Showing posts with label Mewat News. Show all posts
Showing posts with label Mewat News. Show all posts

Friday, February 24, 2017

फर्जी डिग्री पर सरपंच बन गई ये महिला, अब जा सकती है जेल

फर्जी डिग्री पर सरपंच बन गई ये महिला, अब जा सकती है जेल

स्टार हरियाणा ( बिलाल अहमद)नूह मेवात 24 फरवरी: नूह जिले के उपमंडल फिरोजपुर झिरका में फर्जी मार्कशीट के आधार पर सरपंच का चुनाव लड़ कर सरपंच बनी खेडला कला गांव की सरपंच राजबाला सहित तीन के खिलाफ पुलिस ने अदालत के आदेश पर  मामला दर्ज कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार खेडला कला गांव की बीरमति पत्नी दाताराम ने उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी अमित गौतम की अदालत में इस्तगासा दायर कर कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में 17 जनवरी 2016 को कराए गए सरपंच के चुनाव में उनके गांव की राजबाला पत्नी रामअवतार ने भी सरपंच का चुनाव लड़ा था। प्रदेश सरकार द्वारा सरपंच के चुनाव लड़ने के लिए निर्धारित की गई शैक्षणिक योग्यता के आधार पर राज बाला ने आठवीं पास का स्थानांतरण प्रमाण पत्र लगाया जो उसने बिल्कुल फर्जी वह साज बाज कर राजस्थान के तिजारा के पटेल उच्च माध्यमिक विद्यालय में बना हुआ दिखाया जो की पूरी तरह से फर्जी है ।

 याचिकाकर्ता वीरमति ने कहा कि उसने सूचना के आधार के तहत राजबाला सरपंच द्वारा लगाए गए इस आठवीं पास स्थानांतरण प्रमाण पत्र की सूचना अधिकार के तहत ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी तिजारा से जानकारी मांगी। उन्होंने जांच कर जानकारी प्रदान की थी राजबाला द्वारा सरपंच के चुनाव के लिए लगा गया आठवीं कक्षा पास का स्थानांतरण प्रमाणपत्र तिजारा के पटेल उच्च माध्यमिक विद्यालय से जारी नहीं किया गया अदालत में दायर याचिका में वीरमति ने आरोप लगाया कि सरपंच राज बाला ने आठवीं पास के स्थानांतरण प्रमाण पत्र को गांव के ही इतवारी पुत्र संपत तिजारा स्कूल के संचालक से साज बाज होकर बनवाया है।

वीरमति द्वारा याचिका पर अदालत ने संज्ञान लेते हुए खेडला कला की सरपंच राजबाला इतवारी पुत्र संपत निवासी खेडला कला संचालक पटेल उच्च माध्यमिक विद्यालय तिजारा के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए 156/ 3 में पुलिस थाने में भेज दिया है। अदालत के आदेश पर पुलिस ने खेडला कला गांव की सरपंच राजबाला, इतवारी, एवं स्कूल संचालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। थाना प्रबंधक फिरोजपुर झिरका का कहना है कि अदालत के आदेश पर खेड़ला शाहपुर गांव की सरपंच राजबाला, इतवारी पुत्र सम्पत,राजस्थान  तिजारा के पटेल उच्च माध्यमिक विद्यालय के संचालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Thursday, February 23, 2017

दो परिवारों का बोझ उठा सकती है शिक्षित बेटी, राकेश जैन

दो परिवारों का बोझ उठा सकती है शिक्षित बेटी, राकेश जैन

स्टार हरियाणा  (बिलाल अहमद)नूह मेवात। नूंह जिले के फिरोजपुर झिरका  श्री शांति सागर जैन कन्या महाविद्यालय परिसर में कालेज में सांस्कृतिक व शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदश्रन करने को लेकर श्री शांति सागर जैन कालेज के अध्यक्ष राकेश जैन ने कालेज व स्कूल की लगभग 130 छात्राओं को सम्मानित कर बेटी बचाओ, बेटी पढाओ के पारे का सार्थक करने का काम किया है। श्री शांति सागर जैन कालेज के अध्यक्ष राकेश जैन ने कहा कि आज वो समय आ गया है कि बेटे से तेज बिटिया हो रही है। चाहे पढाई का मामला हो या खेल कूद का हर मामलेमें महिला आगे बढ रही है।  उन्होंने कहा कि एक बेटी दोपरिवारों को शिक्षित करती है। हर अभिभावक का पूरा फर्जबनता है कि वो बेटी व बेटे में कोई फर्क नही करें ओर दोनों को समान शिक्षा दे ताकि समाज उन्नित के रास्ते पर आगे बढ सकें। प्रदेश सरकार भी इलाके में शिक्षा के स्तर को आगे बढाने के लिए पूरा प्रयास कर रही है।

अध्यक्ष राकेश  जैन ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढाओं  के  नारे को स्थानीय जैन कन्या महाविद्यालय पूरी तरह सार्थक कर रहा है। आर्चाय श्री शांतिसागर महाराज की प्रेरणा से बने इस कालेज ने इलाके में महिलाओं का सिर गर्व से उठाने का काम किया है।  आज नगर के हर घर की बेटी व इलाके की बेअी को उच्च शिक्षा के लिए घर से  बाहर नही जाना पड़ता कालेज प्रबंणक कमेटी ने बेटियों कीशिक्षा का सारा इंतजाम इसी कालेज परिसर में कर दिया हैजिससे आज इलाके में नारी शिक्षा के दार में काफी सुधारहुआ है वो दिन दूर नही जब इलाके की पढी लिखी बेटी प्रदेश के उच्च पदों पर आसीन होकर प्रदेश व देश की सेवा करेंगे। कालेज समिति ने कालेज में गत वष में सांस्कृतिक व शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली कालेज व जैन पब्लिक स्कूल की लगभग  130 छात्राओं को कालेज प्रबंधक कमेटी ने आज कालेज का नाम रोशन करने वाली छात्राओं को सम्मान्नित किया। इस अवसर पर सुरेश चंद जैन सर्राफ, मुरारी लाल जैन,हेमन्त जैन, सतीश जैन,  कस्तूर जैन,  अनिल जैन, विनय तिवारी, देदत मिश्र, राम जी तिवारी , सुमन चुटानी, गौरव जैन महासचिव सहित काफी संख्या में संस्था के पदाधिकारी व् कालेज की छात्राएं मौजूद थी।
दूध, घी के नाम पर पिलाते हैं जहर, निर्दोषों की जिंदगी से खेल रहे हैं मिलावटखोर

दूध, घी के नाम पर पिलाते हैं जहर, निर्दोषों की जिंदगी से खेल रहे हैं मिलावटखोर

स्टार हरियाणा ( बिलाल अहमद) नूह मेवात: एसडीएम फिरोजपुर-झिरका अनीस यादव के नेतृत्व में सिविल अस्पताल अल-आफिया के साथ चल रही राहुल दूध की डेयरी पर छापा मार कर उसे सील किया गया है। दूध का सेंपल जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजा गया है। बुधवार को एस डी एम अनीश यादव, फूड एंव ड्रग इंस्पेक्टर आर एस ढ़ाणीवाल,उप सिविल सर्जन डा0 कौशिक की टीम ने राहुल डेयरी से दूध का सेंपल लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया है।

 डा0 कौशिक ने बताया कि इस डेयरी पर मिलावटी दूध का कारोबार करने की शिकायत एसडीएम अनीश यादव को कई दिनों से मिल रही थी। उन्होंने बताया कि मंगलवार शाम को डेयरी पर आने वाले दूध सहित डेयरी को सील किया गया था। लेकिन फूड एंड ड्रग इंस्पेक्टर ढ़ाणीवाल के मौजूद न होने के कारण दूध का सैंपल नहीं लिया गया था। उन्होंने बताया कि जिले में बनावटी दूध का कारोबार बड़े पैमाने पर  फैला हुआ है। मिलावटी दूध यंहा से बड़े शहरों को भेजा जाता है। जिससे निर्दोष लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। कौशिक ने बताया कि पूरे जिले में आगे भी डेयरियों के दूध के सैंपल लेने की कार्यवाही जारी रहेगी। दूध के सैंपल फैल पाए जाने पर फूड़ सेफटी एक्ट के तहत कार्यवाही की जाएगी।
चार छोरों ने यूपीएससी परीक्षा पास कर किया नाम रोशन तो खुशी से झूम उठा मेवात

चार छोरों ने यूपीएससी परीक्षा पास कर किया नाम रोशन तो खुशी से झूम उठा मेवात

यूनुस अलवी, मेवात:  मेवात जिला के दो अध्यापको के बेटों सहित चार युवाओं ने यूपीएससी परीक्षा पास कर मेवात का नाम रौशन किया है। इससे पहले भी मकसूद खान और राकेश आर्य यूपीएससी कि परीक्षा पास कर आईपीएस बन चुके हैं। एक साथ चार युवाओं द्वारा परीक्षा पास किये जाने से मेवात में खुशी कि लहर है।

