछे लगा पिंक डायमंड है। एप्पल लोगो और iPhone एन्ग्रेविंग के बीच लगा ये डायमंड सबसे महंगे हीरों में से एक है। 
कॉमेडी नाइट्स में कपिल शर्मा की बीवी का रोल करने वाली सुमोना चकर्वर्ती अब नए अवतार में

कॉमेडी नाइट्स में कपिल शर्मा की बीवी का रोल करने वाली सुमोना चकर्वर्ती अब नए अवतार में

COLORS fictionalizes real life stories with Dev: Most-wanted Detective or Wanted Criminal

चंड़ीगढ़, 2 अगस्त, 2017ः अभिनेत्री सुमोना चक्रवर्ती उर्फ मीरा ने कहा, ‘‘देव का प्रशिक्षु-सह-विश्वासपात्र, मीरा मृतकों के साथ बातचीत करने की क्षमता के साथ एक पेशेवर मनौवैज्ञानिक भी है। वह एक मजबूत एकमात्र मां है, जिसने अपने असफल विवाह के भयावहता को खुद का जीवन बेहतर बनाने के लिए पीछे छोड़ दिया है। मैं चंडीगढ़ में पहली बार आई हूं और मैं यहां एक अद्भुत समय की प्रतीक्षा कर रही हूं। मुझे उम्मीद है कि मुझे चंडीगढ़ के सभी प्रसिद्ध स्वादिष्ट भोजन का स्वाद लेने का मौका मिलेगा और मेरे परिवार के लिए भी कुछ पैक कराने का भी।’’वह देव बर्मन है - वैरागी, जिज्ञासु और बेहद समझदार। उसका कुशाग्र मस्तिष्क अनसुलझे रहस्यों में रमता है, हालात का विश्लेषण करता है और बेहद उलझी हुई पहेलियों को भी खूबसूरती से सुलझाता है। लीक से हटकर और व्यापक रूप से पसंद किए जाने वाले विषय प्रस्तुत करने के लिए प्रतिबद्ध कलर्स ने देवः मोस्ट-वांटेड डिटेक्टिव या वांटेड क्रिमनल के साथ अपने सप्ताहांत के कार्यक्रमों को और मजबूत किया है। असल जिंदगी की घटनाओं से प्रेरित कहानियां दिखाने के लिए यह काल्पनिक थ्र्रिलर दर्शकों को देव बर्मन की दुनिया की सैर कराएगा जो रहस्य सुलझाने वाला व्यक्ति है। वह अपने आप में गूढ़ पहेली है। आशीष चैधरी मुख्य भूमिका में नजर आएंगे लेकिन इस धारावाहिक में सुमोना चक्रवर्ती, पूजा बॅनर्जी और अमित डोलावत जैसे कलाकार महत्वपूर्ण भूमिकाएं करेंगे।
चंडीगढ़ को शो में पेश करने के लिए और तेज गति से कथाओं को उजागर करने के लिए, अभिनेता आशीष चैधरी, सुमोना चक्रवर्ती और पूजा बॅनर्जी ने आज शहर का दौरा किया। पेनिनसुला प्रोडक्शन्स की पेशकश देव की साहसिक गाथा का प्रीमियर 5 अगस्त, 2017 को होगा और यह प्रत्येक शनिवार और रविवार रात 10.00 बजे कलर्स पर दिखाया जाएगा।

