Showing posts with label Education. Show all posts
Showing posts with label Education. Show all posts

Saturday, March 25, 2017

नियम क़ानून को ठेंगा दिखा अभिभावकों को दोनों हांथों से लूट रहे हैं लुटेरे प्राइवेट स्कूल वाले

नियम क़ानून को ठेंगा दिखा अभिभावकों को दोनों हांथों से लूट रहे हैं लुटेरे प्राइवेट स्कूल वाले

  फरीदाबाद 25 मार्च। सभी नियम कानूनों को धत्ता दिखाते हुए और षिक्षा विभाग व हुडा के नोटिसों को दरकिनार करते हुए जिले के निजी स्कूलों ने आगामी शिक्षा सत्र के लिए फीसों में काफी बढ़ोतरी की है। इसके अलावा अपने स्कूल के अंदर किताब, कापी, वर्दी आदि की दुकान खोलकर उसके माध्यम से अभिभावकों को किताब, कापी का सैट जबरदस्ती दिया जा रहा है। मंच का कहना है कि निजी स्कूलों में किताब, कापी की दुकान खोलना व सामान बेचना पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इसके बावजूद स्कूल प्रबंधक किताब-कापी के सैट बेच रहे हैं। इतना ही नहीं जो किताबें जरूरी नहीं हैं उनको भी कमीशन खाने के चक्कर में दे रहे हैं। नर्सरी के छात्रों को भी चार से पांच हजार रूपए लेकर किताबों के सैट दे रहे हैं। 

हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने इसके विरोध में रविवार को एनआईटी स्थित रोज गार्डन में सुबह 9 बजे अभिभावकों की बैठक बुलाई है। जिसमें डीएवी स्कूल सैक्टर-14 व 49, सेन्ट जोन्स, एमवीएन, मानव रचना, ए.पी.जे, मार्डन, आईषर, रैयान आदि स्कूलों की पेरैन्ट एसोसिएषन के पदाधिकारी भाग लेकर आगे रणनीति तैयार करेंगे। मंच की जिला कमेटी के अध्यक्ष एडवोकेट षिव कुमार जोषी, सचिव डा. मनोज षर्मा, डीएवी पेरैन्ट एसोसिएषन के हनी नरूला व नरेन्द्र मुन्जाल, सैन्ट जोन्स के बी एस विर्दी ने बताया कि चैयरमेन फीस एंड फंड रेगूलेटरी कमेटी व मंडल आयुक्त गुड़गांव ने जिले के 18 स्कूलों द्वारा पिछले 2 षिक्षा सत्रों में बढ़ाई गई फीस की वैधता की जांच के लिये एडीसी की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई जो स्कूलों के आय व्यय का आडिट व स्कूलों की मनमानी की जांच कर रही है। 

इसके अलावा संपदा अधिकारी हुडा ने हुडा के नियमों का उल्लंघन सही पाए जाने पर 8 स्कूलों का भूमि आंवटन रद््द किया है और 40 को नोटिस जारी किये हैं उसके बावजूद निजी स्कूल प्रबंधकों ने आगामी षिक्षा सत्र के लिये बिना पैरेन्ट््स एसोसिएषन की सहमती से ट््यूषन फीस व अन्य गैरकानूनी फंडों में भारी बढ़ोतरी कर दी है इससे अभिभावकों में काफी रोश है। अभिभावकों ने गेर कानूनी रूप से की गई इस फीस वृद्धि की षिकायत, जिला षिक्षा अधिकारी व मंच से की है। इसी को लेेकर मंच की जिला कमेटी व विभिन्न पेरैन्ट एसोसिएषन के पदाधिकारियों की एक आवष्यक बैठक रविवार को सुबह 10 बजे एनआईटी स्थित रोज गार्डन में बुलाई गई है। मंच ने सभी जागरूक अभिभावकों से अपील की है कि वे इस बैठक में भाग लेकर अपनी एकता का परिचय दे।

Tuesday, March 21, 2017

बोर्ड परीक्षाओं में जमकर नक़ल कर रहे हैं हरियाणा के छात्र

बोर्ड परीक्षाओं में जमकर नक़ल कर रहे हैं हरियाणा के छात्र

चंडीगढ़ 21 मार्च - हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी की सैकेण्डरी/सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय/रि-अपीयर) की परीक्षाओं के दौरान प्रदेशभर में अब तक 2898 अनुचित साधन प्रयोग के मामले दर्ज हुए हैं, जिनमें बोर्ड अध्यक्ष उडऩदस्ते द्वारा 44 केस, बोर्ड सचिव उडऩदस्ते द्वारा 38 केस, बोर्ड अध्यक्ष के विशेष उडऩदस्तों द्वारा 365 केस तथा बोर्ड सचिव के उडऩदस्तों द्वारा 148 केस बनाए गए।
बोर्ड के प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि 20 मार्च को आयोजित बोर्ड की सैकेण्डरी/सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक/मुक्त विद्यालय/रि-अपीयर) की परीक्षाओं में ड्यूटि से कौताही बरतने पर प्रदेशभर में 06 सुपरवाईजर को ड्यूटि से रिलीव कर दिया गया है, जिनमें से 03 सुपरवाईजर बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह के उडऩदस्ते द्वारा रिलीव किया गया है। 