   प्राप्त जानकारी के अनुसार पुन्हाना खंड के छोटे से गांव फलैंडी निवासी अध्यापक जाकिर हुसैन के बेटे तसलीम अहमद, गांव आकेडा निवासी अध्यापक आस मोहम्मद के बेटे इरशाद खान के अलावा धौज गांव के राकिब हुसैन और रूंध गांव के जब्बार खान ने यूपीएससी की परीक्षा पास कर मेवात का नाम रौशान किया है। इरशाद खान आकेडा ने एमटेक में रोहतक यूनिवर्सिटी से टोप किया था। वहीं तसलीम अहमद ने पंजाब यूनिवर्सिटी से बीटेक की हुई है। तसलीम अहमद के पिता अध्यापक जाकिर हुसैन और इरशाद खान के पिता अध्यापक आस मोहम्मद ने बताया कि उनके बेटों ने यूपीएससी कि परीक्षा पास कर जहां उनके होंसलों को एक नई उडान दी है वहीं उन्होने मेवात का नाम रौशन किया है। उन्होने बताया कि उनके बच्चों में टेलेंट कि कोई कमी नहीं है। उनको पूरा भरोसा है कि उनके बेटे इंट्रव्यू में जरूर पास होकर उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगें।

     मेवात इलाके के उमर मोहम्मद पाडला, मुबारिक नोटकी, मकसूद शिकरावा, मुबीन तेडिया, संजय सिंगला सरपंच पिनगवां, मनीष जैन फिरोजपुर झिरका, रजमान चौधरी ऐडवोकेट, महमूदुल हसन ऐडवोकेट, शौकत ऐडवोकेट ने मेवात के चारों युवाओं को मुबारकबाद देते हुऐ कहा कि मेवात के इन चारों सपूतों ने मेवात के सूखे को कम करने कि कोशिश की है। उनका कहना है कि अब से पहले मेवात इलाका आईएएस और आईपीएस के लिये तरसते थे लेकिन मेवात के फिरोजपुर झिरका निवासी राकेश आर्य ने सबसे पहले मेवात का पहला आईपीएस बनने का गौरव हासिंल किया उसके बाद मकसूद अहमद ने पहले मुस्लिम आईपीएस बनकर मेवात का नाम रौशन किया। उन्होने कहा कि अब से पहले मेवात के युवा जज, एसडीएम और कई अधिकारी बनकर मेवात का नाम रौशन कर चुके हैं। उन्होने चारों युवाओं को दुआऐ देते हुऐ उम्मीद लगाई कि चारों बच्चे इंट्रव्यू में पास होकर मेवात का नाम रौैशन करेगें।

Wednesday, February 22, 2017

आग बुझाने वाला दमकल विभाग पूरी तरह से सुस्त

आग बुझाने वाला दमकल विभाग पूरी तरह से सुस्त

स्टार हरियाणा न्यूज़ (बिलाल अहमद)नूह मेवात।22फरवरी 2017. नूह जिले में आग की घटनाओं पर काबू पाने के लिए दमकल विभागकतई तैयार नहीं है। जान जोखिम में डाल कर आग की घटनाओंपर काबू करने वाले दमकल कर्मियों की कोई सुध लेने वालानहीं है। जिले में अगर कोई बडी आगजनी की घटना घटित हुईतो सिस्टम आपकी उम्मीदों पर खरा उतरने वाला कतई नहीं है। चंद नियमित और दर्जनों कॉन्ट्रैक्ट आधार पर लगे कर्मचारी तो चुस्त और दुरुस्त हैं ,लेकिन दमकल की गाड़ियों से लेकर अन्य सुविधाएं दुरुस्त नहीं हैं। हद तो तब हो गई जब आग बुझाते समय दमकल कर्मी आम साधारण व्यक्ति की तरह दिखाई देते हैं। उसकी मुख्य वजह से अलगसे पहचान रखने वाली खाकी वर्दी। कई सालों से बेचारे कर्मचारियों को नगर पालिका नूंह प्रशासन ने वर्दी तक नहीं दी है। वेतन कम तो मिलता ही है ,वह भी समय पर नहीं मिलता। कॉन्ट्रेक्ट के आधार पर नोकरी पाने के लिएभी सफेदपोशों की सिफारिश से लेकर जेब तक गर्म करनी पड़ती है। दमकल विभाग नूंह पूरी तरह राम भरोसे है। नूंहशहर में दमकल की गाड़ियों में पानी भरने की व्यवस्था नहीं होने के चलते उन्हें करीब 20 किलोमीटर दूर से पानी लाना पड़ता है।

अब आप सहज अंदाजा लगा सकते हैं कि आगजनी की कोई बड़ी घटना नूंह शहर या अन्य इलाके में होती है ,तो एक घण्टे से पहले गाड़ी पानी भरकर नहीं लौटसकती। नगर पालिका नूंह में लगे कॉन्ट्रेक्ट आधार के बाबू और नियमित कर्मचारियों से लेकर सेवानिवृत कर्मचारियों पर तो यहां तक आरोप लगते हैं कि दमकल की गाड़ियां जिन ट्यूबवैलों से पानी भरकर लाती हैं ,उनके भुगतान से उनकी जेब गर्म होती है। यही कारण है कि 2005 में वजूद में आये मेवात जिला मुख्यालय नूंह शहर में दमकल की गाड़ियों को पानी भरने का  कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया। मौजूदा समय में उजीना , मालब , पल्ला , घासेड़ा इत्यादि दूरदराज गांवों से पानी भरकर लाना पड़ता है।क्या है खाका ;-दमकल विभाग नूंह के पास सिर्फ तीन दमकल की गाड़ियां हैं। दमकल की एक गाड़ी की कीमत करीब 30 लाख रुपये है। नूंह में मात्र 2 नियमित कर्मचारीहैं। जिनमें एक चालक और एक फायरमैन है। खास बात यह है कि गाड़ियों को बाहर टीन शेड नहीं होने के कारण खुले आसमान के नीचे खड़ा किया जाता है। गाड़ियां बरसात ,धूप इत्यादि की वजह से जंग खा रही हैं। लाखों की सरकारी सम्पति खराब हो रही है ,लेकिन नगरपालिका से लेकर जिला प्रशासन गंभीर नहीं है।कितनी हुई घटनाएं ;-जिले में गत 6 अगस्त 2006 से 12 अक्टूबर 2016 के बीच करीब दस सालों में आग लगने की 3 हजार से अधिक घटनाएं घट चुकी हैं। इन आगजनी की घटनाओं में करीब 17 लोगों की जान जा चुकी है। इतना ही नहीं करीब 13 लोगों की कुआं या नहर में डूबने से मौत भी हुई है। बात करें नुकसान की तो करोड़ोंरुपये का नुकसान हुआ है। पीड़ित परिवारों को आगजनी की घटनाओं में आर्थिक मदद पहुंचाने की गति भी काफी ढीली है। बात अगर पशुओं की करें तो सैकड़ों बेजुबान पशुओं कीजान आगजनी की वजह से जा चुकी है।
 पानी की परेशानी दूर करने के लिए  DC ने की अधिकारियों संग बैठक

पानी की परेशानी दूर करने के लिए DC ने की अधिकारियों संग बैठक

स्टार हरियाणा  (बिलाल अहमद) नूह मेवात।गर्मी के मौसम में लोगो को ना हो बिजली पानी की परेशानी इसलिए उपायुक्त मेवात निकट भविष्य में बदलते मौसम के दौरान पैदा होने वाले बिजली -पानी के संकट को दूर करने के लिए आज दोनों विभागों के उच्चधिकारियों के साथ जिला उपायुक्त मनीराम शर्मा ने बैठक की। मनीराम शर्मा ने कहा कि गर्मी के मौसम की शुरूवात हो चुकी है।गर्मी के मौसम में बिजली व पीने के पानी का संकट हर वर्ष पैदा होता है। इसलिए आमजन को बिजली व पानी सुचारूरूप र्निबाध पंहुचाने के लिए दोनों विभागों के अधिकारियों के साथ बैंठक की जाएगी।

शर्मा ने बताया कि बैठक में दोनों विभागों के अधिकारियों से बात कर उनके सामने आ रही प्रशासनिक समस्याओं के संबंध में जानकारी प्राप्त करने के बाद समस्याओं को हल करवाने के लिए उच्च स्तर के अधिकारियोंको अवगत कर निदान कराया जाएगा।उन्होंने कहा नूंह जिले की भूमि का जमीनी पानी कड़वा है। जिससे प्यास नहीं बुझाई जा सकती,अधिकांश ग्रामीण अपनी प्यास बुझाने के लिए सरकारी विभाग पर निर्भर रहतेहै। इसके अलावा समय अनुसार गांवों में पानी पंहुचाने के लिए बिजली का होना आवश्यक है। इसलिए दोनों विभागों के अधिकारियों को आदेश दिया जाएगा कि वह गर्मी के मौसम में बिजली व पानी की समस्या पैदा न होने दें ।
वन विभाग के अधिकारी करवा रहे हैं हरे भरे पेड़ों का क़त्ल