इस नए धारावाहिक के बारे में कलर्स की प्रोग्रामिंग हेड मनीषा शर्मा ने कहा, ‘‘हमने करमचंद जैसे कनसेप्ट को परवान चढ़ाया है जिसमें हमारे आसपास की अनेक घटनाओं को पर्दे पर दिखाया गया। देवः मोस्ट-वांटेड डिटेक्टिव या वांटेड क्रिमनल दर्शकों को अपने अनूठे रहस्यभरे ब्रैंड से सम्मोहित करेगा जो असल जिंदगी की कहानियों पर आधारित हैं। इन कहानियों का काल्पनिक रूप दर्शकों को आसपास की घटनाओं के बारे में सोचने को विवश करेगा। देव का किरदार बहुत रोमांचक है। वह विभिन्न जजमेंट के बावजूद दिमाग को उलझाने वाले केसों का मूल्यांकन करने के लिए अपन आंखों का इस्तेमाल विस्तार से करता है जो उसके अतीत के कारण उसके विरूद्ध पारित किए गए हैं। आशीष चैधरी ने देव के चतुर किरदार को अपनाने के लिए शानदार काम किया है। उन्होंने जासूस के व्यक्तित्व को इस ढंग से अपनाया है जो दर्शकों की संवेदनाओं को जकड़ कर रख देगा और उनका खूब मनोरंजन करेगा।’’

देवः मोस्ट-वांटेड डिटेक्टिव या वांटेड क्रिमनल में डिटेक्टिव देव बर्मन को भावुक और गूढ़ परिस्थितियों के बीच ला देता है। अपनी पत्नी महक (पूजा बॅनर्जी) के असामयिक निधन से उत्पन्न अपने अंदरूनी शैतान से लड़ते हुए देव कैट मधुबाला के साथ वैरागी के रूप में रह रहा है जिसे उसकी पत्नी ने उसकी कार के नीचे से बचाया था। वह इंस्पेक्टर नार्वेकर (अमित डोलावत) के साथ मिलकर काम करता है जो मानता है कि देव ने अपनी पत्नी की मृत्यु की साजिश रची है। वह सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए संघर्ष करता है वहीं देव अपनी लेंडलेडी जोहरा आपा (जाॅयश्री अरोरा) के साथ मजबूत रिश्ता बना लेता है क्योंकि वह बिलकुल माँ की तरह उसकी बहुत देखभाल करती है। लेकिन उग्र मीरा बॅनर्जी (सुमोना चक्रवर्ती) से मिलने के बाद वह जीवन को नई तरह से देखना शुरू करता है और कई अनछुए भावों की खोज करता है तथा अपने जीवन के उतार-चढ़ाव को  मनोरंजक बना देता है।

Tuesday, August 1, 2017

मेरे सामने गिड़गिड़ाते हुए आया था नीतीश, पढ़ें लालू की चिट्ठी, कैसे छलका उनका दर्द

मेरे सामने गिड़गिड़ाते हुए आया था नीतीश, पढ़ें लालू की चिट्ठी, कैसे छलका उनका दर्द

नई दिल्ली: बिहार में महागठबंधन टूटे कई दिन हो गए लेकिन लालू नीतीश की दोस्ती टूटने का दर्द अब भी छलक रहा है। एक दिन पहले लालू पुत्र तेजस्वी का दर्द छलका था जिसमे उन्होंने दो तस्वीरें पोस्ट कर बताया था कि मैं नीतीश कुमार का कितना मान-सम्मान करता था। अब राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का दर्द छलका है और उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिये अपनी और नीतीश कुमार की कहानी बयां की है। लालू ने फेसबुक पर क्या लिखा है पढ़ें। 

