Showing posts with label Mewat News. Show all posts
Showing posts with label Mewat News. Show all posts

Sunday, January 22, 2017

अपने खर्चे से पुलिस कर रही है अच्छा काम ताकि डंफर न दौड़ें बेलगाम

अपने खर्चे से पुलिस कर रही है अच्छा काम ताकि डंफर न दौड़ें बेलगाम

यूनुस अलवी, मेवात: मेवात कि सडकों पर बिना नंबरों के दौड रहे डंफरों पर पुलिस कप्तान मेवात के आदेश पर पुलिस खुद अपने खर्चे पर डंफरो पर नंबर प्लेट लिखवा रही है। पुलिस का ये अभियान एक सप्ताह तक चलेगा। एक सप्ताह के बाद मेवात पुलिस ऐसे बिना नंबरों के वाहनों से सख्ती के साथ पैश आऐगा। पुलिस ने मेवात जिला के नूंह अलवर रोड पर फिरोजपुर झिरका, आकेडा पुलिस चौकी आदी स्थानों पर बिना नंबरों के या नंबर मिटे हुऐ वाहनों के खासतौर से डंफर और ट्रकों पर पुलिस ने नंबर लिखवाने के लिए पेंटर बेठा रखे है।

  मेवात पुलिस कप्तान कुलदीप सिंह ने बताया कि मेवात जिला कि सडकों पर चलने वाले वाहनों पर या तो लोगो ने नंबर नहीं लिखवा रखे हैं या फिन उन पर नंबर मिटे हुऐ हैं। कई बार सडक हादसा करके भागने वाले वाहनों पर नंबर ना होने कि वजह से उनके नंबर लिए नहीं जा पाते हैं। जिसकी वजह से ऐसे वाहनों कि पहचान करना मुश्किल हो जाता है। उन्होने बताया कि खासतौर से डंफरों पर मिटे हुऐ नंबरों को पुलिस अधिकरियों कि मौजूदगी में लिखवाया जा रहा है। उन्होने बताया कि यह अभियान एक सप्ताह तक चलेगा। उसके बाद बिना नंबर लिखे पाये जाने वाले वाहनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कि जाऐगी। ऐसे वाहनों का चालान तो होगा ही साथ ही उनको जब्त भी किया जा सकेगा।

महिला पार्षदों को अनपढ़ गंवार बोलने वाले DC का पुतला फूँका

महिला पार्षदों को अनपढ़ गंवार बोलने वाले DC का पुतला फूँका

यूनुस अलवी, मेवात: मेवात के डीसी मणिराम शर्मा द्वारा अपनी फेसबुक कि वाल और कई वटसऐप ग्रुप में अभद्रभाषा का इस्तेमाल करने के विरोध में शनिवार को मेवात डीसी के खिलाफ मेवात युवा मंच द्वारा नूंह में विरोध प्रदर्शन किया। वहीं मेवात डीसी के खिलाफ जमकर नारेबाजी कि। युवाओं ने डीसी मेवात मणि राम शर्मा का पुतला फूंकर उनसे सभ्य भाषा का इस्तेमाल करने और जो असभ्य भाषा इस्तेमाल कि गई है उसके माफी मांगने की मांग की है। इस मौके पर युवा हाथों पर तख्ती लिये हुऐ थे जिनपर डीसी कि भाषा का विरोध किया गया था। इस मौके पर सैंकडों युवा मौजूद थे। शनिवार को युवा नूंह के पीडब्ल्यू रेस्ट हाउस से नूंह कि जामा मस्जिद और डीसी निवास के सामने नारे बाजी करते हुऐ बडी जामा मस्जिद के सामने डीसी का पुतला फूंका।

युवा अजहरूदीन, साकिर खान और शाहिद खान ने बताया कि मेवात कि डीसी मणि राम शर्मा ने अपने फेसबुक वाल और कई वटसऐप गुरूपों में ओडीएफ यानि खुले में शौचमुक्त बनाने पर लोगों के लिय अभद्र भाषा यानि गाली गचौंच का इस्तेमाल किया है। वहीं फिरोजपुर झिरका के वार्ड आठ कि नगर पार्षद ने जब डीसी से वटसऐप गुरूप में अपने वार्ड में दस दिन से पानी ना आने की समस्या डीसी के सामने रखी तो डीसी ने पीने के पानी का समाधान करने कि बजाये महिला पार्षद को अनपढ, गांव आदि शब्दों का इस्तेमाल कि बेइज्जत किया। यहां तक कि पार्षद को बिना किसी बात के ही टर्नीमेट करने तक कि धमकी दी है। उनका कहना है कि यह असभ्य भाषा एक अधिकारी के लिये सोभा नही देती है इस लिये मेवात के डीसी को तुरंत माफी मांगनी चाहिये। अगर डीसी ने माफी नही ंमागी तो जल्द ही हजारों युवा नूंह में विरोध प्रदर्शन करेगें।


Saturday, January 21, 2017

मेवात के DC की दबंगई जारी, पार्षद पर पड़ सकती है भारी

मेवात के DC की दबंगई जारी, पार्षद पर पड़ सकती है भारी

यूनुस अलवी, मेवात: मेवात ज़िला के फ़िरोज़पुर झिरका, पुन्हाना, नुहं और तावडू नगर पालिका के पार्षद, चारमेंन और अधिकारियों के बने "संकल्प स्वछ मेवात" के व्हाट्सअप ग्रुप में मेवात के डीसी साहेब मणिराम शर्मा से फ़िरोज़पुर झिरका के एक वार्ड वार्ड में 10 दिन से पानी ने आने पर उसका समाधान कराने की बात कहना महंगा पड़ गया। डीसी साहेब ने उस महिला नगर पार्षद के लिए किया किया अल्फ़ाज़ इस्तेमाल किये वो आप खुद पढ़े। जबकि की वो काफी पढ़ी लिखी महिला हे।

ये लिखा डीसी साहेब ने।
नॉट स्क्रीन शार्ट अटेच हे।


यह जो पानी की कमी का रोना है, वह अपनी जगह सही है परन्तु इसे शौचालय से जोड़कर देखना सिर्फ मानसिक दिवालियेपन का प्रतीक है, और कुछ नहीं ।

आखिर पीने के लिए, नहाने के लिए, कपड़े धोने के लिए, बर्तन धोने के लिए ..... इन सब कामों के लिए भी तो पानी का इंतजाम करना ही पड़ता है और वह हम सब करते भी है चाहे खरीद कर या दूर से लाकर। फिर शौचालय के लिए क्यों नहीं किया जा सकता ? क्या गू / टट्टी खाने में कुछ ज्यादा ही स्वाद आता है ?

अगर नहाने और कपड़े धोने से बचे पानी को व्यर्थ बहने से बचा लिया जाए और इसी पानी को शौचालय में डाल दिया जाए तो शौचालय के लिए अलग से पानी की जरूरत ही नहीं पड़ेगी । इस व्यर्थ बहने वाले पानी की हम कभी परवाह ही नहीं करते ।

जो वार्ड मेम्बर इस तरह की बकवास करते है वे या तो स्वयं इस्तीफा दे दें या फिर प्रशासन ही उनको सस्पेंड कर देगा। शौचालय बनवाना प्रशासन पर आपका कोई अहसान नहीं है।

 शहर में खुले में शौच करना गैर कानूनी है, जुर्म है, अपराध है।
नगरपालिका एक्ट में ऐसे लोगों से निपटने हेतु अनेक प्रावधान है।
ऐसे लोगों से सख्ती से निपटा जाएगा।

जो वार्ड मेम्बर अपने वार्ड को ODF नहीं करवा सकते उनको स्वयं ही इस्तीफा दे देना चाहिए। ऐसे अनपढ़, गंवार और जाहिल लोग पार्षद कैसे हो सकते है जो उल्टे सीधे बहाने बनाकर खुले में शौच करना मजबूरी बताते है ? ? ?
कोई मजबूरी नहीं है। सिर्फ मानसिक दिवालियापन है और ऐसे मानसिक दिवालियापन का प्रशासन के पास पूरा इलाज है।

गांवों के लोग तेजी से यह बात समझ रहे है परन्तु लगता है कि शहरी इलाके में गू / टट्टी खाने की लत ज्यादा गहरी है और कुछ पार्षद भी इस लत के शिकार है, तभी वे इस तरह की बकवास कर रहे है। प्रशासन अब चुपचाप नहीं बैठेगा और शहरों को टट्टी घर नहीं बनने दिया जाएगा।