    उन्होंने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष के उडऩदस्ते द्वारा ड्यूटि से कौताही बरतने पर सुपरवाईज़र श्री रमेश कुमार, जेबीटी, रा.प्रा.पा. बीरण को ओबरा-1 (भिवानी) परीक्षा केंद्र, सुपरवाईज़र श्री आनन्द कुमार, जेबीटी, रा.क.प्रा.पा. मंढौली कलां एवं सुपरवाईज़र श्री सुरेश कुमार, प्रवक्ता अर्थशास्त्र, रा.व.मा.वि. ओबरा को बहल-2 (भिवानी) परीक्षा केंद्र से रिलीव कर दिया गया है।
    उन्होंने बताया कि विभिन्न उडऩदस्तों द्वारा ड्यूटि से कौताही बरतने पर सुपरवाईज़र श्री खजान सिंह, ड्राईंग अध्यापक, रा.व.मा.वि. झाल एवं सुपरवाईज़र श्री सोमवीर, लिपिक, रा.व.मा.वि. नाहड़ को रा.व.मा.वि. नाहड़ परीक्षा केंद्र, सुपरवाईज़र श्री सोनू कुमार, प्रवक्ता, एम.एल.ए. व.मा.वि. रादौड़ (यमुनानगर) परीक्षा केंद्र से रिलीव कर दिया गया है। 
    उन्होंने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह व सचिव श्री अनिल नागर, एच.सी.एस. ने शिक्षकों से यह अपील की कि वे कत्र्तव्यपरायणता व ईमानदारी से परीक्षाओं का सुव्यवस्थित व नकल-रहित संचालन करवाएं। उन्होंने कहा कि परीक्षा व शिक्षा में सुधार लाने के कार्य में शिक्षक सतत् प्रयास करें और इस सारे तंत्र को पारदर्शी व गरिमापूर्ण बनाएं। 

Tuesday, March 7, 2017

चम्बल के कुछ डाकुओं ने खोल लिए हैं प्राइवेट स्कूल, लूट लेते हैं खरबों, सरकार देखती है तमाशा

चम्बल के कुछ डाकुओं ने खोल लिए हैं प्राइवेट स्कूल, लूट लेते हैं खरबों, सरकार देखती है तमाशा

नई दिल्ली 7 मार्च:  समय समय पर हम अपने  पाठकों को बताते रहते हैं कि अब चम्बल के बीहड़ में देश के खूंखार डकैत नहीं रहा करते, अब ये डकैत आलीशान महलों में रहते हैं कुछ ऑनलाइन ठगी करते हैं कुछ डकैतों ने स्कूल खोल लिए हैं शिक्षा के नाम पर महाठगी करते हैं । ये ठग समय समय पर बड़े नेताओं, अधिकारियों को माला वगैरा पहना देते हैं और उनकी शय पर जनता को लूटते रहते हैं । इन दिनों देश के प्राइवेट स्कूलों में नया शेड्यूल जारी होता है ये लुटेरे खरबों लूटेंगे, सरकार तमाशा देखेगी जैसा हमेशा देखती आ रही है । एक समय होता था कुछ किताबें होतीं थीं और एक एक किताब से परिवार के कई लोग पढ़ते थे । जब किसी गरीब के पास किताबें खरीदनें का पैसा नहीं होता था तो वो किसी से पुरानी किताबें या तो मांग लेते थे या आधे दाम पर खरीद लेते थे लेकिन अब ऐसा नहीं होता  किताबें ही बदल दी जातीं हैं ताकि हर छात्र नई किताबें खरीदने पर मजबूर हो ।

 अब पहले स्कूलों में नए दाखिले के नाम पर अभिभावकों को लूटा जायेगा फिर उन्हें एक जगह पर किताबें कापियां खरीदने भेजा जाएगा जहां प्राइवेट स्कूलों की लगभग पचास फीसदी कमीशन बंधा होता है वहाँ भी अविभावक लुटेंगे, वहाँ ड्रेस के नाम पर लूटा जाएगा । पूरे देश में यही हाल है, प्राइवेट स्कूल मालिक जमकर लूट रहे हैं, सरकारी स्कूलों को जानबूझकर सरकार उचित सुविधाएँ नहीं देती ताकि उन्हें माला पहनाने वाले कंगाल न हों और लूटते रहें । पूरे देश में कुकुरमुत्ते की तरह गली-गली में प्राइवेट स्कूल खुल गए हैं । हरियाणा में भी यही हाल है, ये लुटेरे पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश नहीं मानते हैं । अब कुछ संस्थाएं इन लुटेरों का विरोध करती भी दिखेंगी लेकिन लूट शायद ही रुके । दोस्तों हर कोई अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाना चाहता है इसके लिए उसे एक समय का भोजन छोड़ना पड़े तो छोड़ देता है । इन लुटेरों पर कौन लगाम लगाएगा कोई पता नहीं । 

Thursday, January 19, 2017

 निजी तकनीकी संस्थानों में शिक्षा प्राप्त करने वाले गरीब छात्रों की 50% फीस सरकार देगी, खट्टर

निजी तकनीकी संस्थानों में शिक्षा प्राप्त करने वाले गरीब छात्रों की 50% फीस सरकार देगी, खट्टर

चण्डीगढ, 19 जनवरी- हरियाणा में तकनीकी शिक्षा को प्रोत्साहित करने और इनके पाठयक्रमों को उद्योगों की मांग के समतुल्य बनाने के लिए राज्य सरकार ने प्रदेश में स्थापित किए जा रहे नए बहुतकनीकी संस्थानों को अग्रणी औद्योगिक घरानों के सहयोग से सार्वजनिक निजी भागीदारी विधि में संचालित करने का निर्णय लिया है। इससे विद्यार्थियों को उद्योगों की आवश्कतानुसार शिक्षित करना और उन्हें शतप्रतिशत रोजगार मिलना सुनिश्चित होगा। 