वन विभाग के अधिकारी करवा रहे हैं हरे भरे पेड़ों का क़त्ल

बिलाल अहमद, नूह मेवात।22  फरवरी2017: मेवात में अपनढ़ता व जागरूकता की कमी के चलते क्षेत्र से लगते हुए गांवों के लोगों द्वारा हरे-भरे पेड़ों को धड़ल्ले से काटा जा रहा है। लोग इन पेड़ों को ट्रैक्टर-ट्राली में भरकर शहर में अवैध रूप से चल रही आरा मशीनों पर बेच रहे हैं। लोगों ने इसे एक प्रकार का धंधा बना लिया है। सारे मामले की जानकारी रखने के बाद भी वन विभाग किसी भी कार्रवाई से बचता नजर आ रहा है। लोगों की माने तो यह सारा खेल विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से ही चल रहा है, लेकिन कुछ भी अगर इस तरह से क्षेत्र की भूमि से हरे पेड़ कटते रहे तो वो दिन दूर नहीं जब यहां पर रेगिस्तान ही नजर आएगा।

बता दें, कि पुन्हाना सहित आसपास के गांवों से लोग कमाई के लालच में हरे पेड़ों को काट रहे हैं। वन विभाग के कर्मचारियों से लेकर अधिकारी तक की लचर कार्यशैली के चलते अरावली की भी जमकर कोख उजाड़ी जा रही है। लोगों का आरोप है कि प्रतिदिन सुबह से लेकर शाम तक जुरहेड़ा रोड, जमालगढ़ रोड, बड़कली रोड व राजस्थान के गांवों से भी सैंकड़ों ट्रैक्टर-ट्राली चालक पेड़ों को भरकर शहर में अवैध रूप से चल रहे आरा मशीनों पर ले जा रहे हैं, लेकिन कर्मचारी डयूटी के नाम पर केवल खानापूíत तक ही सीमित हैं, उन्हें पर्यावरण से कोई लेना देना नहीं है। जिसके चलते कभी भी वन माफियाओं सहित आरा मशीनों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। किसी दबाव में कार्रवाई भी की जाती है तो नामात्र राशि का जुर्माना लगाकर मोटी रकम ऐंठकर अपनी जेबें गर्म की जाती हैं।

आखिर क्या कहते जिला उपायुक्त।
नूह जिला उपायुक्त मनीराम शर्मा का कहना है कि
क्षेत्र में हरियाली को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह से गंभीर है। इसके बाद भी अगर हरे पेड़ों को काटा जा रहा है तो जल्द ही इसको लेकर पुन्हाना का दौरा कर इससे जिम्मेदार अधिकारियों व कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Tuesday, February 21, 2017

स्ट्रीट लाइट खराब होने से अंधेरे में डूबा रहता है शहर फिरोजपुर झिरका

स्ट्रीट लाइट खराब होने से अंधेरे में डूबा रहता है शहर फिरोजपुर झिरका

स्टार न्यूज़ हरियाणा। (बिलाल अहमद)नूह मेवात। फिरोजपुर झिरका के मुख्य चौक चौराहों पर लगी नपा की स्ट्रीट लाइटें पिछले कई माह से बंद पड़ी हैं। जिससे सांय ढलते ही नगर के चौक चोराहे अंधेरे में डूब जाते है। नगर के दुकानदारों व मौजिज लोगों की बार-बार शिकायत करने के बाद भी नपा के स्ट्रीट लाईट ठीक करने वाले कर्मचारी केवल सामान नही है, का बहाना बनाकर नगर के लोगों को चलता कर रहे है जबकि हर वर्ष नगर के लोगोंसे स्ट्रीट लाईट के रूप में लाखों रूपए का टैक्स वसूलाजा रहा है।  नगर के लोगों  का कहना है कि नपा में तैनात कर्मचारी स्ट्रीट लाईट दिया जा रहा है।  नगर के लोगों का नपा  प्रशासन के प्रति रोष बढता ही जा रहा है।

लोगों  का कहना है कि आगामी ग्रिवेंस की मीटिंग में नपा की स्ट्रीट लाईट के मामले को उठाने के लिए एक प्रतिनिध मंडल जिले में होने वाली मासिक बैठक में जाएगा।ज्ञात हो कि नगर में लगभग 30 हजार की आबादी  है।नगरकी गली मौहल्लों तथा चौक चौराहों पर नपा के सौजन्य से पहले से ही स्ट्रीट लाइटों को लगाया हुआ है लेकिन गत पांच माह से नगर की स्ट्रीअ लाईओं की हालत काफी दयनीय हो गई है।  एक लाईट को खराब होने पर एक महीने का समय  लग रहा है। नपा में तैनात कर्मचारी  केवल सामान नही होने का दुखड़ा रोते है।  जबकि नगर के लोगों का कहना हैकि नपा में केवल एक पार्षद के कहने पर लाईट नगर में लगाई जा रही है।  बाकि के पार्षदों के कहने पर लाइटों की देखने के लिए भी कर्मचारी नही जाते। यही नही नपा केउस पार्षद ने नपा के सामान वाले कमरें की चाबी अपने पास ली हुई है।

नपा में लोगों के कहने पर केवल नपा केअधिकारी व कर्मचारी सामान नही होने का दुखड़ा रोते है। जबकि हर माह नपा में लाईट ठीक करने वाले कर्मचारियों को वेतन दिया जा रहा है ओर नगर के लोगों से अैक्स के रूप में लिया जा रहा है।क्या कहते है नगर के लोग: नगर के  नीरज पाहुजा, सुनीलबंसल, बिरजू गोयल, देवंद्र शर्मा  का कहना है स्ट्रीट लाईटें बंद होने से नगर  चौक चौराहों तथा गली मौहल्लोंमें रात्रि में घोर अंधेरा छाया हुआ है। लाइटों के बंदहोने के चलते आम राहगीर भी खासे परेशान हैं। इसके नगर में अंधेरा रहने से इसके कारण चोरियां होने का खतरा भीबढ़ता जा रहा है। नगर के मौजिज लोगों का कहना है कि जल्द ही एक प्रतिनिध मंडल  जिला उपायुक्त मनीराम शर्मासे बंद पड़ी स्ट्रीट लाइटों को लेकर सारी जानकारी देगा और ग्रिवेंस कमेटी में मांग की जाएगी साथ ही सीएम विंडों में शिकायत लगाकर सामान के खरीद फरोक्त के साथ नई लाईओं के बारें में जानकारी ली जाएगी।

पुलिस भी परेशान :-  स्ट्रीट लाइटें बंद रहने से नगर में रात्रि गस्त के दौरान पुलिस को भी इससे भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। नगर के चौकी प्रभारी राजकुमार का कहना है कि स्ट्रीट लाइटों के बंद रहने सेउनकी पुलिस को रात्रि गस्त करने में परेशानी हो रही है। गली मौहल्लों तथा चौक चौराहों पर अंधेरा होने से संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान करना मुश्किल हो रहा है।क्या कहते है नपा सचिव:इस बारें में नपा सचिव पंकज जून का कहना है कि स्ट्रीट लाइट ठीक करने के लिए पालिका प्रशासन ने ठेका छोड़ा हुआ है।  ठेकेदार अगर नगरमें लाईटों को एक सप्ताह में ठीक नही करता है।  तो इस ठेकेदार को बलैकलिस्ट कर दिया जाएगा। वही नपा के कर्मचारियों को सख्त हिदायत देकर नगर की लाईओं को दुरूस्त कराया जाएगा।
प्रधानमंत्री आवाज योजना, घर दिलाने के नाम पर करने लगे ठगी, कई गिरफ्तार

प्रधानमंत्री आवाज योजना, घर दिलाने के नाम पर करने लगे ठगी, कई गिरफ्तार

स्टार हरियाणा न्यूज़ (बिलाल अहमद) नूह मेवात 21 फरवरी : सोमवार को नूंह की नई धर्मशाला में कॉमन सर्विस सेंटर की आड़ में प्रधानमंत्री आवास योजना 2022 के तहत  सबको घर दिलाने के बदले ठगी करने वाले  गिरोह के 6 सदस्यों को शहर पुलिस ने पूछ-ताछ के लिए हिरासत में लिया है। उक्त सदस्य पिछले कई दिनों से लोगों को ठगी का शिकार बना कर लाखों रूपये कमा चुके है।

   प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त ठग पिछले कई दिनों से नूंह की अग्रवाल धर्मशाला में डेरा जमाए हुए थे। नूंह शहर के हजारों गरीब परिवारों से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर दिलाने के बदले प्रत्येक  सदस्य से 150 रूपये लेकर आधार कार्ड लिंक कर कॉमन सर्विस सेंटर का सर्टिफिकेट देते थे। रजिस्ट्रेशन कराने वाले कुछ लोगों ने इस योजना के बदले पैसे लेने का विरोध किया तो ठगों ने चुपके से उनके पैसे वापिस कर दिए। पैसे वापिस करते ही शहर में ठगों के जाल की खबर आग की तरह फैल गई। प्रत्येक सदस्य पैसे वापिस लेने के लिए ठगों के पास पंहुच गए । 