नीतीश कहता है कि उसने मुझे नेता बनाया। ये तो झूठ की सभी मर्यादाएँ और बाँध तोड़ रहा है। मैं 1970 में पटना यूनिवर्सिटी में जनरल सेक्रेटरी था, दो साल में पटना विश्वविधालय का अध्यक्ष बना उससे पूर्व में delegates नॉमिनेट कर अध्यक्ष बनाते थे। मैंने लड़ाई लड़ी कि पटना विश्वविधालय का अध्यक्ष नॉमिनेट नहीं होना चाहिए बल्कि इसके लिए खुला चुनाव होना चाहिए ताकि वंचित और उपेक्षित वर्गों के छात्र अपना नेता चुने। वंचित वर्गों के छात्रों के सहयोग से मैं पटना विश्वविधालय का अध्यक्ष बना। उस वक़्त नीतीश को शायद ही इसकी कक्षा के बाहर कोई जानता हों। इसका कहीं कोई अता-पता नहीं था।
1974 के छात्र आंदोलन में जयप्रकाश नारायण जी ने मुझे छात्र आंदोलन का संयोजक घोषित किया। उसी दौरान छात्रों की सहमति से हमने जेपी जी को लोकनायक की उपाधि दी और मुझे छात्र आंदोलन का संयोजक बनाने के लिए लोकनायक का धन्यवाद किया।
1977 में महज़ 29 वर्ष की उम्र में देश का सबसे कम उम्र का सांसद बनकर मैंने जनता पार्टी की सरकार में छपरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। 1985 में नीतीश पहली बार विधायक बना तब तक मैं एक बार सांसद और विधायक रह चुका था और उससे पहले नीतीश दो चुनाव हार चुका था। ये दो-दो चुनाव हारने के बाद गिड़गिड़ाता हुआ मेरे पास आया था और दावा करता है इसने मुझे नेता बनाया। नीतीश अपनी अंतरात्मा से पूछे इसे बाढ़ से सांसद बनाने के लिए मैंने इसके लिए क्या-क्या नहीं किया? इसे आगे करने के लिए मैंने पार्टी के कई पुराने नेताओं से भी संबंध ख़राब कर लिए थे। अब चारों तरफ़ से घिर चुका है तो झूठ का सहारा ले रहा है।
आतंकी उड़ाए जा रहे हैं, अलगाववादी जेल में, जम्मू-कश्मीर में आने वाले हैं अच्छे दिन

आतंकी उड़ाए जा रहे हैं, अलगाववादी जेल में, जम्मू-कश्मीर में आने वाले हैं अच्छे दिन

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में अशांति फ़ैलाने वालों पर चौतरफा वार किया जा रहा है। एनआईए अलगाववादियों पर शिकंजा कसती चली जा रही है तो सुरक्षाबल के जवान खूंखार आतंकवादियों को ठिकाने लगाते चले जा रहे हैं।मंगलवार सुबह सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के कश्मीर कमांडर अबु दुजाना को मार गिराया जिसके सिर पर लाखों रुपये का इनाम था। सुरक्षाबलों ने उस घर को विस्फोटक से  उड़ा दिया साथ में उसके 2 आतंकी साथियों को मार गिराया। सुरक्षाबलों की इस बड़ी कामयाबी पर अब तक अलगाववादियों का कोई बयान नहीं आया है जिसका प्रमुख कारण है अलगाववादी भी जांच एजेंसियों की रडार पर हैं। 

एक दिन पहले रविवार को टेरर फंडिंग मामले में अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के करीबी सिख हुर्रियत नेता देवेंद्र सिंह बहल के दो स्थानों पर छापेमारी के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया इसके अलावा, एनआईए ने गिलानी के दूसरे बेटे नसीम को समन भेजकर बुधवार को एजेंसी के सामने पेश होने को कहा है । इसके पहले आधा दर्जन से ज्यादा अलगाववादियों को गिरफ्तार कर एनआईए ने जम्मू-कश्मीर के आतंकवादियों की कमर पहले ही तोड़ दी है। जांच एजेंसियों की मानें तो अलगाववादी आतंकवादियों के सबसे बड़ी साथी थे। आतंकवादी पाकिस्तान से आते थे और अलगाववादी इनका साथ देते थे, इनकी सहायता के लिए पत्थरबाज पालते थे। अगर ऐसा ही चलता रहा तो जम्मू-कश्मीर में बहुत जल्द अमन चैन वापस लौट आएगा। जम्मू-कश्मीर की जनता के अच्छे दिन आने वाले हैं। 
लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर अबु दुजाना को भारतीय सेना ने ठोंक दिया

लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर अबु दुजाना को भारतीय सेना ने ठोंक दिया