इसके अतिरिक्त, अपनी पसंद के निजी तकनीकी संस्थानों में शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक मेधावी गरीब विद्यार्थियों के लिए एक नई योजना भी तैयार की जा रही है। इसके तहत राज्य सरकार द्वारा 50 प्रतिशत फीस की प्रतिपूर्ति की जाएगी जबकि शेष राशि संस्थान द्वारा अपने निगमित सामाजिक दायित्व के तौर पर दी जाएगी। 

मुख्यमंत्री श्री मनोहर  लाल की अध्यक्षता में आज यहां हुई तकनीकी शिक्षा विभाग की एक बैठक में ऐसे अनेक निर्णय लिए गए। बैठक में तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नए बहुतकनीकी संस्थानों के लिए आवश्यकतानुसार पर्याप्त स्टाफ भी स्वीकृत किया जाएगा। 
श्री मनोहर लाल ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रतिष्ठिïत औद्योगिक घरानों को समितियां बनाकर इन बहुतकनीकी संस्थानों को संचालित करने के लिए आमंत्रित किया जाए। उन्होंने कहा कि जहां राज्य सरकार इन संस्थानों के लिए आधारभूत संरचना एवं भवन उपलब्ध करवाएगी वहीं इनका संचालन इन समितियों द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि समिति का अध्यक्ष औद्योगिक घराने से होगा और पंचायती राज संस्थाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए संबंधित जिला परिषदों के प्रधानों को इनका सदस्य बनाया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा इन बहुतकनीकी संस्थानों को आवश्यकतानुसार सहायतानुदान भी उपलब्ध करवाया जाएगा। 
राज्य में 13 नए बहुतकनीकी संस्थान निर्माणाधीन हैं जिनमें से छ: को राज्य सरकार द्वारा और शेष सात को ऐसी समितियों द्वारा संचालित किया जाएगा। समितियों द्वारा संचालित किए जाने वाले इन सात बहुतकनीकी संस्थानों में राजकीय बहुतकनीकी इन्द्री एवं राजकीय बहुतकनीकी मलाब(नूह), राजकीय बहुतकनीकी मंडकौला जिला पलवल, राजकीय बहुतकनीकी झप्पड़ जिला भिवानी, राजकीय बहुतकनीकी नानकपुर जिला पंचकूला, राजकीय बहुतकनीकी धामलावास जिला रेवाड़ी और राजकीय बहुतकनीकी सैक्टर-26 पंचकूला शामिल हैं। 

मुख्यमंत्री ने विभाग को अपनी पसंद के निजी तकनीकी संस्थानों में शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक मेधावी विद्यार्थियों के लिए एक नई योजना तैयार करने के भी निर्देश दिए। अधिकारियों को निजी तकनीकी संस्थानों में दाखिले के लिए सरकार द्वारा सुविधा प्रदान करने के लिए ऐसे विद्यार्थियों की संख्या निर्धारित करने के मानदंड भी तैयार करने को कहा गया। जहां राज्य सरकार द्वारा 50 प्रतिशत फीस की प्रतिपूर्ति की जाएगी वहीं शेष राशि निजी संस्थानों द्वारा अपने निगमित सामाजिक दायित्व के तौर पर दी जाएगी। 
प्रदेश में 28 राजकीय बहुतकनीकी संस्थान संचालित हैं तथा 10 नए बहुतकनीकी संस्थान निर्माणाधीन हैं। इसके अतिरिक्त, चार सरकारी सहायता प्राप्त बहुतकनीकी संस्थान हैं और दो नए राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज स्थापित किए जा रहे हैं। इनमें चौधरी रणबीर सिंह राज्य इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, सिलानी केशो, जिला झज्जर और राव बीरेन्द्र सिंह राज्य इंजीनियरिंग एवं प्रौद्योगिकी संस्थान, जैनाबाद, जिला रेवाड़ी शामिल हैं। 
बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी.राघवेन्द्रा राव, तकनीकी शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री अनिल मलिक तथा राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठï अधिकारी भी उपस्थित थे।

Monday, November 21, 2016

मोदी जी बहुत लूटते हैं प्राइवेट स्कूल और प्राइवेट अस्पताल वाले, इनपर करो सर्जिकल स्ट्राइक

मोदी जी बहुत लूटते हैं प्राइवेट स्कूल और प्राइवेट अस्पताल वाले, इनपर करो सर्जिकल स्ट्राइक

Modi School

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद भी देश के कई निजी स्कूलों ने फीस के नाम पर पुराने का नोट लिया कुछ अब भी ले रहे हैं । देश की अधिकतर जनता इन स्कूलों की लूट से दुखी है सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री निजी स्कूलों और निजी अस्पतालों द्वारा की जा रही लूट पर लगाम लगाएं । 

देश के निजी स्कूलों की बाद करें तो पिछले दस सालों में एक कमरे में स्कूल चलाने वाले आज हजारों गज में फैले फाइव स्टार स्कूल के मालिक हैं मोटी फीस लेकर  बड़ी बड़ी बिल्डिंगे बना चुके हैं । यही हालत निजी अस्पताल संचालकों की भी है उन्होंने भी दस पंद्रह सालों में काफी माल बटोर लिया, एक क्लीनिक से कई कई बड़ी फाइव स्टार अस्पतालों के मालिक बन बैठे ।