ठगी के शिकार कुछ लोगों ने प्रधानमंत्री आवास योजनाज के संबंध में स्थानीय जिला प्रशासन से जानकारी लेकर सारे मामले से अधिकारियों को अवगत कराने पर जिला प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तहसीलदार बस्तीराम जांच करने के आदेश दिए गए। बस्तीराम के आदेश पर शहर पुलिस हरकत में आ गई। पुलिस ने आनन,फानन में सभी 6 ठग सदस्यों  को पूछ-ताछ के लिए हिरासत में लिया है। अब तक की पूछताछ में पता चला है। कि उक्त सभी सदस्य गुड़गांवा में कॉमन सर्विस सेंटर चलाते है। नूंह में फर्जी तरीके से पैसा कमाने के लिए आए हुए थे। ठगों ने योजना के अंतर्गत मुफत मकान दिलाने के बदले हजारों गरीब परिवारों से 150 रूपये के हिसाब से लाखों रूपये का चूना लगाया है। पुलिस ठगों के प्रति नरम रूख अपना कर मामलें को रफा-दफा करने में जुटी हुई है।
जिसके घर में शौंचालय नहीं उसे नहीं मिलेगा राशन

जिसके घर में शौंचालय नहीं उसे नहीं मिलेगा राशन

स्टार हरियाणा न्यूज़, (बिलाल अहमद) नूह मेवात 21 फरवरी:  नूह जिले में शौचालय नहीं बनवाने वालों को सरकारी राशन से नहीं दिया जाएगा। ऐसे गरीब परिवारों की पहचान के लिए डिपोंधारक राशन कार्ड पर जिला प्रशासन द्वारा दी गई लाल मोहर का प्रयोग भारत स्वच्छता मिशन को कामयाब बनाएंगे। इस संबंध में सोमवार को जिला उपायुक्त की अयक्षता में ग्रामीण डिपो धारकों के साथ महत्वपूर्ण बैंठक की गई।जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी रामअवतार ने बताया कि आगामी 31 मार्च तक समस्त नूंह जिले को ओ डी एफ बनानेका काम युद्व स्तर पर जारी  है। जिला प्रशासन ग्राम पंचायतों के साथ मिलकर गांव-गांव भारत स्वच्छता मिशन चला रहा है। जिसके प्रशासन को सार्थक परिणाम मिल रहे है। लेकिन कुछ ग्रामीण जिला प्रशासन के सम्पूर्ण स्वच्छता मिशन को कामयाब बनाने में बाधा बने हुए है। 

उन्होंने कहा कि इसलिए जिला प्रशासन खाद्य आपूर्ति विभाग का सहयोग लेकर ग्रामीण डिपो धारकों के माध्यम सेशौचालय न बनवाने वाले गरीब परिवारों की पहचान कर रहा है।रामअवतार ने बताया कि उपायुक्त मनीराम शर्मा ने जिलेके सभी डिपों धारकों को आदेश दिए है। कि डिपों धारकों को जिला प्रशासन की ओर से लाल मुहर दी जाएगी। डिपों धारक शौचालय न बनवाने वाले परिवारों के राशन कार्ड पर पहचान करने के लिए लाल मुहर लगाएगा। लाल मुहर पाए जानेवाले गरीब परिवारों को शौचालय बनवाने तक सरकारी राशन से वंचित रखा जाएगा।उन्होंने बताया कि भारत स्वच्छता मिशन को नूंह जिले में कामयाब बनाने के लिए जिला खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी व कर्मचारी तथा ग्रामीण डिपोंधारक संयुक्त रूप से काम करेंगे।अवतार सिंह ने जिले के सभी डिपो धारकों से कहा कि वह अपने-अपने गांव में सरकारी राशन देते समय खुले में शौच करने वालों को शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित कर उनके घरों में शौचालय बनवाने में सहायता करें। जिससे जिला उपायुक्त का 31 मार्च तक जिले को संपूर्ण ओ डी एफ बनाने का सपना साकार हो सके। इस अवसर पर जिले के अधिकांश डिपोंधारक व खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

Monday, February 20, 2017

ढाई करोड़ में बना बसअड्डा लेकिन बस यहाँ दिखती ही नहीं, टैक्सी वालों ने किया कब्ज़ा

ढाई करोड़ में बना बसअड्डा लेकिन बस यहाँ दिखती ही नहीं, टैक्सी वालों ने किया कब्ज़ा

स्टार हरियाणा (बिलाल अहमद)नूह मेवात। ढाई करोड़ रूपए की लागत से बना फिरोजपुर झिरका का बस स्टैंड़  अब टैक्सी स्टैंड बनकर रह गया है। विभाग के कर्मचारी लोगों को वाहन खड़ा करने के लिए मना करते है तो वो अपनी दबंगई दिखाकर अवेध रूप से  चल रही टैक्सियों  को बस स्टैंड में खड़ा करने के साथ झगड़े पर उतारू हो जाते है।  विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि इस बारें में पुलिस को जानकारी दे दी गई है।ज्ञात हो कि गत 5 माह पूर्व प्रदेश के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने  नगर के ढाई करोड़ रूपए की लागत से बने बस स्टैंड़ का  उद्घाटन किया और इलाके की जनता को समर्पित किया।  वही आज इस बस स्टैंड की हालत ऐसी हो गई है कि यहां पर बस तो कम दिखाई देती है लेकिन अवैध रूप से चलने वाली टैक्सी  अधिक दिखाई देती है जो सारे दिन बस स्टैंड के अंदर खड़ी रहती है। वही विभाग के कर्मचारी व अधिकारियों के मना करने पर भी दबंग किस्म के वाहन चालक विभाग के कर्मचारियों की एक नही सुनते और गाली गुप्तार के साथ विभाग के कर्मचारियों से

बात करते है।आखिर क्या कहते है बस स्टेंड के इंचार्ज।

इस बारें में सुरेश चंद अड्डा इंचार्ज का कहना है कि काफी मना करने के बाद ही अवेध रूप से टैक्सी चलाने वाले दबंग किस्म के वाहन चालक गाली देकर बस स्टैंड के अंदर अपने वाहनों को पार्क करते है और सारे दिन बस स्टैंड पर जुआ खेलते है जिससे सारा माहौल खराब हो रहा है। विभाग के उच्च अधिकारियों कोसारी जानकारी दे दी गई है।
क्या कहते है विभाग के जीएम
इस बारें में विभाग के जीएम एन.के गर्ग का कहना है कि गत दो माह पूर्व लगभग 21 हजार रूपए में पार्किग का ठेका छोड़ा गया था और ठेकेदार ने ठेके की बोली में शर्त अनुसार 18 हजार रूपए जमा कराए थे उसके बाद एक रूपया जमा नही कराया। जिससे उक्त ठेकेदार का ठेका रद्द कर दिया गया है। लेकिन दंबंग किस्म के टैक्सी चालक बस स्टैंड में वाहनों को अब भी पार्क कर विभाग के कर्मचारियों से झगड़े कर रहे है। जिसकी जानकारीपुलिस विभाग को दे दी गई है। जल्द ही पुलिस बल का प्रयोग कर इन्हे खदेड़ा जाएगा।

Sunday, February 19, 2017

खुशपुरी  गांव से पलायन करने को मजबूर है दलित परिवार।

खुशपुरी गांव से पलायन करने को मजबूर है दलित परिवार।

स्टार हरियाणा,बिलाल अहमद,नूह मेवात। नूह जिले के फिरोजपुर झिरका उपमंडल के गांव खुशपुरी में गांव के ही दबंग लोगो द्वारा दलित परिवार के साथ अत्याचार करने का मामला प्रकाश में आया है दलित परिवार के सदस्यों को कहना है कि उनको गांव के ही दबंगों द्वारा इतना परेशान किया जा रहा है कि वह गांव छोड़ने को मजबूर हो रहे हैं दलित परिवार का आरोप है प्रशासन उनकी शिकायत पर गौर नहीं कर रहा है एसडीएम कार्यालय फिरोजपुर झिरका में शिकायत लेकर आए हुए खुश पुरी गांव के दलित परिवार के सदस्य रमेश पुत्र  बुद्ध राम, शीला पत्नी सोराम, अनीता पत्नी लक्ष्मण ने आरोप लगाया कि गांव के कुछ दबंग लोग उनके परिवार को बुरी तरह से परेशान करने के साथ-साथ उन पर अत्याचार कर रहे हैं पीड़ितों ने आरोप लगाया कि गांव खुश पुरी का मौजूदा सरपंच इब्राहिम भी दबंगों के साथ मिला हुआ है ।