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में सेना के जवानों को बड़ी कामयाबी मिली है। आज सुबह जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के काकापोरा में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के टॉप कमांडर अबु दुजाना को मार गिराया है जिस पर 15 लाख का इनाम था। सुरक्षाबलों को पुलवामा के काकापोरा में अबु दुजाना समेत 2 से 3 आतंकियों के एक घर में छिपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई। मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने उस घर को विस्फोटक से उड़ा दिया, जिसमें आतंकियों के छिपे होने की सूचना थी। इसमें दुजाना समेत उसके दो साथी मारे गए। 

दुजाना पिछले 5 साल से घाटी में ऐक्टिव था। मूल रूप से गिलगित-बाल्टिस्तान के निवासी दुजाना का दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों पर हुए अधिकतर हमलों के पीछे हाथ था। वह पिछले साल हुए पंपोर हमले का भी मास्टरमाइंड था, जिसमें CRPF के 8 जवान शहीद हुए थे। बुरहान वानी के अंतिम संस्कार के अलावा भी उसे घाटी में कई बार विरोध प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक रूप से देखा जा चुका है।
राजस्थान, हरियाणा के बाद अब दिल्ली पहुंचे चोटी काटने वाले, पुलिस के पास आये कई मामले

राजस्थान, हरियाणा के बाद अब दिल्ली पहुंचे चोटी काटने वाले, पुलिस के पास आये कई मामले

नई दिल्ली 01 अगस्त: राजस्थान, हरियाणा के बाद चोटी काटने वाली अफवाह अब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली तक पहुँच गई है।  दिल्ली पुलिस के पास अब तक ऐसे 3 मामले आ चुके हैं। पुलिस ने सोमवार को तीनों चोटियों को कब्जे में ले लिया है। फरेंसिक जांच के लिए भी टीम को बुलाया गया है। तीनों ही घटनाओं में एक ही जैसे लक्षण बताए जा रहे हैं। पहले महिलाओं के सिर में तेज दर्द हो रहा है और फिर वे बदहवास सी हो जा रही हैं। बाद में उनकी चोटी कटी हुई मिलती है। पुलिस अफसरों कहना है कि शुरुआती जांच में लग रहा है कि वारदात के पीछे कोई शरारती तत्व है। हालांकि लोगों के बयान के मुताबिक सभी पहलुओं से जांच की जा रही है। 

दिल्ली के कांगनहेड़ी गांव में रविवार रात तक गांव की 2 और महिलाओं की भी चोटी काटने की घटना सामने आने से सोमवार को यह रहस्य और ज्यादा गहरा गया। पुलिस के मुताबिक, छावला के कांगनहेड़ी गांव की रहने वाली मुनेश की चोटी कटी हुई मिली। मुनेश ने घरवालों को बताया कि वह खेत में ज्वार काटने गई थीं। उनके सिर में तेज दर्द हुआ और वह वापस अपने घर आ गईं। दर्द की वजह से उन्हें कुछ अंदाजा नहीं लगा। वह चक्कर आने की हालत में चारपाई पर लेट गईं। जब उनकी नींद खुली तो देखा कि फर्श पर बालों का गुच्छा पड़ा है। जिस तरीके से चोटी को काटा गया है, उससे लग रहा है कि कैंची जैसी किसी चीज का इस्तेमाल हुआ है। अफवाह ज्यादा न फैले, इसलिए पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

रविवार रात इसी गांव में दूसरी घटना भी हो गई। यहां रहने वाली श्रीदेवी ने दावा किया कि कोई उनकी भी चोटी काटकर भाग गया। उन्होंने अपने पड़ोस की महिलाओं को बताया कि वह प्लॉट पर काम कर रही थीं। उनके सिर में तेज दर्द हुआ। वह घर में आकर बिना किसी को बताए बिस्तर पर लेट गईं। उन्हें ऐसा लगा कि मौसम की वजह से तबीयत बिगड़ी है। जब नींद खुली तो उनकी चोटी भी फर्श पर पड़ी मिली। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। 