 ऐसी अस्पतालों में खांसी जुकाम का बिल भी लाखों में आता है,  चार दिन दाखिल किये बिना ये खांसी जुकाम ठीक नहीं कर पाते । कोई गरीब अगर बीमार हो जाए और इन अस्पतालों में पहुँच जाए तो उसे घर जमीन तक बेंचना पड़ जाता है ।  निजी स्कूलों की बात करें तो ये स्कूल अविभावकों को चारों तरफ से लूटते हैं । देश में शिक्षा पूरी तरह से बाजारू हो चुकी है । सोशल मीडिया पर लोग कह रहे हैं कि मोदी जी अगली सर्जिकल स्ट्राइक इन लुटेरों के खिलाफ करो, इनकी लूट खसोट बंद करवाओ । 

Friday, October 14, 2016

क्या ऐसे शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाएगी हरियाणा सरकार, कबाड़ी को बेंच देते है उत्तर पुस्तिकाएं

क्या ऐसे शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाएगी हरियाणा सरकार, कबाड़ी को बेंच देते है उत्तर पुस्तिकाएं


Chandigarh 14 October 2016:  हरियाणा सरकार शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए भले ही लाख दावे करें लेकिन शिक्षा देने वाले शिक्षक ही जब उनके इस दावों की पोल खोलने में लग जाए तो भला कैसे हरियाणा शिक्षा के क्षेत्र में नंबर वन बन पाएगा कुछ ऐसा ही नजारा फरीदाबाद के गोछी स्थित सरकारी स्कूल में देखने को मिला जहां हाल ही में हुए बच्चों के एग्जाम की आंसर शीट रद्दी में फेंक दी गई |


 
तस्वीरों में दिखाई दे रहा है यह नजारा फरीदाबाद  जिले के गांव गोछी में बने सरकारी स्कूल का है जहां पर नौवीं क्लास के हाल ही में हुए एग्जाम की आंसर शीट रद्दी में बेचने के लिए स्कूल प्रशासन ने  फेंक रक्खे है अब भला मास्टर जी से कोई यह पूछो यदि किसी बच्चे ने अपने पेपरों की रि चेकिंग करवानी हो तो क्या वह किसी कबाड़ी के पास जाकर के अपनी आंसर शीट लेकर आएगा इस पूरे मामले को लेकर जब स्कूल में कार्यरत एक अध्यापक से बात की गई उनका साफ तौर से कहना था यह सभी पेपर रद्दी में बेचने के लिए निकाले हुए हैं और गलती से इस साल के भी पेपर निकाल दिए गए अब भला मास्टरजी को कैसे समझाएं कि जिस बात को वह अपनी गलती बता रहे हैं वह उन छात्रों की पूरे 1 साल की मेहनत है जो वह पूरे साल दिन रात एक कर देते हैं अपने शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए लेकिन कुछ ऐसे लापरवाह मास्टरों की वजह से हरियाणा में शिक्षा का स्तर लगातार गिरता जा रहा है |


Friday, July 29, 2016

हरियाणा में शीघ्र ही पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए एक अलग से विभाग स्थापित किया जाएगा

हरियाणा में शीघ्र ही पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए एक अलग से विभाग स्थापित किया जाएगा