उन्होंने उनके मकान को भी जेसीबी से तोड़ने की कोशिश की उन्होंने कहा कि उनके परिवार की एक महिला गांव में रास्तों की सफाई करने का काम करती है ।उसे भी सरपंच हटाने की बार बार धमकी दे रहा है। दलित परिवार का कहना है कि उंहें गांव खुश पुरी मैं बसे लगभग सो वर्ष से ज्यादा समय हो गया उनके बुजुर्ग भी इस जमीन पर रहे हैं ।उन्होंने कहा है की सरपंच के साथ मिलकर गांव के कुछ दबंग लोग उनको गांव से भगाने की साजिश रच रहे हैं ।कई बार पुलिस अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है। लेकिन कोई भी अधिकारी उनकी नहीं सुन रहा है ।इस दलित परिवार ने कहा यदि यही हाल रहा तो वह गांव छोड़ने को मजबूर हो जाएंगे।

आखिर क्या कहते हैं थाना प्रबंधक
नगीना थाना प्रबंधक रामकिशन का कहना है कि खुश पुरी गांव के दलित परिवारों के साथ अत्याचार करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की गई थी दलितों के कुएं के पास बनाए गए टॉयलेट को भी तुड़वा दिया गया था। अब यह मामला पूरी तरह से पार्टीबाजी से प्रेरित है।हारा हुआ सरपंच इनको आगे लाकर राजनीति करने का प्रयास कर रहा है।

Saturday, February 18, 2017

सरकारी स्कूल में लापरवाही से अंधकारमय है छात्रों का भविष्य

सरकारी स्कूल में लापरवाही से अंधकारमय है छात्रों का भविष्य

स्टार हरियाणा , फिरोजपुर झिरका, बिलाल अहमद 18 फरवरी2017 मेवात, फिरोजपुर झिरका खंड के गांव साकरस के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का जनरेटर लगभग चार साल से खराब पड़ा हुआ है।शिक्षा विभाग को शिकायत करने के बावजूद भी यह जनरेटर अभी तक सही नहीं किया गया।जिससे स्कूल के बच्चो व् अध्यापको को काफी समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है।

खास बात ये हे की शिक्षा विभाग ने यह जनरेटर कंप्यूटर की क्लास लगाने व् स्कूल में बिजली आपूर्ति के लिए दिया था।इसका चार साल से खराब होना शिक्षा विभाग की लापरवाही पर सवालिया निशान खड़े करता है।
बच्चो का कंप्यूटर सिखने का सपना पड़ा अंधकार में।

स्कूल का जरनेटर खराब होने से नेनिहालो का कंप्यूटर सिखने का सपना पूरी तरह से अंधकार में जाता महसूस हो रहा है।इसकी खराबी के कारण स्कूल में रखे लाखो रुपये के कंप्यूटर धूल फाँकते नजर आ रहे हैं।

Friday, February 17, 2017

लन्दन के स्वास्थ्य आयुक्त बोले ओह माय गाड, इतना पिछड़ा है मेवात

लन्दन के स्वास्थ्य आयुक्त बोले ओह माय गाड, इतना पिछड़ा है मेवात

यूनुस अलवी, मेवात: लन्दन के स्वास्थ्य विभाग में आयुक्त पद पर कार्यत खुर्शीद आलम शुक्रवार को मेवात जिला के गांव टाईं में पहुंचे। इस मौके पर उन्होने गांव स्कूल, सीएचसी सेंटर का जायजा लिया और लोगों से शिक्षा, स्वाथ्य, रोजगार आदी पर बातचीत की।  खुर्शीद आलम ने अफसोस जताते हुऐ कहा कि देश कि खातिर अंग्रेज और मुगलों से लोहा लेने वाले मेवात इलाके की दशा में कोई सुधार नहीं आया है। एशिया की टॉप सिटी गुडगांव का हिस्सा होने के बावजूद भी मेवात इतना पिछड़ा क्यों रहे गया है। उन्होने कहा मेवात के पिछडेपन के लिये जितनी सरकारें जिम्मेदार हैं उतने ही यहां के लोग है। उन्होने कहा कि आज देश के आज होने के 70 साल बाद भी मेवात के लोगो को पीने का पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि कि सुविधाऐं भी मयस्सर नहीं हैं। खुर्शीद आलम ने कहा वह दूसरी बार मेवात में आया है पिछले कई सालों में मेवात में कोई बदला नजर नहीं आया है। उन्होने कहा कि सिस्टम ही बदनीयती के कारण ही ऐसा हुआ है वरना मेवात के बच्चों में टेलेंट की कोई कमी नहीं है। उन्होने कहा कि यहां के लोगों के लिये वे ही कुछ सोचेगें जिससे समाज की दशा बदल सके और यहां के युवाओ को अपना हुनर दिखाने का मौका मिल सके ।

   उन्होने बताया कि जल्द ही मेवात में काम कर रही सामाजिक संस्था से फीडबैक लेकर ये परखा जायेगा की कोण सही है और वो किस दिशा में काम कर रहा है । उन्होने कहा कि गांव टाई में चल रहे डिजिटल एम्पावरमेंट फाउंडेशन के कार्य को देख कर ऐसा लगा की समाज में तकनीकी शिक्षा की दूसरी तरह की शिक्षाओ कि तरह ज्यादा जरुरत है।

    गांव टाई के सरपंच ने कहा कि मेवात में एक यूनिवर्सिटी की बेहद ज्यादा जरुरत है जिससे युवाओं को उच्च स्तरीय शिक्षा मिल सके। अधिवक्ता ताहिर हुसैन सिकरावा ने कहा कि मेवात के स्कूलों में अध्यापकों की बड़ी कमी है जिसके लिए मेवात के कुछ स्कूलो को गोद लेकर उनको इस काबिल बनाये जाऐ कि वे मेवात का नाम रौशन कर सकें। मो आरिफ ने कहा कि उनके गांव में चल रहे डिजिटल सेंटर कि वजह से उनके गांव टाई व् अन्य गांवों की तकनिकी समस्याओ को काफी हद तक कम हुई है।

   इस मौके पर मास्टर फ़जल, अधिवक्ता प्रेम , मो ओसामा , सरपंच टाई फकरुद्दीन, ठेकेदार ताहिर हुसैन, पूर्व सरपंच मोहम्दी के लड़के जफ़र हुसैन, सीआईआरसी सेण्टर के ट्रेनर साबिर हुसैन, वसीम, पूर्व ब्लॉक समिति सदस्य सूबेदार टाई व् अन्य जिम्मेदार ग्रामीण मौजूद थे ।

खट्टर ने छीन लिया हरियाणा के लाखों  गरीबों से राशन, कांग्रेस करेगी प्रदर्शन

खट्टर ने छीन लिया हरियाणा के लाखों गरीबों से राशन, कांग्रेस करेगी प्रदर्शन

यूनुस अलवी , मेवात: मेवात जिला के कीब 50 हजार लोगों को खाद्दय एंव आपूर्ति विभाग ने अपनी लापरवाही कि वजह से राशन से वंचित कर दिया है। इतना ही नहीं हरियाणा में लाखों ऐसे लोग हैं जिनको राशन प्रणाली कि ओर से मिलने वाला राशन नहींं दिया जा रहा है। ये आरोप कागे्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व परिवहन मंत्री आफताब अहमद ने शुक्रवार को अपने निवास पर एक पत्रकारवार्ता में लगाये। आफताब अहमद का कहना है कि हरियाणा सरकार ने सभी लोगों का राशन कार्ड ऑन लाईन कराने के आदेश दिये थे लेकिन मेवात के करीब 50 हजार लोगों के नाम ऑन लाईन नहीं हो सके हैं और सरकार ने ऑन लाईन कि प्रक्रिया को बंद कर दिया है। उन्होने उधारण के तौर पर पिनगवां कस्बे के आलम खान के खानदान का जिक्र करते हुऐ कहा कि उनके खानदान में एक परिवार है उनके राशन कार्ड बने हुऐ हैं लेकिन उन राशन कार्डो को ऑन लाईन ना किये जाने कि वजह से अब खाद्दय एंव अपूर्ति विभाग ने उनको राशन देना बंद कर दिया है। पूर्व मंत्री ने चेतावनी देते हुऐ कहा कि अगर सरकार ने तुरतं सभी लोगों के राशन कार्डो को ऑन लाईन कर उनको राशन देना शुरू नहीं किया तो कांग्रेस सरकार सडकों पर उतरकर लोगों को हक दिलाने का काम करेगी।
  हरियाणा कांग्रेस पार्टी के प्रदेश उपाध्य्क्ष व पूर्व मंत्री चौधरी आफ़ताब अहमद ने कहा की 2013 में कांग्रेस पार्टी ने