पुलिस अभी इस घटना की जांच कर ही रही थी कि फिर से चोटी कटने का शोर मचा। तीसरी कॉल से पुलिस भी टेंशन में आ गई। पुलिस रात को करीब 12 बजे जब गांव के उस घर में पहुंची तो पता चला कि ओमवती नाम की महिला की चोटी भी काट ली गई है। ओमवती के बेटे ओमप्रकाश ने बताया कि उनकी मां खेत से 8 बजे वापस आईं। खाना खाने के बाद उनके सिर में दर्द हुआ। सभी लोग एक ही कमरे में सो गए। कुछ देर बाद उनकी मां ने देखा कि चोटी फर्श पर गिरी है। तुरंत पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। पुलिस ने मौके पर आकर छानबीन की और चोटी को कब्जे में लेकर उसे जांच के लिए भेज दिया। डीसीपी सुरेंद्र कुमार का कहना है कि पुलिस ऐसे शरारती तत्वों परभी निगाह बनाए हुए है। साथ ही अफवाह फैलाने वालों पर भी पैनी नजर है। फिलहाल पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Monday, July 31, 2017

सोशल मीडिया के राजा बाबुओं पर आयकर विभाग की नजर

सोशल मीडिया के राजा बाबुओं पर आयकर विभाग की नजर

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर अगर आप कुछ लिख रहे हैं, कोई तस्वीर पोस्ट कर रहे हैं तो ध्यान रखें कि आप जो लिख रहे हैं, जो तस्वीर पोस्ट कर रहे हैं आयकर विभाग सब कुछ देख रहा है। कुछ लोग गुप्त लेन देन की बातें सोशल मीडिया पर चैट करके करते हैं तो कुछ लोग मंहगी मंहगी गाड़ियों की तस्वीरें फेसबुक या व्हट्सएप पर पोस्ट कर देते हैं। आयकर विभाग आपकी पोस्ट की हुई गाड़ी की तस्वीर देखेगा तो आपके बारे में जानकारी हासिल करेगा कि आप रिटर्न कितने का भरते हैं। अगर आयकर विभाग के अधिकारियों को लगा कि आपने गाड़ी लाखों की खरीदी है और टैक्स नहीं भरते तो आपके घर आयकर  विभाग का नोटिस आ जाएगा। 

मालुम हो कि केंद्र सरकार ने पिछले 7 वर्षों  में एक बायोमेट्रिक सिस्टम प्रोजेक्ट इनसाइट को डवलप किया है, जिस पर करीब 1000 करोड़ का खर्च आया है। यह सिस्टम सरकार का डाटाबेस बढ़ाने में मदद करेगा। इस सिस्टम से आपके सोशल मीडिया के खाते पर भी नजर रखी जाएगी। यहाँ तक कि आप कहीं बाहर घूमने गए और किसी बड़े होटल की तस्वीरें आपने सोशल मीडिया पर पोस्ट की तब भी आयकर विभाग उसकी जांच करेगा कि आप कमाई कितनी दिखाते हैं और खर्च कितना करते हैं। अगर विभाग के कुछ गड़बड़ समझा तो आपके घर नोटिस भेज देगा। 

गुजरात की जनता को बाढ़ के मजधार में छोड़ बेंगलुरु में मस्ती कर रही है कांग्रेस, BJP

गुजरात की जनता को बाढ़ के मजधार में छोड़ बेंगलुरु में मस्ती कर रही है कांग्रेस, BJP