चण्डीगढ़, - हरियाणा में शीघ्र ही पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए एक अलग से विभाग स्थापित किया जाएगा।
    यह जानकारी आज यहां हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने ट्वीटर पर लोगों से बातचीत के दौरान दी।
    हरियाणा तेजी से डिजिटल दुनिया से जुड़ता जा रहा है और आज यहां हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने ट्वीटर पर लोगों द्वारा पूछे गये प्रश्रों का जवाब ट्वीटर के माध्यम से ऑनलाइन दिया। डिजिटल हरियाणा को हरियाणा सरकार द्वारा चलाया जा रहा है, जिसका आज एक विशेष उदाहरण छोटे से कस्बे कलायत में देखने को मिला, जहां से ट्वीटर हैंडलर्स द्वारा सीधे मुख्यमंत्री से संवाद किया जा रहा था। 
    ट्वीटर पर फरीदाबाद के सैक्टर 19 स्थित एक निजी स्कूल द्वारा पिछले दो वर्ष से 100 प्रतिशत से अधिक बढ़ाई जा रही फीस की शिकायत पर तुरंत कार्यवाही करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि इस मामले पर वे मण्डलायुक्त डा० डी सुरेश से बातचीत करेंगे। उन्होंने शिकायतकर्ता को बताया कि वे उनके मोबाइल नम्बर 9717263333 पर सम्पर्क करें। उन्होंने बताया कि सरकार ऐसी बढ़ी हुई फीस के लिए नियमों में संशोधन करने पर विचार कर रही है।
    हांसी-महम-रोहतक रेलवे लाइन पर कार्य शुरू होने के सम्बन्ध में ट्वीटर पर जवाब देते हुए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने बताया कि इस परियोजना के लिए पिछली सरकार ने यह भ्रामकता की कि उन्होंने राशि का भुगतान कर दिया था, परंतु यह सही नहीं है। अब हमने 300 करोड़ रुपये की अदायगी की और जल्द ही भूमि का अधिग्रहण का कार्य भी शुरू किया जाएगा। कुरुक्षेत्र युनिवर्सिटी के स्तर कम करने के सम्बन्ध में किए गये ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने बताया कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक मापदण्डों की वृद्धि के लिए एक कमेटी का गठन किया जा चुका है, जिसकी रिपोर्ट तीन से चार माह में आने की सम्भावना है।
    ट्वीटर पर गुडग़ांव में स्मार्ट ग्रिड परियोजना की शुरूआत के सम्बन्ध में उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बताया कि पहला चरण एक वर्ष में पूर्ण होगा। उन्होंने बताया कि उन्होंने दिशानिर्देश जारी किए हैं कि दूसरे चरण की अवधि जो तीन वर्ष है, उसे दो वर्ष किया जाए। कलायत में इनडोर खेल स्टेडियम की स्थापना के प्रस्ताव के सम्बन्ध में पूछे गये एक ट्वीट पर उन्होंने बताया कि उनके पास अब यह मांग आई है और आगामी 13 अगस्त को कलायत दौरे के दौरान इस बारे में कुछ कहा जा सकता है।
    पिछले दो वर्षों में किसानों को दिए गये मुआवजे के सम्बन्ध में श्री मनोहर लाल ने ट्वीट किया कि 2300 करोड़ रुपये से अधिक की रािश किसानों को मुआवजे के तौर पर दी गई है, जो वर्ष 1966 से अब तक की सभी सरकारों द्वारा दिए गये मुआवजे से दो-गुणा से भी ज्यादा है। ट्वीटर पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि विभिन्न पदों के  लिए 3235 नियुक्ति पत्र जारी किए गये हैं। इसके अतिरिक्त, हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने शिक्षा विभाग के 9000 पदों व अन्य विभागों के 7000 पदों के लिए लिखित परीक्षा की घोषणा पहले ही कर रखी है। उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग में 5000 सिपाही पदों के लिए तीन लाख से अधिक उम्मीदवारों की शारीरिक परीक्षा पूर्ण कर ली गई है। 
एक अन्य ट्वीट में हरियाणा राज्य जिससे दूध दही के नाम से जाना जाता है, स्वदेशी गायों और भैंसों की वृद्धि के लिए कितनी गम्भीर है, पर मुख्यमंत्री ने उत्तर देते हुए बताया कि आप क्योंं नहीं हमारे राजनैतिक विरोधियों से यह पूछते, जो अक्सर इस मुद्दे पर हमारी गम्भीरता के लिए आरोप लगाते हैं। 
राज्य में बेटी बचाओ बेटी पढाओ कार्यक्रम की सफलता के सम्बन्ध में किए गये एक अन्य ट्वीट पर मुख्यमंत्री ने गर्व से कहा कि हमारी इस उपलब्धि पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी गौरवान्वित हुए हैं। एक अन्य ट्वीट पर जवाब देते हुए उन्होंने बताया कि जिला परिषद, नगरपालिका, नगर परिषद और नगरनिगम व ब्लाक समिति के सदस्यों, सरपंच व पंचों के चयन की औसत आयु 34 वर्ष है। 
एक अन्य ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने बताया कि गुडग़ांव की तरह राज्य के अन्य शहरों जैसेकि फरीदाबाद और पंचकूला में आईटी कम्पनियां भी आ रही है। इन कम्पनियों के आने से युवाओं को अधिक से रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

Thursday, July 28, 2016

दो सालों से लगा भ्रष्टाचार पर अंकुश, रामबिलास शर्मा

दो सालों से लगा भ्रष्टाचार पर अंकुश, रामबिलास शर्मा

 कुरूक्षेत्र 28 जुलाई  Rakesh Sharma: हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि देश व प्रदेश में लिंगानुपात में असमानता का होना हिन्दुस्तान की जनता का निर्णय नही बल्कि यह पडोसी देशो का एक वायरस है जो हिन्दुस्तान को भी तंग कर रहा है। अब देश के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयासो से लिंगानुपात में काफी बढोतरी हुई है। प्रदेश में अब लिंगानुपात 834 से बढकर 905 तक पहुंच गया है। 