Wednesday, January 18, 2017

मेवात में गाय की ह्त्या, अवैध खनन बर्दाश्त नहीं करूंगा, DSP

मेवात में गाय की ह्त्या, अवैध खनन बर्दाश्त नहीं करूंगा, DSP

यूनुस अलवी, मेवात: पुन्हाना डीएसपी सुभाष वशिष्ठ के तबादले के बाद नवनियुक्त डीएसपी विनोद कुमार ने बुधवार को अपना कार्यभार संभाल लिया है। उन्होंने अपना कार्यभार संभालने के साथ ही पत्रकारों से बातचीत करते हुऐ कहा कि क्षेत्र में अवैध खनन, ओवरलोड, गौकशी सहित मुख्य मार्गो पर गो रहे अतिक्रमण के खिलाफ विशेष तौर पर अभियान चलाने की बात कही है। इसके अलावा जो पेंटिंग मामले है उनका जल्द ही निपटारा किया जाऐगा। जल्द पंच-सरपंच सहित गणमान्य लोगों के साथ बैठक कर पुलिस और जनता के बीच तालमेल स्थापित करने और अपराध पर लगाम लगाने के लिए सहयोग की अपील की जाएगी।

डीएसपी ने कहा कि युवाओ में बढ़ते नशाखोरी, जुआ सट्टा  के प्रचलन के प्रति रोक लगाने के लिए इलाके के गणमान्य लोगों को आगे आने की जरूरत है। इनसे युवाओ में आपराधिक घटनाओं को बढ़ावा मिलता है। उन्होंने कहा कि पुन्हाना, पिनगवां व बिछौर तीनों थाना के अंतर्गत आने वाले गांवों में अपराधिक ग्राफ कम करना उनका पहला लक्ष्य रहेगा। साथ ही थानों में चलने वाली दलाली और दलालों के माध्यम से होने वाले कार्यो पर पूरी तरह लगाम लगाई जायेगी। होडल-बडकली मार्ग व अन्य जगहों पर अवैध कब्जों की वजह से जाम की स्थिति बनती है, इसे दूर कराया जाएगा।

कोताही बरतने वाले अधिकारियों को नहीं मिलेगी माफी

कोताही बरतने वाले अधिकारियों को नहीं मिलेगी माफी

Minister-rao-indrajeet-singh-in-mewat
यूनुस अलवी, मेवात 18 जनवरी : केन्द्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री व जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति के अध्यक्ष राव इंद्रजीत सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को समयबद्ध ढंग से क्रियान्वित किया जाए। इसमें कोताही बरतने वाले किसी भी अधिकारी को माफ नहीं किया जाएगा।

राव इंद्रजीत सिंह बुधवार को नूंह में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की तीन जिलों नामत: नूंह, रेवाड़ी एवं गुरूग्राम की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर पानी की निकासी का समुचित प्रबंध होना चाहिए ताकि सडक़ों पर पानी खड़ा ना रह सके। इसके लिए बेशक जमीन में बोर किया जाए ताकि सडक़ों पर बरसाती पानी का भराव ना हो और सडक़ें जल्द टूटने से बचाई जा सकें।

इस बैठक में उन्होंने दो दर्जन से अधिक विभागों की ओर से कराए गए विकास कार्यों की समीक्षा की गई तथा उनको नए दिशा-निर्देश दिए गए। इस मौके पर सर्व शिक्षा अभियान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, मनरेगा, खुले में शौच मुक्त, दीन दयाल उपाध्याय ज्योति योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, श्यामा प्रसाद मुखर्जी अर्बन मिशन, राष्ट्रीय विरासत शहर विकास एवं संवर्धन योजना आदि बिन्दुओं पर अधिकारियों के संग विस्तृत चर्चा की गई।

मंत्री ने स्वयं सहायता समुहों की कार्यशैली तथा सभी जमाबंदियों को जल्द ऑन लाइन करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपना कार्य पूरी ईमानदारी से करें ताकि सरकार की जनकल्याणकारी एवं विकासात्मक योजनाओं और नीतियों का लाभ आमजन मानस तक पहुंचाया जा सके। बैठक में नगर परिषद रेवाड़ी द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत 33.92 लाख रुपए की राशि प्राप्त हुई, जिसके तहत नगर परिषद रेवाड़ी की ओर से शौचालयों के 421 योग्य लाभार्थियों को पहली किश्त की राशि 7 हजार रुपए की दर से कुल 29 लाख 47 हजार के बैंक खातों में स्थानांतरित कर दी गई।

इसी प्रकार नगर पालिका धारूहेड़ा ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत  18.89 लाख रुपए की राशि प्राप्त हुई, जिसके तहत नगर पालिका धारूहेड़ा की ओर से शौचालयों के 147 योग्य लाभार्थियों को पहली किश्त की राशि 7 हजार रुपए की दर से तथा तीस लाभार्थियों को दूसरी किश्त सात हजार रुपए की दर से कुल दो लाख दस हजार रुपए की धनराशि उनके बैंक खातों में स्थानांतरित कर दी गई। नगर पालिका बावल को स्वच्छ भारत मिशन के तहत 11. 01 लाख रुपए की धनराशि प्राप्त हुई, जिसके तहत नगर पालिका बावल की ओर से शौचालयों के 86 योग्य लाभार्थियों को पहली किश्त की राशि 7 हजार रुपए की दर से कुल 6.02 लाख रुपए उनके खातों में स्थानांतरित कर दिए गए हैं।

बैठक में गुडगांव कैनाल से आने वाले पानी व पीने के पानी को लेकर मंत्री ने अधिकारियों को अपने सुझाव दिए। इसके साथ ही जिले में सीवरेज व्यवस्था व सिंचाई विभाग की ओर से चौदह एकड़ भूमि पर कलस्टर बनाने बारे भी चर्चा हुई। इस बैठक में हरियाणा के जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बनवारी लाल, डीसी रेवाड़ी यश गर्ग एवं अन्य अधिकारी संबंधित अधिकारी मौजूद थे।



Monday, January 16, 2017

अनपढ़ युवाओं को रोजगार देते थे ये पूर्व मंत्री, लोग कर रहें हैं याद

अनपढ़ युवाओं को रोजगार देते थे ये पूर्व मंत्री, लोग कर रहें हैं याद

यूनुस अलवी, मेवात: मेवात के अनपढ युवाओं को भी रोजगार देने के नाम से जाने वाले पूर्व मंत्री मरहूम अजमत खां कि 17 जनवरी को 23वीं बर्सी है। उनके पुत्र पुन्हाना से विधायक रहीश खान और पूर्व डिप्टी स्पीकर आजाद मोहम्मद जहां हर वर्ष उनकी बर्सी को धूम-धाम से मनाते आये हैं लेकिन इस बार उनकी वर्सी को सादगी के साथ 17 जनवरी को पुन्हाना मनाई जा रही है।

   जानकारी के अनुसार मरहूम चौधरी अजमत खां का जन्म 23 जनवरी 1935 को गांव नीमखेडा में एक किसान के घर हुआ था। उनके अंदर शुरू से ही समाजसेवी करने की ललक थी। इसी वजह से वह 1960 से 1977 तक लगातार गांव नीमखेडा के सरपंच रहे। सबसे पहले उन्होने 1987 में हल्का फिरोजपुर झिरका से चुनाव लडा और देवीलाल कि सरकार में पशुपालन मंत्री बने।

   गांव डोंडल, नीमखेडा, बडेड गोकलपुर, एेंचवाडी काफी गांवो में बाढ आ गई जिसमें लोगों की जी-जान से मदद की । बाढ प्रभावित गांवो का कर्ज मांफ करवाने में अहमं भूमिका निभाई।

उन्होने अपने मंत्रित्व काल में करीब 1500 मेवात के बेरोजगार नोजवानों को नौकरी दिलवाई। जिनमें से सैंकडो अपनढ युवाओं को पशुपालन विभाग में बतौर बूलेटेंट कि नोकरी। उन्होने अग्रेजो के समय से अधूरे बीमा रोड को बनवाया। फिरोजपुर झिरका में जुडिशियल कंपलेक्स खुलवाया। मेवात के पांच दर्जन से अधिक गांवों में पशु चिक्तिसा डिस्पेंस्री खुलवाई। उन्होने काफी लिंक रोड व नए स्कूल ख्ुालवाए।

आखिरकार 17 जनवरी 1994 को गुडगांव में एक मरीज कि बिमार का हाल-चाल पूछने गये वहीं उनका दिल का दौरा पडने से देहांत हो गया।

  मरहूम अजमत खां कि विरासत का उनके पुत्र आजाद मोहम्मद और रहीश खान बाखूबी निभा रहे हैं। अहमत खां के बडे पुत्र मोहम्मद आजाद प्रेदश सरकार में एक बार मंत्री और एक बार डिप्टी स्पीकर रहे चुके हैं जबकी उनके दूसरे पुत्र रहीश खा फिलहाल पुन्हाना से निर्दलीय विधायक हैं। जिन्होने भाजपा सरकार को अपना समर्थन दे रखा है।