लोगों को सस्ती दर पर पर्याप्त मात्रा में उत्तम खाद्दान उपलब्ध कराने के

लिए राष्ट्रीय खाद्द सुरक्षा अधिनियम  की शुरुआत की थी जो दुनिया का भूख

से लड़ने का सबसे बड़ा कार्यक्रम था।  लेकिन आज प्रदेश की भाजपा सरकार अपनी

गलत नियत और गलत नीति के कारण मेवात के गरीब परिवारों के मुँह का निवाला

छीन रही है ।

 मेवात जिले में लगभग पचास हज़ार गरीब लोग ऐसे हैं जो सरकार की गलत नीयत

के कारण राशन मिलने के लाभ से वंचित हो गए हैं  क्योंकि प्रशासन और सरकार

ने उन्हें ऑनलाइन फीड ही नहीं किया हैं । बता दें की भाजपा सरकार ने राशन

कार्डों को ऑनलाइन करने के लिए दो निजी संस्थाओं को पांच रूपये प्रति

राशन कार्ड के हिसाब से ठेका दिया था।  लेकिन समस्या ये हुई की अगर

परिवार में दस लोग हैं तो सिर्फ दो लोगों को ही ऑनलाइन डाटा में शामिल

किया है और सैंकड़ों परिवारों का तो एक भी सदस्य ऑनलाइन फीड नहीं किया गया

है।  अब उनको प्रदेश सरकार और प्रशासन  राशन मुहैय्या नहीं करा रही है

जिसकी वजह से गरीब लोगों की आर्थिक स्थिति पर गहरा प्रभाव पड़ रहा है।

जिसे कांग्रेस पार्टी हरगिज़ बर्दास्त नहीं करेगी ।

 मेवात में ऐ ऐ वाई, बी पी एल, ओ पी एच के अन्तर्गत लगभग डेढ़ लाख

कार्डधारक हैं लेकिन सरकार की लापरवाही के कारण लगभग पचास हज़ार लोग

ऑनलाइन फीड नहीं किये गए जिसके कारण उन्हें राशन नहीं मिल रहा हैं ।


पूर्व मंत्री चौधरी आफ़ताब अहमद ने कहा की भाजपा सरकार ने ढाई साल में कोई

जनहित का काम नहीं किया बल्कि कांग्रेस की हुड्डा सरकार की योजना और

परियोजनाओं के नाम व जगह बदल कर प्रदेश की जनता को  गुमराह करना चाह रही

हैं।  कांग्रेस ने मेवात में इतने काम किये की मौजूद भाजपा सरकार उनका

उद्घाटन भी नहीं करवा व रही हैं।  मेवात में अभी भी दो बहुतकनीकी संसथान,

पांच आई टी आई संसथान आरोही मॉडल स्कूल, तावड़ू बस अड्डा, आरोही मॉडल

स्कूल जैसी परियोजनाएं जो पूरी हो चुकी हैं उनसे भी मेवात की जनता को

सरकार ने  जानभूझकर महरूम रख रखा है।


पूर्व मंत्री चौधरी आफ़ताब अहमद ने प्रदेश की खट्टर सरकार को चेतावनी दी

की ऑनलाइन फीडिंग पर लगी रोक को हटा कर सरकार तुरंत फीडिंग  की प्रक्रिया

शुरू करे, राशन कार्ड से वंचित लोगों को राशन कार्ड मुहैय्या कराये जाएँ

, ताकि समाज के सबसे कमजोर और गरीब आदमी तक इसका फायदा पहुच सके और अगर

सरकार नहीं मानी तो कांग्रेसी सड़कों पर उतर कर गरीब लोगों की लड़ाई को जी

जान से लड़ेंगे ।

इस दौरान hpcc सदस्य महताब अहमद, अख्तर चंदेनी,नईम इक़बाल, शरीफ अड़बर, अंजुम ज़िला पार्षद, मक़सूद शिकराव।, तैयब हुसैन खेड़ा,अरशद टाई चेयरमैन, राजू पार्षद, शमशु रहना, हमीद सलम्बा, मुबीन युथ कांग्रेस, अयूब खान सेहरावत, इख्लास उर्फ़ इक्का, सहाबुद्दीन कारका, सईद एड्वोकेट आकेड़ा, अयूब धीरणकी, इनाम कुरैशी, इल्यास सालाहेड़ी, जगदीश खेड़ा खलीलपुर, खालिद टाई, नसीम चंदेनी, मम्मन सरपंच, जक्की सरपंच, आलम पिनगवां, नसीम बंधोली युथ कांग्रेस, इम्तियाज़ nsui, हाजी बशीर सालाहेड़ी, उस्मान सत्पुतियाका, रफीक गंगवानी, यासीन बड़वा, हाजी जमील कारिका, गुड्डू पहलवान, हनीफ सुडाका आदि कांग्रेसी नेता व् कार्यकर्ता सैकड़ो की तादाद में मौजूद थे।

Wednesday, February 15, 2017

बंगलादेश जैसा गरीब मुल्क ओडीएफ बन सकता है तो हिंदुस्तान क्यों नहीं? डा. कलमकार

बंगलादेश जैसा गरीब मुल्क ओडीएफ बन सकता है तो हिंदुस्तान क्यों नहीं? डा. कलमकार

यूनुस अलवी. मेवात: बंगला देश को शतप्रतिशत ओडीफ(खुले में शौचमुक्त) करने पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका के देशो को ओडीएफ बनाने कि मुहिम में जुडे तथा ‘‘समुदाय संचालित सम्पूर्ण स्वच्छता’’(सीएलटीएस) संस्था के फाउंडर गोल्ड मेडलिस्ट डाक्टर कलमकार ने कहा कि खुले में शौचमुक्त बनाने कि मुहिम से मेवात के उलेमा और मस्जिदों के इमामों के जुड जाने से मेवात जल्द ही शौचमुक्त हो सकेगा। उनका कहना है कि मेवात जिला में करीब 8 हजार मस्जिदें हैं। उन्होने कहा बंगला देश, इंडोनेशिया, पाकिस्तान और अफ्रीकी देश सुडान सभी में ओडीएफ कि मुहिम से इमामों के जुडने से ही कामयाबी मिली है। मस्जिदों के इमाम चाहें तो मेवात कि 13 लाख कि आबादी को तीन महिने में ही ओडीएफ बनाया जा सकता है। उन्होने जमियते उलेमा हिंद तंजीम की उस पहल का स्वागत किया है जिसमें इमामों ने बिना शौचालय वाले दुल्हा-दुल्हन का निकाह ना पढाने का पैंसला लिया है।

  डाक्टर कलमकार ने कहा कि जब बिना अनुदान दिये बंगलादेश जैसा गरीब मुल्क ओडीएफ बन सकता है तो हिंदुस्तान क्यों नहीं बन सकता। उनका कहना है कि हिंदुस्तान में 63 करोड खुले में शौच जाते हैं जबकि 95 करोड लोगों के पास स्मार्ट फोन हैं क्या ये लोग अपने घर में शौचालय नहीं बना सकते हैंं। उन्होने कहा सरकार को शौचालयों पर दी जाने वाली सहायता तुरंत बंद कर देनी चाहिये। उन्होने कहा कि खुले में शौच जाने कि वजह से देश में हर घंटे में 35 से 40 लोगों कि डाईरिया से मौत हो जाती है।

     जमियते उलेमा हिंद की नोर्थ जोन(हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और चंदीगढ) के सदर मोलाना याहया करीमी ने कहा कि उनकी तंजीम पहले से जिन दुल्हा-दुल्हनों के घर में शौचालय नहीं हैं उनका निकाह ना बढाने का फैंसला ले चुकी है। खुले में शौच मुक्त बनाने के लिये उनकी तंजीम पहले हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और चंदीगढ में मुहिम चलाऐगी उसके बाद इस मुहिम को पूरे देश में शुरू किया जाऐगा। उनका कहना है कि इस मुहिम में मेवात कि आठ हजार मंजिदों के इमाम केवल निकाह ने पढाने तक ही सीमित नहीं रहेगें बल्कि मस्जिद के नजीद लगने वालें घरों में शौचालय बनाने, सफाई अभियान, नशा मुक्त अभियान और डीजे-नाच गाना बजाने का अभियान भी चलाऐगें। उनका कहना है कि जिस तरीके से मेवात के इमाम और उलेमा इस मुहिम का सहयोग कर रहे हैं उससे लगता है कि मेवात जल्द ही इन बुराईयों से दूर होगा।

 वहीं मोलाना शेर मोहम्मद अमीनी का कहना है कि इसलाम धर्म के पैगंबर हजरत मुहम्मद साहब ने साडे चौधह सौ साल पहले सफाई का हुक्म दिया है। जिनमें से घरों में शौचालय बनाने और सफाई का आदेश दिया था। उनका कहना है कि इसलाम धर्म में सफाई को आधा इमान कहा गया है।

   मेवात उपायुक्त मणि राम शर्मा ने उलेमा और मसिदों के इलामों की पहले का स्वागत करते हुऐ कहा कि अब इसलाम धर्म के उलेमाओं कि तरफ हिंदु समाज के धर्म गुरूओं को भी आगे आना चाहिये जिस तरीके से इमामों ने बिना शौचालय वाले दुल्हा-दुल्हनों का निकाह ने बढाने का फैंसला लिया है ऐसे ही हिंदु धर्म के पंडितों को फैंसला लेना चाहिये कि जिस घर में शौचालय ना हो उनके फैरे ना कराये जायें।