> शिक्षा मंत्री वीरवार को कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय के श्री मद्भगवद् गीता सदन में फैन्स द्वारा नशा, भू्रण हत्या, बेरोजगारी विषय पर आयोजित संगोष्ठी में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। उन्होने कहा कि वर्तमान केन्द्र व राज्य की सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर है। देश की सेना सरहद पर मुस्तैदी से काम कर रही है देश को किसी भी प्रकार का बाहरी खतरा नही है। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में लडका व लडकी के भारी अंतर के कारण समाज में असंतुलन का माहौल बनता जा रहा था। जब देश व प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी तो देश के प्रधानमंत्री ने सबसे पहले लिंगानुपात मेें हो रहे असमानता की चिंता जताई । इसके लिए उन्होने 22 जून 2014 को पानीपत की ऐतिहासिक भूमि से बेटी बचाओ-बेटी पढाओ का आगाज किया और प्रधानमंत्री के इस आगाज को प्रदेश के लोगों ने हाथो-हाथ लेकर लिंगानुपात में सुधार करने का प्रयास किया। प्रदेश में लिंगानुपात की समानता के लिए समाज के आम आदमी के साथ-साथ स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग का अहम योगदान रहा। परिणास्वरूप आज प्रदेश में लिंगानुपात 905 तक पहुंच गया है। इस सफलता के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का इस कार्य के लिए विदेशो में भी सहराना की। उन्होनें कहा कि बेटी को पढाना हमारी सस्ंकृति है परंतु कुछ विदेशी वायरसो के वजह से हमारे लोगों में यह प्रथा आ गइ्र्र थी। अब हिन्दुस्तान के लोग बेटी को गर्भ में नही मारेगें बल्कि बेटी को पैदा करके उसको शिक्षित करेगें और बेटी समाज का सम्मान बढाएगी। 
> राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य इन्दे्रश ने कहा कि हमें अपनी संस्कृति को बचाने के लिए अंदर की गंदगी को साफ करना होगा। अंदर की गंदगी से नशा, तलाक, घरेलू हिंसा, अपराध,खून-खराबा, जाति दंगे,बेरोजगारी व भ्रष्टाचार फैलता है। जब अंदर की गंदगी साफ होगी तो मनुष्य विनाश छोडकर विकास की ओर जाएगा। अंदर की गंदगी को साफ करने के लिए जाति, धर्म, सम्प्रदाय, छुआछात से ऊपर उठकर काम करना होगा। तभी हम गद्दारो को सबक सिखा सकते है। उन्होनें कहा कि समाज में फैली कुरितियों पर विशेष ध्यान देना होगा, देश में पर्यावरण को बढावा देना होगा, अपने आस-पास को स्वच्छ बनाकर वातावरण को स्वच्छ बनाना होगा। उन्होनें कहा कि हमारे देश में आजादी के बाद कुछ ही समय उन्नति का रहा जब देश में एनडीए की सरकार थी। उसके बाद की सरकार में तो हर दिन लाखो करोडों के घोटालो की चर्चाए सुनी जाती थी। पिछले दो साल से देश में नए युग का सूत्र-पात हुआ है। देश में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। देश की उन्नति के लिए सभी को मिलकर चलना होगा। गरीब, दलित व पिछडो की सेवा करनी होगी।  
> उन्होंने कहा कि पडोसी देशो का सामना करनेे के लिए हमें सजग रहने की जरूरत है जो पाकिस्तान अपने देश के लोगों को न्याय मागनें पर मौत देता है तो पाकिस्तान भारत में भी अशंाति का माहौल बनाना चाहता है। उन्होनें कहा कि पाकिस्तान में 40 लाख ऐसे व्यक्ति है जिनके पास सिर ढकने के लिए कुछ भी नही है। उन्होनें कहा कि हमें कुरूक्षेत्र की धरती पर स्वच्छता, भू्रण हत्या न करवाना, नशा मुक्त बनाने का संकल्प लेना होगा। उन्होनें कहा कि अंदर की गंदगी धोने के लिए रक्षा बंधन के दिन 17 अगस्त को दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में विभिन्न धार्मिक संस्थाओं द्वारा विशेष कार्याक्रम का आयोजन किया जाएगा। जिसमें नैतिक मुल्यों पर विचार करके अंदर की गंदगी को साफ करने का प्रयास किया जाएगा। स्वामी महामण्डलेश्वर यतिन्द्रा नन्द गिरी ने कहा कि जीवन में आंतरिक शुद्धता धर्म से जुडकर ही संभव हो सकती है। धर्म में कोई राजनिति नही होती, राजनिति में धर्म हो सकता है। उन्होनें कहा कि भारत दर्शन में कही भी जातिसूचक शब्द का उल्लेख नही है। लोगों को जाति-धर्म से ऊपर उठकर काम करना चाहिए। उन्होनें कहा कि युवा पीढी को नशे से दूर रखे, पडोसी देश भारत की युवा पीढी को नशे की ओर धकेल कर भारत को कमजोर करना चाहते है। मुख्य संसदीय सचिव डा. कमल गुप्ता ने कहा कि देश में लिंगानुपात में समानता का होना सबसे बडी उपलब्धि है। इस उपलब्धि का श्रेय देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जाता है। उचाना की विधायक प्रेम लता ने कहा कि बेटा-बेटी के अंतर को समझने के लिए मानसकिता बदलने की जरूरत है । हर महिला को चाहिए कि वह संकल्प ले कि पेट में पलने वाले हर बच्चे को जन्म देना है तो लिंगानुपात की समस्या खत्म हो जाएगी। उन्होनें कहा कि शिक्षा की कमजोरी के कारण देश व प्रदेश में बेरोजगारी बढी है। परन्तु प्रधानमंत्री की कौशल योजना के तहत लोगो को अधिक से अधिक रोजगार से जोडा जा रहा है। संगोष्ठी के संयोजक रीता गोयल व डा. पवन गोयल ने आये हुए अतिथियों को पौधे व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। रीता गोयल ने कार्यक्रम में देश भक्ति गीत प्रस्तुत किया। 
> इस अवसर पर हरियाणा पुलिस महानिदेशक केपी सिंह, उपायुक्त राज नरायाण कौशिक, आईजी करनाल रेंज सुभाष यादव, पुलिस अधिक्षक समरदीप सिंह,स्वामी चिरनजीवी जी महाराज, ऐयर मार्शल डा. आरपी वाजपेयी, फैन्स के कार्यकारी अध्यक्ष राजपाल सिंह, फैन्स की राष्ट्रीय संयोजक रेशमा सिंह व दीन बन्धू छोटू राम, विज्ञान प्रोद्योगिक विश्वविद्यालय के मुरथल के रजिस्ट्रार केपी सिंह, पुलिस अधिकारी डा. सुमन मजरी,पूर्व मंत्री एमएल रंगा, पूर्व रजिस्ट्रार हवा सिंह सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Wednesday, July 27, 2016