  विधायक रहीश खान ने बताया कि अपने पूर्वजों कि याद ताजा करने के लिये अपने पिता कि बर्सी को उनके परिवार के लोग 17 जनवरी को पुन्हाना में सादगी के साथ मनाया जा रहा है।

फर्जी राशन कार्ड से ले रहे थे सैकड़ों लोग राशन, अब फंसेंगे

फर्जी राशन कार्ड से ले रहे थे सैकड़ों लोग राशन, अब फंसेंगे

यूनुस अलवी: मेवात: पुन्हाना खंड के गांव झारोकडी में फर्जी तरीके से राशन कार्ड में अधिक लोगों के नाम दर्ज करने और मूल राशन कार्ड में कम दिखाने और करीब 327 लोगों का फर्जी तरीके से अनाज हडपने के मामले में खाद्दय एंव आपूर्ति विभाग ने जांच शुरू कर दी है। विभाग के अधिकारी सोमवार को गांव झारोकडी पहुंचे। वहीं इसी मामले में पुलिस विधिक सेवाऐं प्राधिकरण के आदेश पर जांच कर रही है जिसकी रिपोर्ट 6 जनवरी तक प्राधिकरण को सोंप देगी। वहीं लोगों को यह भी आरोप है कि अधिकारी जांच के लिये सोमवार को गांव झारोकडी में तो आये वे डीपू होल्डर से ही मिलकर चले गये। अधिकारियों ने शिकायतकर्ताओं के कोई ब्यान दर्ज नहीं किये हैं।

     गंाव झारोकडी निवासी शब्बीर सरंपच और नूरदीन ने बताया कि डीपू होल्डर ने पुराने राशन कार्ड तो लोगों को दे रखे हैं लेकिन जो ऑन लाईन लिंक राशन कार्ड हैं उनको काफी समय से अपने ही पास रखे हुऐ हैं। उन्होने गांव के सभी लोगों के ऑन लाईन राशन कार्ड निकलवाये जिसके बाद ही उनको पता चला कि गांव के करीब 327 फर्जी लोगों का नाम राशन कार्डो में दर्ज करा रखा है। जिसका आने वाले राशन को डीपू होल्डर अधिकारियों के साथ मिली भगत करके खाते हैं।

  बताया कि गांव का डीपू होल्डर अधिकारियों तक पहुंच के चलते कई-कई महिने गरीब लोगों को राशन नहीं बांटता था। इसकी उन्होने डीसी, डीएफएससी, एसडीएम, सीएम विंडों आदि में काफी शिकायत कि लेकिन कोई कार्रवाई नहीं कि गई। सभी जांचों को खाद्दय एंव आपर्ति विभाग के अधिकारियों कि मिली भगत से उनको दबा दिया जाता था। उन्होने बताया कि अब उन्होने हार कर मेवात के चीफ जूडिशियल मजिस्ट्रेट एंव जिला विधिक सेवाऐ प्राधिकरण के सचिव नरेंद्र सिंह को लिखित शिकायत दी थी जिसकी जांच बिछौर के थाना प्रभारी कर रहे हैं।

  सरंपच का कहना है कि सोमवार को इस मामले कि जांच करने के लिये फूड एंव सप्लाई विभाग से एफएसओ विजय कुमार गांव में पहुंचे। उन्होने किसी भी कार्ड धारक के कोई ब्यान नहीं लिये हैं बल्कि वह मंगलवार को फिरोजपुर झिरका में उनको बुलाकर गया है। उनका कहना है कि जब अधिकारी गांव में जाच के लिये आये थे तो उन्होने मौके पर लोगों के ब्यान दर्ज क्यों नहीं किये हैं।

 गौरतब है कि गांव झारोडी निवासी मोहम्मद रफीक कि पत्नि खातूनी के नाम बीपीएल का राशन कार्ड बना हुआ है। रफीक की आयू करीब 50 साल है लेकिन शादी के बाद कोई औलाद नहीं हुई है जिसकी वजह से उसने अपने भाई कि एक लडकी को गौद ले रखा है। खातूनी को डीपू होल्डर ने जो राशन कार्ड दे रखा है उसमें तीन सदस्य दिखाये गये जबकी खातूनी का ऑन लाईन राशन कार्ड नंबर 066002221034 निकाला गया तो उसमें खातूनी के कुल 13 सदस्य दिखाये गये हैं। जिनमें चार लडकी और सात लडके हैं। इसी तरह गांव निवासी जैनम विधवा है उसके पति की कई साल पहले मौत हो चुकी है। शादी के बाद उसके केवल दो ही बेटे पैदा हुऐ जिनमें से एक बेटे का करीब तीन साल पहले मौत हो गई, यानि उसके केवल दो परिवार में सदस्य हैं लेकिन जब उसका भी ऑन लाईन राशन कार्ड निकाला गया तो जैनम के चार बेटी और 6 बेटे दर्ज किये हुऐ हैं। वहीं जैनम क पति का नाम शहीद है उसको भी 11 नंबर पर बेटा दर्ज किया हुआ है। इतना ही नहीं गांव के इसलाम के एक बेटा, बीवी सहित केवल तीन सदस्यों का परिवार है, उसके राशन कार्ड में भी 12 सदस्य दर्ज करा रखे हैं। फरीदा का परिवार केवल सात सदस्यों का है और उसमें 14 सदस्य दर्ज कर रखे हैं। वहीं गांव झारोकडी निवासी साबिर की मात्र आठ साल की बेटी गुलरेज के नाम पर ओपीएच का राशन कार्ड नंबर 066002205317 बना हुआ है।


क्या कहते हैं फूड विभाग के अधिकारी?

 एफएसओ विजय कुमार ने बताया कि सोमवा को वह डीपू होल्डर के पास गये थे, उनसे एक साल का रिकोर्ड तलब किया है। डीपू होल्डर को पूरा रिकोर्ड लेकर मंगलवार को फरोजपुर झिरका बुलाया गया है। अगर डीपू होल्डर रिकोर्ड लेकर नहीं आया तो उसके खिलाफ विभागीय और कानूनी कार्रवाई कि जाऐगी।


क्या कहते हैं थाना प्रभारी?

बिछौर थाना प्रभारी का कहना है कि विधिक सेवाऐं प्राधिकरण कि ओर से गांव झारोकडी के राशन मामले कि उनके पास शिकायत आई हुई है। वह जांच कर 6 फरवरी तक रिपोर्ट प्राधिकरण को भेज देगें।


कार के लिए मार डाला, अब भी खुले घूम रहे हैं हत्यारे

कार के लिए मार डाला, अब भी खुले घूम रहे हैं हत्यारे

यूनुस अलवी, मेवात, 16 जनवरी: दहेज में कार ना देने पर गत 6 जनवरी को कि एक महिला के हत्यारे खुले आम घूम रहे हैं। इंसाफ और आरोपियों कि गिरफ्तारी के लिये पीडित परिवार पुलिस के चक्कर काट रहा हैं। पुलिस केवल आश्वासन के अलावा कुछ नहीं देती है। पीडित परिवार ने पुलिस पर आरोप लगाया कि वे आरोपियों को गिरफ्तार करने कि बजाये दहेज लोभियों से सांठ-गांठ कर रही है। मेवात जिला के गांव गंडूरी निवासी फिरदौश कि गत 6 जनवरी को गुडगांव के पालम विहार में दहेज लोभियों ने गला दबाकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने मृतक महिला के भाई इमरान कि शिकायत पर धारा 304बी, 498ए और 34 आईपीसी के तहत मृतक महिला के पति शाकिर, ससुर उमर मोहम्मद, सास जैतूनी, जेठ साजिद, देवर इकराम और देवरानी सुबीना के खिलाफ मामला दर्ज कर एक आरोपी साकिर को गिरफ्तार किया जा चुका है।

   गांव गंडूरी निवासी खुरशीद ने बताया कि राजस्थान के गांव गुंडबास निवासी शाकिर पुत्र उमर मोहम्मद के साथ 22 नवंबर 2013 को उसने अपनी सबसे छोटी बेटी फिरदौश कि शादी कि थी। फिलहाल वे परिवार सहित गुडगांव के पालम विहार में रहते हैं।  खुरशीद का कहना है कि बेटी कि शादी में उसने मोटरसाईकल, एक लाख 72 हजार रूपये और दहेज का सारा सामान दिया था लेकिन ससुराल वाले उससे खुश नहीं थे। शादी के समय से ही उसकी ससुराल वाले कार और पैसों कि डिमांड कर रहे थे। आखिरकार उसकी बेटी को ससुराल वालों ने मिलकर 6 जनवरी को हत्या कर दी।