Gujarat CM Vijay Rupani slams Congress
नई दिल्ली/अहमदाबाद: गुजरात में राज्य सभा के चुनावों में बीजेपी कांग्रेसी विधायकों को अपने पक्ष में न कर ले इसलिए कांग्रेस अपने विधायकों को लेकर बेंगलुरु चली गई है। ये विधायक बेंगलुरु के एक रिसॉर्ट में ठहरे हैं। इन विधायकों की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वाइरल हो रहीं हैं जिनमे ये भोजन करते दिख रहे हैं। बीजेपी ने कांग्रेस पर इन विधायकों को लेकर हमलावर रुख अपनाया है। 
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि गुजरात की बाढ़ में लोग डूब रहे हैं और कांग्रेसी विधायक बेंगलुरु में मस्ती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को गुजरात के बाढ़ की कोई फिक्र नहीं है। जल्द ही कांग्रेस पार्टी भी इस बाढ़ में डूब जाएगी। गुजरात की बात करें तो प्रदेश के कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। राहत और बचाव के काम में वायुसेना, एनडीआरएफ की टीमें जुटी हैं। अब तक 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में जब कांग्रेस के 40 से अधिक विधायक बेंगलुरु में हैं जिस कारण बीजेपी को कांग्रेस पर प्रहार करने का मौका मिल गया है। 

ये विधायक अभी एक हफ्ते तक वहीं रहेंगे। 8 अगस्त को राज्य सभा के लिए मतदान करने सीधे गांधी नगर पहुंचेंगे। इन एक हफ़्तों में बीजेपी के कांग्रेस पर हमले जारी रह सकते हैं। उधर बेंगलुरु में रिसॉर्ट में ठहरे कांग्रेसी विधायकों की रोज परेड कराई जा रही है। अब भी कांग्रेस को डर कोई विधायक खिसक न ले। मालुम हो कि गुजरात में राज्यसभा की 3 सीटों के लिए चुनाव होने हैं।  दो सीटों के लिए अमित शाह, स्मृति ईरानी उम्मीदवार हैं।  तीसरी सीट के लिए कांग्रेस के अहमद पटेल मैदान में हैं। कई कांग्रेसी विधायकों के पार्टी छोड़ने के बाद कांग्रेस अपने विधायकों को लेकर हाल में ही बेंगलुरु चली गई थी ताकि बीजपी बचे हुए विधायकों की खरीद फरोख्त न कर सके। 
क्रिकेटर शिखर धवन ने कहा ये है असली भारत

क्रिकेटर शिखर धवन ने कहा ये है असली भारत

नई दिल्ली: बिहार विधानसभा परिसर में 'जय श्रीराम' के नारे लगाने वाले जेडीयू नेता खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद आजकल सुर्ख़ियों के इसलिए हैं क्यूंकि उनके  खिलाफ इमारत-ए-शरिया ने फतवा जारी किया है। हाल में बनी बिहार सरकार में खुर्शीद मंत्री भी बन गए। फतवा जारी होने के बाद भी वो पीछे हटने के लिए तैयार नहीं हैं जिनका कहना है कि 'भगवान ही जानता है कि मैंने किस इरादे से 'जय श्रीराम' के नारे लगाए थे। मेरा काम ही बताएगा कि मैं कौन हूं। मैं इमारत-ए-शरिया की काफी इज्जत करता हूं, लेकिन उन्हें फतवा जारी करने से पहले मेरे इरादों को समझना चाहिए था, आखिर मैं क्यों डरूं?' देश में ऐसे फतवे समय समय पर किसी न किसी नेता या अन्य पर जारी होते रहते हैं। हाल में सिंगर सोनू निगम पर अजान मुद्दे को लेकर फतवा जारी किया गया था। 

जाने मानें क्रिकेटर शिखर धवन ने ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट किया है। तस्वीर के साथ शिखर धवन ने जो लिखा है उसे पढ़ें। 

अधिकतर लोगों का कहना है कि इस तस्वीर में असली भारत दिख रहा है। तस्वीर में सीआरपीएफ का एक जवान नमाज पढ़ रहा है जबकि दूसरा जवान उसकी हिफाजत कर रहा है। शिखर धवन की इस तस्वीर पर ट्विटर पर काफी कम्मेन्ट्स आये हैं जिसमे लोगों का कहना है कि तस्वीर भारत का सत्य बता रही है। एक कमेंट्स पढ़ें। 