सरकारी स्कूलों के छात्रों को अब रोज दूध पिलाएगी हरियाणा सरकार

सरकारी स्कूलों के छात्रों को अब रोज दूध पिलाएगी हरियाणा सरकार

चंडीगढ़, 27 जुलाई- हरियाणा के सहकारिता, लेखन एवं मुद्रण तथा शहरी स्थानीय निकाय राज्यमंत्री श्री मनीष कुमार ग्रोवर ने कहा कि राज्य के सरकारी स्कूलों में पहली कक्षा से आठवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए एक नंवबर 2016 से ‘स्वर्ण जयंति बाल दूध योजना’ शुरू की जाएगी। मुख्यमंत्री ने इसकी स्वीकृति दे दी है। 
   श्री ग्रोवर ने आज अपना कार्यभार संभालने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि हरियाणा के सहकारिता विभाग द्वारा सिरसा तथा जींद के मिल्क प्लांटों में दूध का पाऊडर तैयार किया जाएगा और इसके बाद राज्य के सभी सरकारी स्कूलों को सप्लाई किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मिड-डे मिल के साथ ही एक नवंबर से स्कूली बच्चों को 200 मिलीलीटर प्रति बच्चा के हिसाब से दूध दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह दूध भी बच्चों की रूचि को ध्यान में रखकर चॉकलेट, वनीला आदि अलग-अलग फलेवरों में तैयार किया जाएगा। 
     सहकारिता मंत्री ने बताया कि आज भी राज्य के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले कई ऐसे गरीब बच्चे हैं जिनको घर पर दूध नहीं मिलता है,इसी बात को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने स्कूली बच्चों को पोषक आहार देने के उद्देश्य से ‘स्वर्ण जयंति बाल दूध योजना’ शुरू करने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि सरकार की इस योजना से बच्चों में पोषक तत्वों की पूर्ति होगी वहीं स्कूलों में इससे संख्या भी बढऩे की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि स्कूली बच्चों को 200 मिलीलीटर प्रति बच्चा के हिसाब से दूध देने वाला हरियाणा एकमात्र राज्य है। 
20 % सीटें नहीं बढ़ाई गई तो जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन करेगी कांग्रेस : अशोक तंवर

20 % सीटें नहीं बढ़ाई गई तो जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन करेगी कांग्रेस : अशोक तंवर


चंडीगढ़, 27 जुलाई। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद डॉ. अशोक तंवर ने राज्य सरकार को चेतावनी दी है कि अगर कॉलेजों में विद्यार्थियों के प्रवेश के लिए 20 फीसदी सीटें नहीं बढ़ाई गई तो प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस पार्टी प्रदर्शन करेगी और कॉलेजों के गेट पर धरने दिए जाएंगे। यहां जारी एक बयान में डॉ. तंवर ने कहा कि शिक्षामंत्री ने प्रदेश के तमाम कॉलेजों में 20 फीसदी सीटें बढ़ाने का आश्वासन दिया था मगर अभी तक सरकार की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसी वजह से छात्र-छात्राओं को परेशानी और तनाव झेलना पड़ रहा है। 
             अशोक तंवर ने कहा कि एक तरफ सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के नारे लगाती नहीं अघाती और दूसरी तरफ बेटियों को शिक्षा से विमुख और वंचित किया जा रहा है। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि सीटों के अभाव में किसी विद्यार्थी को प्रवेश नहीं मिला हो। उन्होंने कहा कि पढऩे-लिखने की उम्र में जब विद्यार्थियों को अपने अधिकार के लिए धरने प्रदर्शन करने पड़ें तो ऐसी सरकार को पद पर बने रहने का कोई नैतिक हक नहीं रह जाता। पूरे प्रदेश में विद्यार्थी शिक्षा के मौलिक अधिकार के लिए संघर्ष कर रहे हैं। शिक्षा सभी का संवैधानिक अधिकार है और विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था करना सरकार की जिम्मेदारी है। सरकार अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है मगर कांग्रेस पार्टी उसे ऐसा नहीं करने देगी। 
               प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. तंवर ने कहा कि सरकार गुमराह करने वाले बयान दे रही है। हालात ये हैं कि स्कूल-कॉलेजों में पर्याप्त स्टाफ नहीं है और उससे विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित हो रही है। सरकार कहती है कि 20 हजार नए शिक्षक भर्ती किए जाएंगे मगर दूसरी ओर जेबीटी शिक्षक नियुक्ति पत्रों की मांग को लेकर आंदोलन को मजबूर हैं। सत्ता में आने से पहले बीजेपी ने बेरोजगारों को रोजगार देने की बात कही थी मगर आज वही सरकार बेरोजगारों की फौज बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के हाथ से सिस्टम निकल चुका है। प्रदेश में अराजकता का माहौल है। छात्राओं के साथ छेड़छाड़, रेप जैसे जघन्य अपराध हो रहे हैं वहीं दलितों का उत्पीडऩ बढ़ा है। सरकारी दफ्तरोंं में भ्रष्टाचार के किस्से आम हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने राजधर्म नहीं निभाया तो कांग्रेस पार्टी पूरी एकजुटता से लोगों के साथ खड़ी होगी और सरकार को मनमानी नहीं करने देगी। 
Adult Romantic Comedy film,‘Love Ke Funday’ to release in 600 theatres on 29th July

Adult Romantic Comedy film,‘Love Ke Funday’ to release in 600 theatres on 29th July