  मृतक लडकी के भाई इमरान खां ने बताया कि उसकी बहन कि उससे ससुराल वालों ने हत्या करके और उनको बरगनाले कि नियत से अस्पताल में भर्ती दिखाया लेकिन डाक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया था। उनका कहना है कि पोस्टमार्टम कि रिपोर्ट में डाक्टरों ने जो ओपिनियन दी है उसमें साथ कहा गया कि लडकी के गर्दन पर जोर डालकर मौत हुई है। उनका कहना है कि पुलिस आरोपियों कि गिरफ्तारी के लिये कोई कदम नहीं उठा रही है बल्कि पुलिस उनको केवल आश्वासन ही दे रही है।

    मृतक फिरदौश कि मां समीना का कहना है कि जब भी उसकी बेटी गांव आती तो ससुराल वालों द्वारा उसे तंग किये जाने और उससे कार कि डिमांड कि बात कहती थी लेकिन वह समय आने पर मदद करने कि बात कहकर अपनी बेटी को समझाकर ससुराल भेज देती थी लेकिन ससुराल वाले दहेज कि डिमांड पर ही अडे रहते थे।

  मृतक लडकी के मामा हाजी इकबाल का कहना है कि आरोपियों कि गिरफ्तारी के लिये वे जांच अधिकारी से लेकर डिप्टी पुलिस कमिश्रर तक गुहार लगा चुकी हैं लेकिन वे आरोपियों को गिरफ्तार करने का केवल आश्वासन देते हैं। उनहोने कहा कि निचले अधिकारी आरोपियों से मिले हुऐ हैं और वे जब भी पुलिस के पास जाते हैं तो उनको धमका कर भगा देते हैं।

  वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों कि गिरफ्तारी के लिये कई बार उनके घर पर दबिश दी गई है। फिलहाल आरोपी फरार हैं। मुख्य आरोपी मृतक महिला के पति को गिरफ्तार किया जा चुका है। जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाऐगा।

   

Saturday, January 14, 2017

बीजेपी सरकार कि नीतियों और नियत में खोट है: पूर्व मंत्री आफताब अहमद

बीजेपी सरकार कि नीतियों और नियत में खोट है: पूर्व मंत्री आफताब अहमद

यूनुस अलवी, मेवात: कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व परिवहन मंत्री आफताब अहमद नेे कहा कि बीजेपी सरकार कि नीतियों और नियत में खोट है। केंद्र और प्रदेश कि भाजपा सरकार ने किसान और मजदूरों के फायदे के लिये कोई नहीं बनाई बल्कि नोटबंदी कर लाखों लोगों कि नोकरी और रोजी रोटी छीनने का काम किया है। आने वाले विधान सभा और लोक सभा के चुनावों में भाजपा को जनता ऐसा सबक सिखाऐगी कि अगले पचास साल तक सत्ता के करीब नहीं आ सकती। पूर्व मंत्री ने उपरोक्त विचार शनिवार को पुन्हाना खंड के गांव बांधोली में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुऐ व्यक्त किये। हाल ही में कांग्रेस के युवा पुन्हाना विधान सभा अध्यक्ष चुने गये नसीम अहमद ने समारोह का आयोजन किया। इस मौके पर पूर्व मंत्री आफताब अहमद, सहित कांग्रेस के वरिष्ट नेता और युवाओं को सम्मानित किया गया।

    पूर्व मंत्री ने कहा कि प्रदेश कि भाजपा सरकार ने पिछले दो साल में विकास के नाम पर मेवात में एक भी ईंट नहीं लगाया बल्कि जिन योजनों का उदघाटन का मुख्यमंत्रह वाह-वाई लूट रहे हैं वे सभी कांग्रेस के राज में शुरू किये गये था। युवाओ को नोकरी, भत्ता देने का वादा करने वाली भाजपा सरकार ने मेवात में एक चपडासी कि नोकरी भी नहीं लगाई है। उन्होने कहा कि पीने का पानी, नहर पानी, सडक, शिक्षा, चिक्तिसा आदी कि तरफ भाजपा कोई ध्यान नहीं दे रही है बल्कि गांव टूंडलाका में जबरजस्ती सीआरपीएफ कैंप बनाकर दिखाना चहाती है कि मेवात अशांत इलाका है। उनहोने कहा कि मेवात जैसा देश भक्त पूरी दुनिया में पैदा नहीं हुआ जिसकी बहादुरी का लोहा मुगल और अंग्रेज मान चुके हैं और महात्मां गांधी खुद मेवात के लोगों को देश कि रीड कि हड्डी बता चुके हैं। उन्होने कहा कि आज देश और प्रदेश में युवाओं का बोलबाला है। युवा समाज सेवा के लिये आगे आयें और जुल्मि भाजपा सरकार को उखाड फैंकने के लिये काम करें। उन्होने कहा कि कांग्रेस का राज जाते ही मेवात और प्रदेश से विकास कि ब्यार चली गई है। वहीं उन्होने इनेलो पर भी जमकर कटाक्ष करते हुऐ कहा कि आज जनता को पता चला गया है कि इनेलो भाजपा कि बी टीम है। नोंटबंदी पर जनता को हो रही परेशानियों को लेकर इनेलो ने कोई विरोध तक दर्ज नहीं किया।

    इस मौके पर पीसीसी सदस्य महताब अहमद, ऐजाज अहमद, सुभान खां, मकसूद शिकरावा, मुबीन तेडिया, नसीम युवा विधान सभा अध्यक्ष, मुबारिक मलिक, शाहिद पतेरिया, बुरहान खांन, मदन तंवर, अरशद टाईं, रफीक गंगवानी, तौशीप बीसरू सहित काफी युवा और वरिष्ट कांग्रेस नेता मौजूद थे।

बन्दर के कारण नही मरी शाहिदा, फॉर्च्यूनर के लिए मारी गई

बन्दर के कारण नही मरी शाहिदा, फॉर्च्यूनर के लिए मारी गई

यूनुस अलवी: मेवात, 14 जनवरी:  पुन्हाना ब्लोक समिति के पूर्व वाईस चैयरमेन कल्लू के भतीजे कि पत्नि की मौत पर नया बबाल खडा हो गया है। पहले बंदर द्वारा हमला किये जाने से घायल होने पर हुई मौत कि बात कहकर मृतक को दफना दिया गया था। अब लडकी के पिता ने दहेज के लिये उसकी लडकी को मारने का संगीन आरोप लगाया है। मृतक लडकी के पिता नुसरत का आरोप है उसको धोखे में रख गया था। ससुराल वालों ने शाहिदा लडकी कि हत्या कर दी थी और बंदर के हमले का बहाना बनाकर उसकी हत्या को दबाया गया था। पीडित लडकी के पिता नुसरत ने पुलिस को दी शिकायत में सारे में मामले कि उच्च स्तरीय जांच कराकर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कि मांग की है। वहीं पुलिस का कहना है कि लडकी के पिता की ओर से शिकायत मिली है और मामले कि जांच कि जा रही है।

   आपको बता दें गत 9 जनवरी को पुलिस ने मृतक शाहिदा के पिता कांग्रेस नेता एंव गांव शाहपुरनंगली के पूर्व सरपंच नुसरत खान के ब्यान पर एक हादसा मानकर धारा 174 के तहत कार्रवाई कर शव का पोस्टमार्टम कराकर उनके परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस द्वारा लडकी के ही पिता के ब्यान पर मामला दर्ज कर और 174 कि कार्रवाई करना लोगों के गले नहीं उतर रहा है। पीडित नुसरत का कहना है कि एफआईआर तो लडकी की ससुराल वालों कि तरफ से ही होनी चाहिये थी क्योंकि वह तो मौके पर ही नहीं था। लडकी की मौत से वह और उसका पूरा परिवार सदमें में था और उनको कोई होशोहवाश नहीं था। वह आगे कोई कार्रवाई ने कर सके इस वजह से उसके ब्यान पर मामला दर्ज कराया गया जबकी उसको तो हादसे के बारे में कोई पता ही नहीं था। इससे साफ जाहिर होता है कि उसको एक झांसे में रखकर और उसके धोखे से से सब खेल खेला गया है। पीडत नुसरत का कहना है कि उसको शक है कि उसकी लडकी कि हत्या कि गई है क्योंकि लडकी कि शादी में उन्होने स्कोरपियो कार दी थी लेकिन लडका फोरचूनर कार और पांच लाख रूपये कि डिमांड करता था। पीडित नुसरत का कहना है कि जिस छत पर उसकी लडकी के चढने कि बात कही जा रही है उसपर तो सीडी ही नहीं हैं वह कैसे बंदर के पीछे भाग कर छत पर चढेगी। ये सब एक साजिश है। इसकी गहराई से जांच होनी चाहिये।