   ‘‘समुदाय संचालित सम्पूर्ण स्वच्छता’’(सीएलटीएस) संस्था कि ओर से मेला मुक्त मेवात बनाने के 13 से 17 फरवरी तक नूंह में पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला कि शुरूआत कि गई। इस मौके पर जिले के अधिकारी, मस्जिदों के इमाम, कई सस्थाओं के सदस्यों के अलावा जमियते उलेमा हिंद के नोर्थ जोन के सदर मोलाना याहया करीमी, मोलाना शेर मोहम्मद अमीनी, डीसी मणिराम शर्मा, मध्यप्रदेश के पूर्व चीफ सैक्ट्री दीपक शरण, एडीसी नरेश कुमार नारवाल सहित काफी प्रमुख लोग मौजूद थे।

Sunday, February 12, 2017

लगा पंचायत का ठप्पा,  बिना शौचालय के दूल्हा-दुल्हन को निकाह नहीं पढ़ाएंगे काजी

लगा पंचायत का ठप्पा, बिना शौचालय के दूल्हा-दुल्हन को निकाह नहीं पढ़ाएंगे काजी

यूनुस अलवी, मेवात:  शादी में डीजे बजाने, शराब पीकर बारात में आने और जिन घरों में शौचालय नहीं उन दूल्हा-दुल्हन का निकाह ने पढाने का फैंसला लेने वाली तंजीम जमीयते उलेमा हिंद के नोर्थ जोन (हरियाणा, पंजाब, चंदीगढ और हिमाचल प्रदेश) के सदर मोलाना याहया करीमी ने पुन्हाना के 110 गांवों के इमामों की बेठ के बाद अब इस फैंसले को इलाके के पंच, सरपंच, नंबरदार और प्रमुख लोगों के सहयोग से लागू कराने कि रविवार को खंड के गांव बीसरू से शुरूआत कर दी है। गांव बीसरू के गर्ल मिडिल स्कूल में डैमरोत पाल के आठ से अधिक गावों के प्रमुख लोगों कि पंचायत आयोजित कि गई। पंचायत कि अध्यक्षता मोलाना याहया करीमी ने की। पंचायत में आये सभी लोगों ने जमीयते उलेमा हिंद द्वारा उठाये गये कदम की जमकर सराहना की और डैमरोत गौत्र के सभी गावों कि ओर से पूरा सहयोग करने का भरोसा दिलाया।

  पंचायत में पुन्हाना खंड के गांव बीसरू, रावलकी, रहीडा, फरदडी, नाटोली, पैमाखेडा, गोविंसपुर और नहारपुर सहित कई अन्य गावों के प्रमुख लोगो ने भाग लिया। इस मौके पर गांव बीसरू निवासी इब्राहीम इंजिनियर, डाक्टर अजीज, मास्टर उमईया, हाजी सुलेखा, कारी अबदुल सुलेमान और मोलवी अबुदल सुभान ने कहा कि जमीयते उलेमा हिंद तंजीम का यह बहुत ही अच्छा कदम है। उनके सभी गांव इसका पूरा सहयोग करेगें। उन्होने भरोसा दिलाया कि उनके गांव में सभी घरो में शौचालय बनवाऐ जाऐगे तथा उनके गांव से जो बारात जाऐगी या बारात आऐगी उनमें किसी को भी नाचगानें और डीजे बजाने कि कोई इजाजत नहीं होगी और जिस बारात में बाराती शराब पीकर आऐगें उस बारात को उनके गांव बिना निकाह के ही बारात वापिस कर देगें। उन्होने कहा कि उनके गांव में आने वाले या जाने वाले दूल्हा-दुल्हन के घरों में शौचालय की तस्दीक होने के बाद ही निकाह बढाने कि इजाजत दी जाऐगी।

  लोगों का कहना है कि जमीयते उलेमा हिंद कि इस पहल से समाज में शराब और नाच गावों में पाबंदी लग सकेगी। वहीं खुले में शौच जाने के समय होने वाले हादसों और बिमारी में ही काफी कमी आऐगी।

 जमीयते उलेमा हिंद के नोर्थ जोन (हरियाणा, पंजाब, चंदीगढ और हिमाचल प्रदेश) के सदर मोलाना याहया करीमी ने बताया कि जिस तरीके से लोगों में उत्साह देखने का मिल रहा है। उनको पूरी उम्मीद है कि उनकी तंजीम का मिशन पूरी तरह कामयाब होगा। करीमी का कहना है कि वह सबसे पहले पुन्हाना खंड के 110 गावों में इस मिशन को कामयाब करेगें उसके बाद ही जिले के दूसरे खंडो में बेठकों के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाऐगा।

 इस मौके पर गांव बीसरू निवासी इब्राहीम इंजिनियर, डाक्टर अजीज, मास्टर उमईया, हाजी सुलेखा, कारी अबदुल सुलेमान और मोलवी अबुदल सुभान, तौसीफ खान सहित काफी प्रमुख लोग मौजूद थे।

Saturday, February 11, 2017

डबल मर्डर व डबल गैंगरेप मामले में आरोपी संदीप के पिता की हत्या से सनसनी

डबल मर्डर व डबल गैंगरेप मामले में आरोपी संदीप के पिता की हत्या से सनसनी

Murder-in-Mewat-Haryana
यूनुस अलवी, मेवात: मेवात के डिगरहेड़ी डबल मर्डर व डबल गैंगरेप मामले में आरोपी संदीप निवासी गावं मोहम्मदपुर अहीर नंदूकी ढाणी के पिता रामनिवास का शुक्रवार सुबह सडक़ किनारे खून में लथपथ हालत में शव मिलने  से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पीडि़त परिजनों का आरोप है की हत्या करने के बाद शव को सडक़ किनारे फेंका गया है। नाराज ग्रामीणों ने रोड़ को जाम कर दिया। सूचना मिलते ही तावडू थाना प्रभारी व डीएसपी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। मामले की गंभीरता को समझते हुए एसएसपी मेवात कुलदीप सिंह व उपायुक्त मनीराम शर्मा भी मौके पर पहुंच गए और नाराज ग्रामीणों को समझाते हुए निष्पक्ष जांच करने का भरोसा दिलाते हुए जाम खोलने व शव को पोस्टमार्टम कराने का आग्रह किया। मगर नाराज ग्रामीण आईजी ममता सिंह के मौके पर आकर पीडि़त परिजन को न्याय दिलाने व जेल में बंद आरोपियों की रिहाई की मांग करते हुए शव को उठाने व जाम खोलने से इंकार कर दिया। मगर देर शाम मामले में आठ नामजद लोगों के विरूद्व हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज होने के बाद सुबह ९ बजे लगाया गया जाम एसएसपी व उपायुक्त के आशवाशन पर करीबन ६ घंटे बाद खोलते हुए ग्रामीणों ने शव को पोस्टर्माटम के लिए उठा लिया। जाम के कारण वाहन की लंबी कतार लग गई। इसके कारण चालकों व आम लोगों को भारी परेशानी से जूझना पड़ा।

शुक्रवार सुबह नंदू की ढाणी निवासी भूपङ्क्षसह (दूधिया) ने तावडू-मोहम्मदपुर अहीर सडक़ पर सडक़ किनारे रामनिवास का शव पड़ा देखा। जिसके शौर मचाने पर घटना स्थल पर मृतक के परिजन व भारी तायदाद में आसपास के ग्रामीण एकत्रित हो गए। नाराज ग्रामीणों ने जाम लगा दिया। सूचना मिलने पर तावडू थाना प्रभारी व डीएसपी पुलिस बल के साथ मौके पहुंच गए। जिन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। मगर ग्रामीणों ने आई जी के मौके पर पहुंचने की मांग करते हुए शव का पोस्टमार्टम कराने से मना करते हुए जाम खेलने से मना दिया है। मृतक के परिजन अनिल, नरेश, मेहन्द्र, बाली , लीलू आदि का आरोप है की गांव डिगरहेड़ी निवासी डा० समसूदीन व उसका एक अन्य साथी गुरूवार रात करीबन ८ बजे गांव मोहम्मदपुर से रामनिवास को अपनी बाइक पर बैठाकर अपने साथ लेकर गए थे। जिन्होंने रामनिवास को नंदू की ढाणी से करीबन एक किलोमीटर पहले उतार दिया। इसके बाद देर रात तक जब रामनिवास घर नहीं पहुंचा, तो परिजनों ने उसे तलाश किया। मगर उसका कोई अता पता नहीं चला। सुबह गांव के दूधिया भूप सिंह ने रामनिवास का शव को सडक़ के किनारे खून में लथपथ हालत में पड़ा देखा। पीडि़त परिजनों का आरोप है की रामनिवास की हत्या को अंजाम देने के बाद शव को ढाणी के निकट सडक़ किनारे फैंका गया है। मृतक के पीडि़त पुत्र अनिल का कहना है की ९ फरवरी को हर रोज की भांति सुबह १० बजे के करीब उसका पिता गांव मोहम्मदपुर अहीर गया था। देर शाम जब वह घर नहीं लोटा तो उसे ढूढने के लिए वह गांव में गया।  पूछताछ करने पर नरेश व राजकुमार निवासी गांव मोहम्मदपुर अहीर ने बताया की उसके पिता को समसू पुत्र बसीर दीन व सुक्का निवासी गांव डिगरहेड़ी मोटर साइकिल पर ८:३० बजे बैठाकर लेकर गए थे। मगर उसका पिता घर नहींं पहुंचा। पीडि़त ने बताया की  शुक्रवार सुबह ७ बजे गंाव के एक व्यक्ति ने बताया की उसके पिता रामनिवास का शव ढाणी के निकट रोड़ पटरी के साथ मृत अवस्था में पड़ा है। पीडि़त का आरोप है की उसके पिता रामनिवास की हत्या में समसूदीन, नियामत पहलवान ,जुहरूदीन, फारूख, फकरू , सुक्का व फाटे निवासी गांव डिगरहेड़ी व अल्ली मोहम्मद निवासी कलियाकी थाना तावडू शामिल है।  पुलिस ने मृतक के पुत्र अनिल के ब्यान पर  हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत उक्त लोगों के विरूद्व हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
आईजी रिवाड़ी रेंज ममता सिंह का कहना है की नंदू की ढ़ाणी का मामला दुखद घटना है। कानून व्यवस्था को किसी भी सूरत में नहीं बिगडऩे दिया जायेगा। पुलिस मामले की जांच में जुटीं है। मामले में संल्पित को नहीं बख्शा जायेगा।