Love Ke Funday made under the banner of FRV Big Entertainment Private Limited by producers Faaiz Anwar and Prem Prakash Gupta with Indervesh Yogee as the writer-director is a romcom which has Prakash Prabhakar and Farzan Faaiz as the music directors.The film is slated for release on 29th July, 2016. The film has been certified for Adults only by the Central Board of Film Certification and will be released in around 600 theatres. The shooting of the film was held in Goa, Mumbai and Kashmir. The promotion of the film also has been done on a gigantic scale. The film stars young and talented new faces like Shaleen Banot,Rishank Tiwari, Ritika Gulati, Sufi Gulati, Harshvardhan Joshi, Samiksha Bhatnagar, Rahul Suri, Pooja Bannerjee.
                         There are four heroes and heroines in the film Love Ke Funday in the lead roles and the film revolves around all the four couples.  Manan (Rishank Tiwari) and Jassi ( Samiksha Bhatnagar) are a married couple, Nikhil (Harshvardhan Joshi ) and Riya (Sufi Gulati) are in a live in relationship,  and two are a pair of bachelor friends. They are Aryan (Shaleen Banot) and Sona (Pooja Bannerjee) and Sandy (Rahul Puri) and Annu (Ritika Gulati), who keep on changing their partners. The entire film is based on youth-oriented content.
                 Today most of the youth stumble upon love through Whatsapp, Face Book and chatting and what they ’feel’  is love is nothing but lust through physical attraction. The college going guys keep on changing their girl friends and what’s more they also have break up parties unabashedly. It is what constitutes love for most of them though there are some who actually fall in love. Love Ke Funday shows all these and more. College students will identify themselves with each character in the film. It’s all about how everyone’s life gets messed up because all their ways are connected somewhere, and then how they realized difference between affection, attraction and real love. Finally it’s all about who finds true love and whose relationship takes up a new turn.
                Manjunath N. and Manohar Iyer are the co-producers of the film Love ke Funday. The associate producers are Aashni Krishna, Sundeep K Goyal and Jasbir Singh while Shree Shankar is the cinematographer of the film. Meraj Ali is the Editor and Rahul Vichare is the art director. Aslam Keyi has done the background music while Sujit Kumar is the choreographer.Buniyad Ahmed is the Executive Producer while Atit Jaidev is the Creative Director who has also handled post production. Naushad Shaikh and Abhishek Sharma are the production managers of the film.

Monday, July 25, 2016

फरीदाबाद जल्द प्राप्त करेगा और खोया हुआ गौरव, राजेश नागर

फरीदाबाद जल्द प्राप्त करेगा और खोया हुआ गौरव, राजेश नागर

Faridabad: गांव कबूलपुर स्थित एशलॉन  इंस्टीच्यूट में ‘स्किल इंडिया’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में वरिष्ठ भाजपा नेता राजेश नागर ने शिरकत की। इस मौके पर अपने संबोधन में राजेश नागर ने कहा कि आज देश के प्रधानमंत्री स्किल इंडिया के माध्मय से भारत को विश्व के शिखर पर पहुंचाने के लिए प्रयासरत है और  एशलॉन जैसे इंस्टीच्यूट उनके इस कार्य को पूरा करने के लिए अपना सहयोग कर रहे है। उन्होंने कहा कि आज आधुनिकता का दौर है और हम सभी को कंप्यूटराईज्ड होने के साथ-साथ आधुनिक तकनीक का ज्ञान होना आवश्यक है इसलिए ऐसे शिक्षण संस्थानों के माध्यम से बच्चों को सशक्त बनाया जा रहा है। 
श्री नागर ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की दूरगामी सोच के चलते हरियाणा प्रदेश शिक्षा का हब बन उभर रहा है और सरकार की बेहतर नीतियों का ही परिणाम है कि आज बच्चों को शिक्षित करने के लिए हरस्तर पर प्रयास किए जा रहे है। श्री नागर ने विपुल गोयल के कैबिनेट मंत्री बनने पर मुख्यमंत्री श्री खट्टर व केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का आभार जताते हुए कहा कि उनके मंत्री बनने से फरीदाबाद जिले के विकास को तीव्र गति मिलेगी और औद्योगिक जिला फरीदाबाद अपना पुराना खोया गौरव हासिल करेगा।
 कार्यक्रम में तिगांव क्षेत्र के विभिन्न गांवों में कंप्यूटर व अन्य प्रकार के कोर्साे की ट्रेनिंग लेने वाले करीब 250 छात्र-छात्राओं को सर्टिफिकेट वितरित किए गए। इससे पूर्व कार्यक्रम में पहुंचने पर इंस्टीच्यूट के चेयरमैन प्रभात अग्रवाल ने राजेश नागर का फूल मालाओं से स्वागत करते हुए कहा कि  एशलॉन इंस्टीच्यूट का उद्देश्य जरूरतमंद होनहार बच्चों को शिक्षित करने का है और इसी कड़ी में इंस्टीच्यूट जिले के 84 गांवों, फरीदाबाद नगर निगम के 34 वार्डाे तथा दिल्ली की 70 विधानसभाओं से एक-एक होनहार बच्चों को चुनकर उन्हें निशुल्क शिक्षा देगी ताकि भविष्य में वह बेहतर शिक्षा हासिल करके कामयाब हो सके। उन्होंने कहा कि उनका इंस्टीच्यूट नो प्रॉफिट एवं लॉस के तहत कार्य करते हुए फरीदाबाद जिले में शिक्षा की अलख जगाने के लिए प्रयासरत है। इस अवसर पर बीएम शर्मा, मोतीलाल गुप्ता, सुरजीत अधाना, वेदपाल सरपंच अमीपुर, दयाचंद शर्मा, मास्टर राममूर्ति, एसएस गोसांई, डीके चुघ, अनिल गुप्ता, राकेश गुप्ता, राजन भाटिया, सोनिया भाटिया, दयाचंद यादव, राव रामकुमार, कमल यादव गांव के पंच सरपंच मौजूद थे।