  आप को बता दें कि गांव तेड निवासी पूर्व सरपंच कल्लू खान के भतीजे नसीम कि पत्नि शाहिदा कि 9 जनवरी को मौत हो गई थी। मौत के समय बताया गया था कि मृतक शाहिदा कि दो साल कि बेटी के दूध पीने के निप्पल को बंदर छत पर लेकर भाग गया। निप्पल को छीनने के लिये महिला हाथ में डंडी लेकर बंदर के पीछे भागी। जैसे ही महिला छत पर चढी तो अचानक बंदर ने उसपर हमला बोल दिया जिससे वह छत पर गिर गई। छत पर पडे इंट के रोडों में सिर लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल अवास्था में महिला को शहीद हसनखां मेडिकल कॉलेज ले जाया गया जहां उसकी अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो गई।

    पिनगवां थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने बताया कि लडकी के पिता नुसरत के ब्यान पर महिला कि मौत को एक हादसा मानकर उसका पोस्टमार्टम कराकर उनके परिजनों को सौंप दिया था अब उनके पिता इसे हत्या बता रहे हैं। मामले कि जांच कि जा रही है। जो भी जांच में उजागर होगा कार्रवाई कि जाऐगी।
भंडाफोड़: इसलिए नहीं मिलता गरीबों को राशन, ब्लैक में बेंचकर खा जाते हैं बेईमान

भंडाफोड़: इसलिए नहीं मिलता गरीबों को राशन, ब्लैक में बेंचकर खा जाते हैं बेईमान

यूनुस अलवी/मौ० शाहिद मेवाती, मेवात ( हरियाणा अब तक ) मेवात क्षेत्र में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में भ्रष्टाचार का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है। तावडू पुलिस ने बृहस्पतिवार की रात अवैध तरीके से ब्लैक में बेचने के लिए जा रहे गरीबों के राशन से भरा एक ट्रक पकड़ कर बडे भ्रष्टाचार का मामला उजागर किया है। पकड़े गए ट्रक से ३२० गेंहू के कटटे बरामद हुए है। पुलिस ने ट्रक के चालक व उसके एक साथी को गिरफतार कर लिया है। इस गिरफतारी से कई बडे राज खुलने की सम्भावना जताई जा रही है। इससे पहले २०१० व २०१६ में अवैध ढंग से गरीबों का राशन भ्रष्टाचार की भेट चढ़ता हुआ पकड़ा जा चुका है। पुलिस ने खाद्य  विभाग के स्थानीय निरीक्षक के ब्यान पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

सीटी चौकी इंचार्ज उप निरीक्षक बच्चू सिंह ने बताया की बृहस्पतिवार की रात करीबन ९ बजे गुप्त सूचना पर बाईपास से गरीबों के राशन से भरे एक गेंहू के ट्रक को आरोपी वारिस पुत्र रशीद निवासी गांव डांडा  थाना पुन्हाना व चालक इंजु पुत्र इब्राहीम निवासी गांव सुनारी थाना तावडू सहित पकड़ा गया है। पकडे गए ट्रक में ३२० गेंहू की बोरी बरामद हुई है। गरीबो का राशन वेयरहाउस गोदाम सेवली होडल जिला पलवल से गांव सुनारी थाना तावडू में अवैध तरीके से बेचने के लिए लाया जा रहा था। उन्होंने बताया की चालक ने पूछताछ में बताया की यह राशन इमरान पुत्र महमूद निवासी गांव सुनारी के घर पर अलीशेर पुत्र यूनुस निवासी गांव सुनारी के ट्रक से पहुंचाया जा रहा था। पकड़ा गया गेंहू फिरोजपुर नमक गांव के गरीबों का था। जिसे डिपो होल्डर द्वारा तावडू के गांव सुनारी के इमरान को बेचा गया था।


इस भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ व गिरफतारी से जहां विभाग में हडकम्प मच गया वहीं  पूछताछ के बाद कुछ और बडे भ्रष्टाचार का भंडाफोड होने की सम्भावना जताई जा रही है।
ज्ञात हो कि अक्टूबर २०१० में भ्रष्टाचार का मामला उस समय सुर्खियों में आया था जब नूंह निवासी विनोद  कुमार उर्फ पप्पी की पलडी रोड़ स्थित फलोर मील से पुलिस ने करीबन तीन सौ सरकारी गेहूं के कटटे बेचते हुए पकडे गए थे। इस मामले में पुलिस ने विनोद कुमार कनफेड के स्टाक कीपर व ठेकेदार सहित कई लोगों के विरूद्ध मामला दर्ज किया था। भ्रष्टाचार में संलिप्त विभाग के कई निरीक्षकों को उस समय सलाखों में डाल दिया था। फरवरी २०१२ में भ्रष्टाचार को लेकर खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी मनोज कुमार नूंह को भी तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उससे कई अहम राज उगलवाने में कामयाबी हासिल करते हुए उसे सलाखों में भेज दिया था। १३ जुलाई २०१६ को खानपुरघाटी के दो व्यक्तियों की सूचना पर सीआईए पुलिस ने गेंहू से भरे एक ट्रेक्टर ट्राली को अवैध तरीके से ले जाते हुए पकड़ा था। जिसे नगीना पुलिस ने पूछताछ करने पर छोड़ दिया। जिसका मामला हाईकोर्ट तक पहुंचा और हाईकोर्ट ने १९ अक्टूबर २०१६ को उपायुक्त मेवात को निर्देश जारी करते हुए तीन महीनें में मामले की जांच पूरी करने के आदेश जारी किए थे। इसके बावजूद खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में भ्रष्टाचार का मामला बजाये थमने के पैर पसारता ही जा रहा है।

भ्रष्टाचार की वजह से गरीब लोग अधिकारियों के शोषण का शिकार हो रहे है। चौकी प्रभारी सब इंसपेटर बच्चू सिंह ने बताया कि पुलिस ने विभाग के निरीक्षक के ब्यान पर विभिन्न धाराओं के तहत राशन को खुर्दबुर्द करने का मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया की पकडे गए आरोपियों से पूछताछ के पशचात बड़े सैकंडल का पर्दाफाश होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। इस मामले में जिसकी भी संल्पिता होगी उसे बख्शा नहीं जायेगा। खाद्य एंव पूर्ति निरीक्षक तावडू इरशाद ने  बताया की उसके क्षेत्र में यह गेंहू अवैध तरीके से पहुंचा है। यह गेंहू फिरोजपुर नमक नूंह डिपो धारक जुबैर का है। जिसने इसे गांव सुनारी के इमरान को बेच दिया। इस मामले को लेकर पुलिस को शिकायत दे दी गई है। पुलिस व विभाग द्वारा मिलकर इस मामले में कार्रवाई की जायेगी जो भी इसमे दोषी होगा उसके विरूद्व कड़ी कार्रवाई होगी। 

Friday, January 13, 2017

मेवात में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं , जरुरत है उन्हें तराशने की : डॉक्टर हनीफ कुरैशी  

मेवात में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं , जरुरत है उन्हें तराशने की : डॉक्टर हनीफ कुरैशी  

यूनुस अलवी, मेवात: मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज पल्ला की और से पांच दिवसीय स्पोर्ट्स मीट का आयोजन किया गया जिसमे क्रिकेट और वालीबॉल खेलों को शामिल किया गया ।

शुक्रवार  को स्पोर्ट्स मीट का समापन  हुआ जिसमे फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर व सी इ ओ हरियाणा वक्फ बोर्ड डॉक्टर हनीफ कुरैशी बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे और उन्होंने खिलाड़ियों को मैडल और मोमेंटो देकर सम्मानित किया। पांच दिन से चल रही खेल प्रतियोगिता की क्रिकेट के खेल में ब्लॉक एजुकेशन नूह ने पैराडाइस स्कूल को हराकर ट्रॉफी पर  कब्ज़ा जमाया वहीँ वॉलीबॉल प्रतियोगिता के मुकाबले में उमरा के अवाम एजुकेशन ट्रस्ट ने निरंकारी स्कूल को हराकर कब्ज़ा जमाया ।

इस खेल प्रतियोगिता में क्रिकेट की बारह और वॉलीबॉल की आठ टीमों ने भाग लिया।

खिलाडियों को इनाम वितरित करने के बाद कमिश्नर हनीफ कुरैशी ने अपने संबोधन में कहा की हमको अधिकतर एकल खेलों की बजाय ग्रुप खेलों की और ज्यादा ध्यान देना चाहिए क्योंकि ग्रुप खेलों में आपसी भाईचारा प्यार मोहब्बत और खेल भावना बढ़ती है। उन्होंने कहा सभी खेल हमें बराबरी का सबब देतें हैं वहीँ हर खेल एक मकसद सिखाता है। खेल शारीरिक स्वस्थ के लिए जहाँ अच्छा होता है वहीँ आज खेल प्रोफेशनल बन चुके हैं। जहाँ सरकार खिलाडियों को नौकरियां भी प्रदान करती हैं वहीँ उनकी एक अलग पहचान होती है। उन्होंने कहा मेवात के युवाओं  को अगर सुविधा सहयोग और सही मौका मिले तो ये अंतररास्ट्रीय स्तर पर पहचान आसानी से बना सकते हैं क्योंकि मेवात में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा हरियाणा  वक्फ बोर्ड ऐसे खेलों को बढ़ावा देने के लिए आगे भी कोशिस जारी रखेगी।