एसएसपी मेवात कुलदीप सिंह का कहना है की मामले की निष्पक्ष जांच की जायेगी। किसी नाजायज को तंग नहीं किया जायेगा और दोषी को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा जो घटना हुई है वह दुखद घटना है।
उपायुक्त मनिराम शर्मा का कहना है की जिन शरारती तत्वों ने भाईचारे को खराब करने का जो प्रयास किया है। उसे छोड़ा नहीं जायेगा जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन मामले में पूरी तरह नजर बनाए हुए है। जल्द ही इस मामले के दोषियों की पहचान कर उन्हें सख्त सजा दिलायेगी। ग्रामीण व पीडि़त परिवार की मृतक के अंतिम शंस्कार में आरोपी संदीप की पैरोल पर उन्होंने कहा की न्यायलय में अर्जी लगाकर कार्रवाई की जाए। नियमाानुशर प्रशासन मदद करेंगा।

Friday, February 10, 2017

मेवात में बड़ा लफड़ा, देखें तस्वीरें, जाने अब क्यू उठा DC पर सवाल

मेवात में बड़ा लफड़ा, देखें तस्वीरें, जाने अब क्यू उठा DC पर सवाल

यूनिस अलवी, मेवात: वही डेगेरहेड़ी, जगह भी कमोबेश वही,  अधिकारी भी वही, बदली तो सिर्फ  जाति । आज से 6 महीना पहले ऐसी डेगेरहेड़ी हे एक दम्पति की हत्त्या होती है, दो बेटियों की इज़्ज़त लूटी जाती है और चार लोगो को एडमरा क्र दिया जाता है। लेकिन मेवात के डीसी साहेब मणिराम शर्मा 3 दिन तक परिवार को सांत्वना देने तक नहीं पहुँचते हे। और 3 दिन बाद भी जाते हे तो एक मंत्री के साथ प्रोटोकॉल को पूरा करने की हैसियत से।


  आज उसी जगह एक आदमी की मौत हो जाती है अब कारण किया है ये तो जाँच में ही पता चलेगा लकिन मृतक के परिवार वाले हत्ता बता रहे हे जबकि दूसरा पक्ष सड़क हादसा करार दे रहा है। कुछ भी हो एक आदमी की मौत हुई है। मेवात के डीसी मणि राम शर्मा बिना कोई देरी किये सुब्हे 8-9 बजे पहुँच जाते हे वहां केई घण्टे बिताते हे। जब एक पक्ष पर हत्ता का मामला दर्ज हो जाता है तभी वहां से साहेब चलते हे। जबकि डबल मर्डर में 302 की धारा भी चेनल पर न्यूज़ चलने के बाद ही लगाई गई थी।
 आखिर मेवात के लोग मेवात के डीसी मणिराम शर्मा को अल्पसंख्यक विरोधी कहते हे तो उनकी बात में दम लगता है। कियोकि डबल मर्डर और डबल गैंग रेप में नहीं जाते और आज पहुंच जाते हे।


मुस्लिम समाज का बड़ा फैसला, जिसके पास शौंचालय नहीं होगा वहाँ निकाह नहीं  पढ़ाएंगे काजी

मुस्लिम समाज का बड़ा फैसला, जिसके पास शौंचालय नहीं होगा वहाँ निकाह नहीं पढ़ाएंगे काजी

यूनुस अल्वी , मेवात: जिन दुल्हा और दुल्हनों के घरों मेंं शौचालय नहीं और अपनी शादी में डीजे बजाने का मन बना चुके हैं तथा दोस्त कि बारात में शराब पीकर मस्ती करने का इरादा है, वे अपना इरादा बदल दें नहीं तो पुन्हाना खंड के 110 गावों के काजी(इमाम) दुल्हा-दुल्हन का निकाह नहीं पढाऐगें। इस बात का फैंसला बृहस्पतिवार को जमीयते उलेमा हिंद हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और चंडीगढ़ के आहवान पर गांव तिरवाडा में आयोजित बेठक में पुन्हाना खंड के 110 गावों कि मस्जिदों के हजारों इमामों ने सामूहिक रुप से लिया है। इस मौके पर मेवात और देश में अमन-भाईचारा कायम करने के लिये सभी उलेमा और इमामों ने मिलकर दुआ मांगी।


    जमीयते उलेमा हिंद हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और चंडीगढ के सदर मोलाना याहया करीमी ने बताया कि इसलाम धर्म हो या हिंदु धर्म सभी में शराब को बुरा माना गया है। सारी बुराईयों कि जड शराब ही है जिसकी वजह से आपस में झगडे होते हैं यहां तक कि बहुत से परिवार तो शराब कि वजह से खत्म हो गये हैं। इसके अलावा इस्लाम धर्म में नाच-गानें को बुरा माना गया है। उन्होने कहा कि इसलाम धर्म में सफाई को आधा इमान कहा गया है और खुले में शौच करने को मना किया गया है। महिलाओं के खुले में शौच के लिये जाने से बेपदर्गी और बेहयाई होती है।


  उन्होने बताया कि जमीयते उलेमा हिंद हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और चंडीगढ़ के पदाधिकारियों ने बृहस्पतिवार को पुन्हाना खंड के 110 गावों के करीब 1200 इमामों के साथ एक बेठक आयोजित की है। तीनों मसलों पर सभी इमामों और उलेमाओं की राय मांगी गई सभी ने इस पर पाबंदी लगाने पर अपनी सहमति दी है। उन्होने कहा कि सभी मस्जिदों के इमामों, मोलवियों, काजियों ने फैंसला लिया है कि जिस दूल्हा और दुल्हन के घर में शौचालय नहीं होगा या फिर कोई बाराती शराब पीकर आऐगा और बारात में नांच-गाना या डीजे बजाऐगा उसका पुन्हाना खंड के 110 गावों के काजी निकाह नहीं पढाऐगें। उन्होने बताया कि शौचालयों से सम्बंधित मामले पर गांव के सरपंच से लिखवाकर लाने पर ही दूल्हा-दुल्हल का निकाह पढाया जाऐगा।

 इस मौके पर मौलाना तैयब हुसैन, मुफ़्ती सलीम, मोलाना मजीद सिंगारिया, मोलाना अबदुल रहमान, कारी मोहम्मद अली, कारी मोम्मद असलम, मोलाना जफरूदीन, मोलाना सरफूदीन, महमूद सरपंच तिरवाडा, मुफ्ति रिजवान, मोलाना तौफीक, मोलाना उसमान, मोलाना मुनव्वर हुसैन, मोलाना तैयब हुसैन, हाफिज इरफान, हाफिज मोहम्मद हारिश, मोलाना मोहम्म्द साबिर, मोलाना मोहम्मद सफी, मोलाना जफरूदीन, मुफ्ति मोहम्मद यूसुफ और मोलाना जमशेद सहित काफी उलूमा और इमाम मौजूद थे।



पंचाययत के फैंसले का युवाओं ने किया समर्थन

युवा मोईन खान, मोहम्मद खुर्शी का कहना है कि उलेमाओं ने जो फैंसला लिया है यह काबिले तारीफ है। वे इस फैंसले का दिल से समर्थन करते हैं। उनका कहना है कि जिन युवाओं कि शादी होने वाली है भले ही ये फैंसला उनको बुरा लगे लेकिन इसके बहुत फायदे होंगें क्योंकि आजकल युवा नशे के जाल में फंसता जा रहा है।


ये फैंसला चार राज्यों लागू कराऐगें



   जमीयते उलेमा हिंद के पदाधिकारी मौलाना तैयब हुसैन, मुफ़्ती सलीम, मोलाना मजीद सिंगारिया का कहना है कि अभी ये शुरूआत पुन्हाना ख्ंाड से की है। इसके बाद मेवात के फिरोजपुर झिरका, नूंह, तावडू, हथीन और राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और चंदीगढ में बेठक कर इन फैंसलों को लागू कराया जाऐगा।