Sunday, July 30, 2017

नीतीश के मुस्लिम मंत्री का फ़तवाबाजों को जबाब, बोले देश की भलाई के लिए बार बार बोलूंगा जय श्री राम

नीतीश के मुस्लिम मंत्री का फ़तवाबाजों को जबाब, बोले देश की भलाई के लिए बार बार बोलूंगा जय श्री राम

नई दिल्ली/पटना: अभी हाल में बिहार के मंत्री बने जेडीयू नेता खुर्शीद उर्फ़ फिरोज अहमद  ‘जय श्री राम का नारा’ लगाने के बाद मुश्किल में फंस गए हैं। इमारत शरिया के मुफ्ती सुहैल अहमद कासमी ने एक फतवा जारी करके खुर्शीद को इस्लाम से बेदखल कर दिया है। इतना ही नहीं फतवे के आधार पर उनका निकाह भी टूट गया है. फतवे के अनुसार उन्हें अपने इस काम के लिए तौबा करके फिर से निकाह करना होगा। 

अपने खिलाफ जारी फतवे पर प्रतिक्रिया जारी करते हुए खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद ने कहा, ”किस उम्मीद के साथ क्या मकसद लेकर मैंने जय श्री राम के नारे लगाए, ये खुदा बेहतर कोई नहीं जानता. रहा सवाल खुदा का तो कोई खुदा कहता है, कोई श्री राम कहता है. एक शक्ति है जो दुनिया को चला रही है.”

खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद ने कहा, ”बिहार की जनता के लिए, उसकी तरक्की, हिफाजत के लिए, देश की भलाई के लिए आपकी सौहार्द बनाए रखने के लिए अगर मुझे जय श्री राम कहना पड़ेगा तो उसके लिए कल भी पीछे नहीं हटा था आज भी पीछे नहीं हटूंगा.” मालुम हो कि जेडीयू के विधायक और मंत्री खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद विश्वास मत के दौरान विधानसभा में जय श्री राम के नारे लगाकर चर्चा में आये थे। 



44 कांग्रेसी विधायकों के छीन लिए गए हैं फोन  फिर भी अहमद पटेल की कुर्सी खतरे में

44 कांग्रेसी विधायकों के छीन लिए गए हैं फोन फिर भी अहमद पटेल की कुर्सी खतरे में

नई दिल्ली: गुजरात में 8 अगस्त को राज्य सभा के चुनाव हैं। कांग्रेस भले ही अपने विधायकों को लेकर भाग गई है लेकिन अहमद पटेल का राज्य सभा पहुंचा अब भी खतरे में है। कांग्रेस अपने विधायकों को बचाने का पुरजोर प्रयास कर रही है और यही कारण है कि  बेंगलुरु के गोल्फ कोर्स रिजॉर्ट में जितने भी विधायक ठहरे हैं उनसे मोबाइल फोन तक ले लिया गया है ताकि वो किसी से बात न कर सकें। कांग्रेस को अब भी आशंका है कि उनके विधायक टूट सकते हैं। कांग्रेस  राघवजी पटेल का बयान से हैरान है जिसमे पटेल ने कहा है कि कई और  विधायक स्तीफा दे सकते हैं।  

राघव जी ने कांग्रेस के 20 विधायकों के पार्टी छोडऩे के संकेत दिए हैं। अगर ऐसा होता है तो अहमद पटेल का राज्य सभा पहुंचना नामुमकिन हो जायेगा। 6 विधायक पहले ही कांग्रेस छोड़ चुके हैं। 182 विधायकों की गुजरात विधानसभा में कांग्रेस की संख्या 51 रह गई है। कहा जा रहा है कि बेंगलुरु गए 44 विधायकों में से कई विधायक भाजपा के पाले में जा सकते हैं। ये विधायक 7 अगस्त को वहाँ से लाये जायेंगे और 8 अगस्त को गांधीनगर सीधा पहुंचेंगे जहाँ राज्य सभा के लिए मतदान करेंगे।