कॉलेज के निदेशक डॉक्टर प्रोफेसर मुमताज़ अहमद खान ने कहा की उनके कॉलेज की ये हाल में ये पहली प्रतियोगिता थी। जिस तरीके से यहाँ के स्थानीय लोगों खास तोर से पल्ला के सरपंच फारुख और इलाके के प्रमुख लोगों ने जो सहयोग और साथ दिया इसके उनका होंसला और बढ़ा है। अब उनके कॉलेज ने निर्णय लिया है ऐसी प्रतियोगितएँ हर  वर्ष शुरू  की जायँगी। इस बार केवल क्रिकेट और वॉलीबॉल  को शामिल किया गया था अगली बार इसमे कई खेलों को भी शामिल क्या जायगा। वहीँ प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी टीमों  के खिलाडियों की  जमकर तारीफ करते हुए कहा की उन्होंने सही मायने में खेल को खेल की भावना के साथ खेल है ।

वहीँ विशेष अतिथि मेवात पुलिस कप्तान कुलदीप सिंह ने खेल में भाग लेना वाले सभी खिलाडियों को मुबारकबाद देते  हुए कहा की खेल में कोई हार जीत नहीं होती बल्कि आदमी हारकर भी जीतता है क्योंकि हारने वाला अगले खेल के लिए दिलों जान से मेहनत करता है। उन्होंने कहा मेवात इंजीनियरिंग में खेले गए पांच दिवस्य प्रतियोगिता मैं सभी खिलाडियों ने आपसी भाईचारे की एक मिशाल कायम की है।

इस मोके पर हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड के अधिकारी इम्तियाज़ खिज़र, डॉक्टर मुहम्मद फारुख, पल्ला के सरपंच फारुख,मुहम्मद  इक़बाल,वसीम अकरम , नसीम अहमद , आकिब जावेद , डॉक्टर खालिद, डॉक्टर शमशाद  अली , फारिश, साहीन, शेर जंग , जाकिर इंजीनियर ,कायम , मुस्ताक गौरव मौजूद रहे। 
अपनी जमीनों को  जीपीएस तकनीक मे दर्ज करेगा  हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड : डॉ. हनीफ कुरैशी  

अपनी जमीनों को  जीपीएस तकनीक मे दर्ज करेगा  हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड : डॉ. हनीफ कुरैशी  

यूनुस अलवी, मेवात: हरियाणा वक्फ बोर्ड अपनी सारी जमीन को जल्दी ही जीपीएस सिस्टम के साथ जोड़ देगा साथ ही वक्फ बोर्ड की जमीन पर अवैध कब्जे धारकों और कई कई सालों से किराया ने देने वालों का सर्वे कराने ले लिए एक कमिश्नर नियुक्त किया गया है जो करीब 8 माह में अपनी रिपोर्ट विभाग को सौंप देगा। ये जानकारी हरियाणा वक्फ बोर्ड के सीईओ और फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर हनीफ कुरैशी ने शुक्रवार को मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज में पत्रकारवार्ता के दौरान दी। शुक्रवार  को वह स्पोर्ट्स मीट के समापन के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि आये हुए थे।

   फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर व सीइओ हरियाणा वक्फ बोर्ड डॉक्टर हनीफ कुरैशी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा की हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड अपनी प्रॉपर्टी को जीपीएस तकनीक में दर्ज करने की तैयारी कर रहा है। जिस से बस एक क्लिक में सारी जमीन की जानकारी ली जा सकेगी।  अभी तक  अम्बाला और यमुना नगर की वक़्फ़ संपत्ति को इस तकनीक से ऑनलाइन दर्ज किया जा चूका है और फरीदाबाद की संपत्ति के लिए भी तैयारी पूरी हो चुकी है।

  हरियाणा वक्फ बोर्ड की जमीनों पर अवैध कब्जों के बारें में पूछे गए सवाल के जवाब मे उन्होंने कहा की भारत सरकार और हरियाणा सरकार ने मिलकर एक कमिश्नर सर्वे की मंजूरी दे दी है जो 6 से 8 महीनों में रिपोर्ट सबमिट कर देगा।  सर्वे की रिपोर्ट आने के बाद अवैध कब्जों की जानकारी मिल सकेगी। उसके बाद ही ऐसे अवैध कब्जे धारियों के खिलाफ सख्ती से निपटा जाये। वही काफी समय से बिना किराया अदा किये वक्फ की जमील पर बैठे लोगो को भी बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा के ऐसे लोगो की जानकारी जुटाई जा रही है। उसके बाद उनसे किराया वसूलने का अभियान शुरू किया जायेगा और जो किराया नहीं देगा उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई कि जायेगी। उन्होंने कहा कि वक्फ बोर्ड की जमीन को किसी भी कीमत पर खुर्द बुर्द होने नहीं दिया जायेगा।
  इस मौके पर मेवात पुलिस कप्तान कुलदीप सिंह, वक्फ बोर्ड ले प्रसासनिक अधिकारी इम्तियाज़ खिज्र, कॉलेज निदेशक मुमताज़ और असिस्टेंट प्रोफेसर वसीम अकरम सहित कई प्रमुख लोग मौजूद थे।

Tuesday, January 10, 2017

सड़क हादसे में पुलिस के लांगरी की मौत

सड़क हादसे में पुलिस के लांगरी की मौत

यूनुस अल्वी. मेवात : नुहं-पलवल रोड पर गांव सलंबा के पास एक व्यक्ति की अज्ञात वाहन से टकरा कर मौत हो गई। मृतक नुहं खंड के गांव आल्दुका का रहने वाला था । मृतक नानक मेवात जिला के अरावली पहाड़ में बनी पुलिस चौकी में लांगरी का काम करता था। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। और अज्ञात वाहन की तलाश शुरू कर दी है।

नानक आज सवेरे अपने गांव आल्दुका से मोटरसाइकिल पर सवार होकर चौकी पर जा रहा था, जब वह गांव स्लंबा के नजदीक पहुंचा तो अज्ञात वाहन ने उस को टक्कर मारकर फरार हो गया । आज सुबह गांव के कुछ लोगों ने रास्ते में सड़क के किनारे पड़े शव की जानकारी पुलिस को दी। गांव सलम्बा निवासी बुरहान का आरोप के किं पुलिस करीब 2 घण्टे देरी से पहुंची। जबकि पुलिस को 100 नम्बर फोन कर दिया था।
कांग्रेस कहती है नोटबंदी से 90% जनता दुखी, जनता कहती है झूंठी है कांग्रेस

कांग्रेस कहती है नोटबंदी से 90% जनता दुखी, जनता कहती है झूंठी है कांग्रेस

यूनुस अलवी. मेवात, 10 जनवरी: नोटबंदी के बाद से ही विपक्षी पार्टियां सरकार को घेर रहीं हैं । कांग्रेस का कहना है नोटबंदी से गरीब बहुत परेशान हैं जबकि ऐसी ख़बरें सोशल मीडिया पर पब्लिश की जातीं हैं लोग लोग या गरीब भी बोलते हैं हम नहीं सिर्फ कांग्रेस सत्ता के लिए परेशान है ,,कांग्रेस खुद नोटबंदी से परेशान हैं जनता का सहारा ले रही है । हो सकता है लोग सच बोलते हों क्यू की नोटबंदी के बाद कई राज्यों के चुनावों में कांग्रेस की बड़ी हार हुई जबकि भाजपा की बड़ी जीत जारी है । लोग कहते हैं झूंठी है कांग्रेस ,,एक दिन पहले फरीदाबाद की जनता ने भी भाजपा को जिताकर यही सन्देश दिया । 

 नोटबंदी को लेकर कल  मेवात जिला मुख्यालय पर कांग्रेस पार्टी की महिला विंग द्वारा जोरदार प्रदर्शन किया गया जिसमे महिला कांग्रेस की जिला अध्यक्ष मोहम्मदी बेगम ने भाजपा की केंद्र सरकार को जमकर निशाने पर लिया। इस प्रदर्शन में कांग्रेस पार्टी के सैंकड़ों महिला कार्यकर्ताओं ने धरना दिया और भाजपा सरकार पर नोटबंदी को लेकर जमकर भड़ास निकली। इसके बाद चौधरी मोहम्मदी बेगम की अगुवाई में पूरे नूह शहर में इस फैसले के खिलाफ जलूस निकाला व् रोष प्रदर्शन किया। महिलाओं ने बर्तन पीट पीट कर विरोध जताया।

   कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अख्तर काटपुरी ने कहा की नोटबंदी के दौरान 50 दिनों में 115 से अधिक निर्दोष लोगों की जाने गयी और 27 लाख लोग बेरोजगार हो गए। आर बी आई और भाजपा सरकार ने 70 बार से ज्यादा नोटबंदी पर अपने ही फैसलों को बदला है, जो उनकी की गई तैयारियों की पोल खोलता है।

   कांग्रेस पार्टी के युवा जिला अध्यक्ष मुबारिक खान ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि 24 हजार करोड़ रुपया सिर्फ नोट बन्दी के फैसले को लागू करने में खर्च हो गया। ये किसका पैसा खर्च हुआ सिर्फ जनता का ,नोटबंदी कर मोदी जी ने सिर्फ अपनों का फायदा किया। लोग आज भी लाइन में खड़े हैं, 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया लेकिन इससे 27 लाख लोग बेरोजगार हो गए। आरबीआई कोई भी जानकारी आरटीआई से नहीं दे रहा है कि किस बैंक को कितना पैसा गया और किसके द्वारा निकाला गया ,किस एटीएम् में कितना पैसा डाला गया और कितना निकाला गया।

   मेवात एस सी सेल जिला अध्यक्ष मदन तंवर ने कहा की पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नोटबंदी को कालाधन वापस आने से जोड़ते हैं  फिर आतंकवाद से , फिर नकली नोट से, फिर प्रधानमंत्री भाग कर कैशलेस इकोनॉमी की तरफ चले जाते हैं । कैशलेस इकोनॉमी से 4-5 कंपनियों को फायदा होगा। कांग्रेस पार्टी भाजपा के आम जन विरोधी व पूंजीपति हितेषी चेहरे को बेनकाब  करेगी।

   कांग्रेसी नेता जक्की सलम्बा ने कहा की नुकसान गरीबों का हुआ, काले धन वाले सब भाग गए, लाइन में एक भी अमीर आदमी नहीं दिखा, लाइन मे गरीब लगे हैं। ये सूट-बूट की  सरकार का जन विरोधी काम है। दरअसल नोट बंदी आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला है। यह स्कीम काला धन या भ्रष्टाचार कम करने के लिए नहीं बल्कि  रुपये लूटने के लिए लायी गयी है।उन पैसों से सरकार अरबपतियों का 7 लाख करोड़ रुपया माफ कर देगी। यह धोखा है और पूरे देश को बेवकूफ बनाया जा रहा है।

अरशद चेयरमैन टाई ने कहा की नोटबंदी भारत के गरीब किसान मजदूर छोटे व्यापारी के लिए एक सर्जिकल स्ट्राइक की तरह है जिससे उन पर मुसीबतों का पहाड़ टूट गया है। पुरे देश में लगभग दो महीने बाद भी आर्थिक आपातकाल जैसे हालात है। नोटबंदी आज़ाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला है । नोटबंदी से हुए नुकसान का मुआवजा भाजपा सरकार को देना चाहिए ।आज देश नोटबंदी के फैसले से सो साल पीछे चला गया है।

   कांग्रेसी नेता शोकत कुरैशी ने कहा की नोटबंदी की वजह से देश में अफरा तफरी माहौल है लोगों के पास रोटी सब्ज़ी ,बच्चों के दूध लाने, बीमारों के इलाज तक के पैसे नहीं हैं।

Saturday, January 7, 2017

सर्दी बढ़ी तो सेवा भारती ने डीसी के हाथों 5200 जरूरतमंद लोगों को बांटे कपडे

सर्दी बढ़ी तो सेवा भारती ने डीसी के हाथों 5200 जरूरतमंद लोगों को बांटे कपडे

यूनुस अलवी पुन्हाना:  पिनगवां कि सामाजिक संस्था सेवा भारती कि ओर से जरूरत मंदो को 5200 जोडे कपडे वितरित किये। इस मौके पर पिनगवां पंचायत भवन के प्रांगण आयोजित समारोह मेंं जिला उपायुक्त नूंह मनीराम शर्मा ने बतौर मुख्य अतिथि भाग लिया। वहीं गौशाला मरोड़ा के लिए 11 हजार रूपये की सहयोग राशि दी गई।

   जिला उपायुक्त मनीराम शर्मा ने सेवा भारती संस्था कि जमकर तारीफ की। डीसी ने कहा कि मेवात इलाके में और भी कई कस्बे हैं लेकिन पिनगवां जैसा दानवीर कस्बा उन्होने नहीं देखा। उन्होने कहा कि वह कस्बा पिनगवां में कई बार आ चुके हैं। यहां के लोग गरीब लोगों कि बंटियों कि शादी कराने, रक्तदान करने आदि में सबसे आगे रहते हैं।

उन्होने कहा कि कस्बा पिनगवां के लोगों कि तरह सभी को जरूरतमंदों  की सेवा एवं सहयोग के लिए आगे आना चाहिए।  उन्होने कहा कि इसी वजह से उन्होने जिले में नेकी की दीवार की स्थापना की है जिससे जरूरतमंदों की सेवा में लोग अपनी हिस्सेदारी कर सकें। नेकी कि दिवार में मेवात जिले के पुन्हाना, पिनगवां, फिरोजपुर झिरका, नगीना के लोगो के अलावा इस जनसेवा में राजस्थान के कस्बो से भी लोग सहयोग में बढ़ चढ़कर भाग ले रहे है। पिनगवां की सेवा भारती संस्था द्वारा चलाये जा रहे सभी कार्य सराहनीय है साथ ही आज इतनी भारी मात्रा में जरुरतो मंदो को कपडे वितरित कर संस्था सदस्यों ने मानवता का परिचय दिया है।

डीसी ने कहा कि सर्दी में कपड़े और जूते आदि की आवश्यकता सभी लोगो को होती है। काफी जरूरतमंद लोग अपने लिए इन सामानों को बाजार से खरीद कर पहन नहीं पाते, इसलिए ऐसे जरूरतमन्द लोगो की सेवा के लिए अपने पुराने कपडे या जूते देकर उनका सहयोग करे। ऐसे सामान आप लोगो के लिए भले ही पुराने हो लेकिन जरूरतमंद लोगो के लिए वे नए के समान जरूरत पूरा करती है। उन्होंने कहा कि  यह सामाजिक कार्य है।

   सेवा भारती संस्था के प्रधान फूलचंद सिंगला ने कहा कि देश भर में लगभग एक लाख पचहत्तर हजार संस्थाये कार्य कर रही है। जिसमे पिनगवां में भी ऐसी संस्था है जिसके अंतर्गत गौ सेवा रथ, सिलाई केंद्र, चिकित्सालय केंद्र, नेत्रदान आदि जनसेवा कार्य किये जाते है। उन्होंने कस्बावासियो के सहयोग से संस्था सभी सामाजिक कार्यो में बढ़चढ़ कर भाग ले रही है।

   इस मौके पर सरपंच संजय सिंगला, भगत राम, धर्मेन्द्र सोनी, नेम चंद, नरेश सिंगला, मनीष सिंगला, रमेश चंद, सरफू, बक्कर कुरैशी, संतराम पटेल, कौशल सिंगला विनोद गौतम सहित काफी सं या में मौजिज लोग उपस्थित थे।

दंबगों ने डीपू होल्डर सहित चार को लाठी डंडो से मारकर घायल किया, एक की हालत गंभीर

दंबगों ने डीपू होल्डर सहित चार को लाठी डंडो से मारकर घायल किया, एक की हालत गंभीर

यूनुस अलवी, मेवात, 7 जनवरी: जिला के गांव मालब में बिना लाईन के राशन ने देने पर दो दर्जन दबंगों ने एक डीपू होल्डर और उसे बचाने वाले चार लोगों की लाठीं डंडो से जमकर पिटाई कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। एक ही हालत गंभीर बनी हुई है जिसे दिल्ली रेफर किया गया है बाकी का इलाज नूंह के शहीद हसनखां मेडीकल कॉलेज में चल रहा है। पीडित ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिये पुलिस में शिकायत दे दी है लेकिन देर शाम तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया है।

    मामला गांव मालब का है, जहां बृहस्पतिवार कि शाम गांव का डीपू होल्डर लियाकत खान बीपीएल परिवार और एपीएल परिवार के लोगों को अपने ही घर पर राशन बांट रहा था। डीपू होल्डर लियाकत खान ने बताया कि वह पिछले दो दिन से लोगों को सरकारी राशन बांट रहा था। लोग अपना राशन तसल्ली से ले सकें इस वजह से उसने लोगों कि लाईन लगाई हुई थी। इसी दौरान शाम करीब चार बजे उनके ही गांव निवासी हनीफ, इरफान, मुस्ताक आदी अपना राशन लेने के लिये आये। उन्होने आते ही अपनी दबंगगीरी दिखानी शुरू कर दी और लाईन में लगे लोगों से पहले राशन देने कि जिद करने लगे।

   लियाकत का कहना है कि उसने बिना लाईन के उनको राशन देने से मना कर दिया। उसके बाद आरोपी तेश में आ गये और उसके साथ मारपीट कर चले गये। लेकिन कुछ ही देर बाद आरोपी हनीफ, इरफान सहित करीब 20-25 लोग हाथों में लाठी-डंडे, फर्से और कुलहाडी आदी हथियारों से लैस होकर आ धमके। आरोपियों ने आते ही उसके और वहां खडे लोगों के साथ मारपिटाई करनी शुरू कर दी जिसमें शकील, रफीक, सलीम और लियाकत सहित कई को चोटे आई हैं जिसमें शकील कि हालत गंभीर बनी हुई है जिसे दिल्ली रेफर कर दिया गया है। इसके अलावा बिक्री के आये करीब 28 हजार रूपये भी आरोपी लूट कर चले गये। इसके बाद सूचना देने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई थी, समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया।

  आकेडा चौका प्रभारी दयाचंद ने बताया कि घायलो के ब्यान लिये जा रहे हैं जल्द ही मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाऐगा।

Wednesday, January 4, 2017

ढोंगी समाजसेवियों से बहुत परेशान हैं यहां के लोग

ढोंगी समाजसेवियों से बहुत परेशान हैं यहां के लोग

मेवात युनुस अलवी : मेवात के समाजसेवियों पर एक नज़र:---

मेवात में अपने आप को समाजसेवी कहने वालों में राजनीती का चस्का लगा हुआ है। ये समाजसेवियों में कई किस्म के समाजसेवी हे जैसे एक किस्म तो ये हे की वो एक ही पार्टी को समर्पित है एक वो केटेगरी के जिनका कोई जमीर ही नहीं वो हर नेता की स्टेज पर पहुंच जाते हे। ये माना जाये की मेवात में समाजसेवियों के नाम पर एक ढोंग रच रहे हे। आज से मैने मेवात के किसी भी आदमी को समाजसेवी लिखने से परहेज कर दिया है।

रेक्विस्ट :---अगर मेवात में कोई ऐसा समाजसेवी हो जो किसी नेता या पार्टी का गुलाम या चस्का लेने वाला ने तो महारम्बानी करके अपना नाम बातये।

समाजसेवियों से मेवात हो रहा है बदनाम:--
मेवात में कई मुद्दे आये जब किसी मामले को उठाया तो एक समाजसेवी बनकर उठाया लकीन बाद में वो ही राजनेताओं के इशारे पर चलने लगे और राजनीतिक हो गए। इसलिए अब किसी को भी समाजसेवी कहते शर्मा आती है।

गिरवां में झांको:---
मेवात में अपने आप को समाजसेवी अपनी गिरवां में झांकर देखे किया मेने गलत लिखा। किया तुम राजनेताओं के पिल्ला नहीं हो। किया तुम नेताओ के गुलाम नहीं हो। किया तुम राजनीती प्रोग्राम में नेताओं के माइक नहीं सम्भालते। झांको अपनी अपनी गिरवांन में।

ज़रूरत है समाजसेवियों की:
किया मेवात की धरती पर ऐसे भी युवा या लोग हे जो राजनीति से हटकर और राजनेताओं की गुलामी से दूर मेवात के भले के लिए आगे आना चाहते है। अगर हो तो वो अपना व्हात्सप्प नम्बर दो उनका एक व्हात्सप्प ग्रुप बनाता हूँ  जो मेवात के लिए कुछ करने का जज़्बा रखते हो वो हो आगे आये। हाँ ये भी धियान रखे वो ही आगे आगे जो अपना 24 घण्टे समाज के लिए दे सके।

अब यहां आँख नहीं दिखा सकते चोर, उचक्के, बदमाश

अब यहां आँख नहीं दिखा सकते चोर, उचक्के, बदमाश

यूनुस अलवी. मेवात, 4 जनवरी: ग्राम पंचायत पिनगवां, मेवात जिला कि पहली ऐसी पंचायत बन गई है जहां पर चोर, उचक्के, बदमाश आदी अपराधिक किस्म के लोगों पर नजर रखने के लिये उच्च क्वालिटी के 16 सीसीटी कैमरे लगाये गये हैं। इसके अलावा एक डोन कैमरा लगाया गया है। वहीं पुन्हाना-नगीना रोड पर करीब 34 खंबों पर स्ट्रीट लगाई है। पंचायत ने स्ट्रीट लाईट और सीसीटीवी कैंमरों पर करीब 19 लाख रूपये खर्च किये हैं। सीसीटीवी कैंमरों का संचालन पिनगवां पुलिस थाने से किया जा रहा है। दो दिन पहले रेवाडी रेंज कि आईजी ममता सिंह ने सीसीटीवी कैमरा रूम का उदघाटन कर पिनगवां के सरपंच संजय सिंगला कि जमकर तारीफ भी कर चुकी हैं। वहीं सरपंच कि करीब तीन महिने में कस्बा पिनगवां के नेट चलाने वालों के लिये लोगों को मुफ्त में वाईफाई देने कि योजना पर काम चल रहा है।

   कस्बा पिनगवां के युवा शिक्षित सरपंच संजय सिंगला ने बताया कि उन्होने बिना किसी सरकारी मदद के कस्बा पिनगवां के नगीना-पुन्हाना रोड पर 34 खंबे लगाकर स्ट्रीट लाईट लगाकर कस्बे को जगमग करने का प्रयास किया है। वहीं दो खंबों के बीच में एक सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है। इसके अलावा शिकरावा चौक पर घूमने वाला डोन कैमरा लगाया गया है। उन्होने बताया कि सीसीटीवी कैंमरों से जहां कस्बे कि पूरी सडक को कवर किया गया है वहीं सडक से बाजार कि तरफ जाने वाली गलियों पर भी खास ध्यान दिया गया है। कस्बे के अंदर जाने वाली करीब 6 गलियों को भी सीसीटीवी कैंमरों की जद में रखा गया है जिससे बाजार के अंदर वारदात करने वाले अपराधियों का पता चल सके।

   सरपंच ने बताया कि कस्बे में मुफ्त वाईफाई देने कि उसकी योजना है। इसके अलावा कस्बे के अंदर सभी चौहरायों पर सीसीटीवी कैमरे भी तीन माह के अंदर लगाये जाऐगें। उन्होने बताया कि फिलहाल करीब 19 लाख रूपये खर्च किये जा चुके हैं।

   पिनगवां थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने सरपंच द्वारा कस्बे में सीसीटीवी कैमरे लगाने का स्वागत करते हुऐ कहा कि इससे पुलिस को काफी फायदा होगा। कस्बे में वारदातों को आने वाले अपराधियों पर पैनी नजर रखी जा सकेगी। सीसीटीवी कैमरों का संचालन पुलिस थाने से ही किया जा रहा है। जहां पर दो कर्मचारी नजर बनाये रखने के लिये तैनात किये गये हैं। उनका कहना है कि सीसीटीवी कैमरों से लैस मेवात में पिनगवां पहली पंचायत है।

Monday, January 2, 2017

लोगों ने मानी IG की बात, बंद किया लड़ाई झगड़ा, दो थानों में सिर्फ 1 केस

लोगों ने मानी IG की बात, बंद किया लड़ाई झगड़ा, दो थानों में सिर्फ 1 केस

यूनुस अलवी मेवात, 2 जनवरी:  मेवात इलाके में नये साल के अवसर पर वजूद में पिनगवां और बिछौर थानों में दो दिन के अंदर केवल एक ही मुकदमा दर्ज किया गया है। जहां पिनगवां में अवैध शराब रखने का मामला दर्ज हुआ है वहीं बिछौर थाने में दो दिन के अंदर कोई मुदमा दर्ज नहीं हो सका है। दोनो थानों में केवल एक ही मुकदमा दर्ज होने से लगता है रविवार को रेवाडी रेंड कि आईजी ममता सिंह का लोगों से किया गया आहवान असर कर गया है। दोनो थानों का उदघाटन करते वक्त आईजी ने मौजूद लोगों से आहवान किया था कि आपसी मामलों को थाने में लाने कि बजाये बिरादरी के तौर पर सुलझाने का प्रयास किया जाना चाहिये।

   पिनगवां थाना प्रभारी कुलदीन सिंह ने बताया कि पहले जनवरी कि शाम गुप्त सूचना के आधार पर कस्बा पिनगवां के वार्ड नंबर 19 में अवैध शराब बैच रहे साजिद पुत्र शौकत को गिरफ्तार किया गया है वहीं आरोपी के कब्जे से 98 देशी शराब के पव्वे बरामद किये हैं। वहीं बिछौर थाना प्रभारी ने बताया कि दो दिन के अंदर उनके थाने में कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है।